scriptRecovery of extortion in buses plying on different routes | अलग-अलग रूट से चलने वाली बसों में रंगदारी की हो रही वसूली | Patrika News

अलग-अलग रूट से चलने वाली बसों में रंगदारी की हो रही वसूली

locationरायगढ़Published: Oct 07, 2022 08:51:48 pm

Submitted by:

CHITRANJAN PRASAD

अपराधिक तत्वों पर रोक लगाने पुलिस भी बौना हो रही साबित
0 जाम से बचने बस चालक जंगल के रास्ते निकल रहे

raigarh
अलग-अलग रूट से चलने वाली बसों में रंगदारी की हो रही वसूली
रायगढ़. खराब सडक़ और जाम से बचने के लिए यात्री बसें इन दिनों जंगल के रास्ते अपने गंतब्य तक जा रही है, जिससे उनको समय तो अधिक लगता ही है, साथ ही कई बार लूटपाट का भी सामना करना पड़ता है। इसके बाद भी इन आरोपियों तक पुलिस नहीं पहुंच पा रही है। वहीं गुरुवार को रात में असमाजिक तत्वों ने हथियार से लैस होकर जंगल के बीच में बस को रोककर रुपए की मांग करने लगे, जिससे यात्रियों में हडक़ंप की स्थिति बन कई थी, लेकिन कुछ यात्रियों द्वारा हिम्मत दिखाने के बाद वहां से आरोपी वहां से भाग निकले। ऐसे में अब बस से यात्रा करने वाले यात्री अब खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं।
गौरतलब हो कि जिले की जर्जर सडक़े होने के कारण जाम से बचने के लिए इन दिनों बस चालक अलग-अलग रुट से अपने गंतब्य तक जा रहे हैं। जिससे इनको कई तरह की परेशानियों से जुझना पड़ रहा है। जिसके चलते जहां पहले रायगढ़ से २०० से २५० बसें चलती थी, वहीं अब इनकी संख्या घट कर ७० से ८० हो गई है। जिससे यात्रियों को भी काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इसी तारतम्य में गुरुवार को अंबिकापुर से रायगढ़ आने वाली ५६ सीटर दुर्गा बस शमा को ४.३० बजे धरमजयगढ़ पहुंची, जहां बस यात्रियों से खचा-खचा भरी हुई थी। जिससे इस दौरान बस चालक किसी तरह जाम से बचते हुए जामपाली माइंस के पास पहुंची तो वहां भी लंबा जाम लगा था, जिससे करीब घंटाभर बाद वहां से निकली, इसके बाद कुडुमकेला होते हुए घरघोड़ा पहुंची इस दौरान बस चालक को सूचना मिली कि आगे भी लंबा जाम लगा हुआ है, जिससे चालक ने घरघोड़ा से बस को तमनार रोड में मोड़ दिया और इस मार्ग से रायगढ़ आने के लिए निकला था, जिससे रात करीब ९.२६ बजे तमनार और चक्रधरनगर थाना क्षेत्र के बीच पालीघाट के समीप जंगल में बस पहुंची तो चार-पांच अपराधिक तत्व के लोग हथियार से लैस होकर बस को जंगल में रोकवा दिया और बस चालक पर कट्टा अड़ाकर रुपयों की मांग करने लगे, ऐसे में बस चालक रुपए देने से मना किया तो अपराधियों ने जान से मारने की धमकी देने लगे। जिससे बस में सवार दर्जनभर यात्री नीचे उतर गए और आरोपियों से भीड़ गए, इसी दौरान किसी ने घटना की सूचना पुलिस को दिया, जिसकी जानकारी होने पर आरोपी वहां से भाग निकले, जिसके बाद बस रायगढ़ पहुंची। वहीं बताया जा रहा है कि मेन मार्ग जाम होने के कारण अधिकतर बसें अलग-अलग रुट से चल रही हैं, जिसके चलते लगातार इस तरह की घटनाएं सामने आ रही है।
यात्रियों में भय का माहौल
रात में बस में लूटपाट के नियत से बस को जंगल में रोके जाने की जानकारी होने पर बस में सवार यात्रियों में हडक़ंप मच गया था, वहीं इस बस में कई महिला यात्री भी थी, जो अपने परिजनों को इसके बारे में सूचना दिया, जिससे कई लोग वहां तक जाने के लिए भी निकल गए थे, लेकिन पुरुष यात्रियों के विरोध के बाद करीब १७ मिनट बाद बस को छोड़ दिया, जिसके बाद बस रायगढ़ पहुंची।
नेटवर्क और जंगल फिर भी पुलिस टीम नदारद
गौरतलब हो कि पाली घाट हमीरपुर मार्ग जंगल से भरा हुआ है। इस मार्ग में किसी भी निजी कंपनी का मोबाइल नेटवर्क काम नहीं करता, अगर किसी तरह फोन लग भी जाए तो अस्पष्ट बात नहीं हो पाती है। यही वजह है कि उक्त घाट में लूट की वारदात अधिक हो रही है। इन परिस्थतियों से पुलिस भी भलीभांति अवगत है इसके बावजूद पेट्रोलिंग टीम उक्त क्षेत्र से नदारद रही है। ऐसे में समझा जा सकता है कि पुलिस लोगों की जान माल की सुरक्षा को लेकर कितना सतर्क है।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.