हैमर के निशान लगे बीजा गोला की हो रही थी तस्करी, पुलिस ने पकड़ा

हैमर के निशान लगे बीजा गोला की हो रही थी तस्करी, पुलिस ने पकड़ा

Vasudev Yadav | Publish: Jun, 19 2019 01:06:05 PM (IST) Raigarh, Raigarh, Chhattisgarh, India

जूटमिल पुलिस(Jutmil police) ने पकड़ा अवैध 9 नग बीजा गोला

रायगढ़. वन विभाग(Forest department) के द्वारा जिन चिरान पर निशान लगाया जाता है, उस गोला की तस्करी का मामला सामने आया है। यह मामला तब उजागर हुआ जब जूटमिल पुलिस(Jutmil police) गश्त के दौरान एक पिकअप को पकड़ा। हालांकि पुलिस को देखते ही पिकअप के चालक व खलासी मौके से भाग गए। वहीं पुलिस ने चिरान व पिकअप को जब्त कर दिया।
वहीं जब जब्त चिराने को वन विभाग(Forest department) के सुपुर्द किया तो यह मामला उलझ गया। वन विभाग के अधिकारियों की माने तो जब्त बीजा चिरान में वन विभाग के द्वारा लगाए जाने वाला हैमर का निशान है। इस लकड़ी की तस्करी(Wooden smuggling) वन विभाग के अधिकारियों की सांठगांठ से ही किया जा सकता है। हालांकि वन विभाग इस मामले की जांच कर रही है।
इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार सोमवार की जुटमिल पुलिस(Jutmil police) गश्त कर रही थी। गश्त की टीम रात सावित्री नगर मार्ग पर पहुंची थी कि इस समय एक पिकअप पर नजर पड़ी। उक्त वाहन में नौ नग बीजा का गोला था। ऐसे में पुलिस के गश्ती दल ने पिकअप का पीछा करते हुए उसे रोकने का प्रयास किया।
इस दौरान पिकअप का चालक वाहन छोड़ कर मौके से फरार हो गया। चालक के मौके से फरार होने के बाद वाहन को जब्त कर जूटमिल चौकी लाया गया। वहीं इसके बाद पुलिस ने यह मामला वन विभाग के सुपुर्द कर दिया। इस मामले की जानकारी मिलने के बाद वन विभाग की टीम जूटमिल चौकी पहुंची। वहीं जैसे ही जब्त बीजा गोला पर नजर पड़ी तो उनके होश उड़ गए। इसके पीछे कारण यह है कि उक्त बीजा गोला में हैमर का निशान लगा था और उसमें ३८८ आरजी दर्ज था, जिसे वन विभाग के द्वारा ही लगाया जाता है। बताया जा रहा यह कूप कटिंग और तस्करी से जब्त किए जाने के बाद यह निशान और नंबर दर्ज किया जाता है। वहीं हैमर लगने के बाद लकड़ी को वन विभाग के डीपो भेजा जाना होता है, लेकिन इसे तस्करी करते हुए पकड़ा गया। ऐसे में इस बात की चर्चा आम हो गई है कि वन विभाग के अधिकारी ही कहीं इस तस्करी में तो शामिल नहीं हैं। बहरहाल वन विभाग इस मामले की जांच में जुट गई है।

पुलिस ने पिकअप लोड बीजा गोला पकड़ा गया है। इसमें हैमर के निशान हैं। इस मामले की जानकारी उच्चाधिकारियों को दे दी गई है। उच्चाधिकारियों के निर्देश पर मामले की जांच होगी।
राजेश्वर मिश्रा, डिप्टी रेंजर, रायगढ़

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned