VIDEO- सड़क दुर्घटना में सुपरवाइजर की मौत, आक्रोशित लोगों ने किया चक्काजाम तो पुलिस के साथ भी हुई बहस

Vasudev Yadav

Publish: Feb, 15 2018 06:55:57 PM (IST)

Raigarh, Chhattisgarh, India

.. जिंदल पार्किंग के करीब की घटना, पीडि़त परिवार को मुआवजा देने की घोषणा

रायगढ़. जिंदल के भारी वाहनों की पार्किंग स्थल के करीब एक अनियंंत्रित ट्रेलर ने बाइक सवार सुपरवाइइजर व एक अन्य को रौंद दिया। सुपरवाइजर की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। जबकि पीछे बैठा एक अन्य व्यक्ति बुरी तरह से घायल हो गया। मृतक की पहचान गेडामुडा के दामाद के रुप मेंं हुई। इसके साथ भीड़ उग्र हो गई। वहीं जिंंदल रोड पर चक्काजाम कर दिया। भीड़ को समझाइश देने व शव का उठाने की कोशिश में सीएसपी ने जोश के साथ थोड़ा सख्त हुए तो भीड़ उग्र हो गई। सीएसपी से कई बार तिखी बहस भी हुई। इसके बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए एएसपी घटना स्थल पर पहुंचे। जहां परिजनों को उचित मुआवजा व उक्त मार्ग पर ब्रेकर बनाने का भरोसा दिया। उसके बाद मामला शांत हुआ।

Read More : VIDEO- प्रसव के दौरान महिला की हुई मौत, नवजात बच्ची आईएनसीयू में भर्ती

कोतरारोड थाना क्षेत्र के जिंदल पार्किग से गेजामुड़ा की आरे जाने वाली मोड़ पर एक अनियंत्रित ट्रेलर क्रमांक सीजी१३ क्यू ०५३१ के चालक ने बाइक सवार कंपनी के सुपरवाईजर व एक अन्य को रौद दिया। जिसके बाइक सवार सुपरवाईजर व कोरबा निवासी परमानंद पटेल ३८ वर्ष की घटना स्थल पर ही दर्दनाक मौत हो गई।

VIDEO- सड़क दुर्घटना में सुपरवाइजर की मौत, आक्रोशित लोगों ने किया चक्काजाम तो पुलिस के साथ भी हुई बहस

बाइक के पीछे बैठा व्यक्ति भी बुरी तरह से घायल हो गया। जिसे इलाज के लिए अस्पताल मेंं भर्ती कराया गया है। मृतक, स्थानीय गेजामुडा गांव का दामाद था। जो पिछले कई वर्ष से ससुराल में रह कर ही कंपनी में काम करता था। ऐसे में, घटना के तुरंत बाद गेजामुड़ा व आसपास के लोग, चक्काजाम कर ङ्क्षजदल प्रबंधन के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। उनकी मानें तो कंपनी के एक गार्ड द्वारा रुपए लेकर दिन के समय में भारी वाहन को कंपनी के सिमेंट फैक्ट्री की ओर ले जाया जाता है, जो गेजामुड़ा मुख्य मार्ग के बीच आने-जाने में लोगों को काफी परेशानी होती है।

सड़क हादसे में एक की मौत व एक घायल की खबर मिलते ही कोतरारोड पुलिस, पीसीआर वैन के बाद सीएसपी सिद्धार्थ तिवारी भी घटना स्थल पर पहुंचे। वहं चक्काजाम के साथ शव को बल पूर्वक उठाकर पीएम के लिए भेजने की कोशिश मेंं जुट गए। इस बीच उनकी बई बार स्थानीय लोगों के साथ तिखी बहस हो गई।

मामले की गंभीरता को देखते हुए एएसपी यूबीएस चौहान, शहरी थाना व चौकी के टीआई के साथ घटना स्थल पर पहुंचे। जहां सीएसपी को कुछ पल के लिए अलग कर एएसपी ने अपने अनुभव के बीच खुद भीड़ के साथ बात दोस्ताना माहौल में बात की। इस बीच जिंदल प्रबंधन के लोग भी मौजूद थे। जिसके बाद पीडि़त परिवार को जिला प्रशासन व कंपनी प्रबंधन से एक उचित मुआवजा देने के आश्वासन के बाद मामला शांत हुआ।

1
Ad Block is Banned