Video - नगर निगम सामान्य सभा में हुआ बवाल, गुस्साए पार्षद ने एजेंडा को फाड़ा और महापौर व सभापति पर फेंका, पढि़ए खबर...

सवाल पर समय अभाव का हवाला देते हुए चर्चा नहीं किया जा रहा था। पार्षद पटेल अपने स्थान से उठे और नए वार्डों के विकास पर चर्चा किये जाने की मांग करने लगे

By: Vasudev Yadav

Updated: 04 Jan 2018, 07:41 PM IST

रायगढ़. गुरुवार को विभिन्न विकास कार्यों को लेकर नगर निगम में सामान्य सभा की बैठक रखी गई थी। बैठक में वार्डों के विकास को लेकर चर्चा होनी थी। बैठक में 22 पार्षदों के 43 सवालों का जवाब मेयर और उनके कौंसिल सदस्य को देना था। बैठक शुरू होते ही कुछ समय बाद हंगामे का दौर शुरू हो गया और बैठक को बीच में आधे घंटे के लिए स्थगित करना पड़ा। निगम की कार्यप्रणाली से कई पार्षद पहले से ही बौखलाए हुए थे।

आठ साल से विकास कार्य का रास्ता देख रहे ग्रामीण पार्षद को उस समय जोरदार गुस्सा आया जब सामान्य सभा में नए वार्डों के विकास पर चर्चा नहीं हो सकी। इस समय कांग्रेस पार्षद पंकज पटेल ने सामान्य सभा के एजेंडा को फाड़ा और सभापति के साथ महापौर के ऊपर फेक दिया। इससे काफी हंगामा हुआ और सभा आधा घंटा के लिये स्थगित किया गया।

इस बैठक में नए वार्डों के पार्षदों ने विकास कार्य से संबंधित सवाल लगाया था, लेकिन उनके इस सवाल पर समय अभाव का हवाला देते हुए चर्चा नहीं किया जा रहा था। ऐसे में पार्षद पंकज पटेल अपने स्थान से उठे और नए वार्डों के विकास पर चर्चा किये जाने की मांग करने लगे। इसके बाद भी चर्चा नहीं होने की बात कही गई। ऐसे में पंकज पटेल ने एजेंडे के कागज को फाड़ा और सभापति व महापौर के ऊपर फंेक दिया, वहीं यह भी कहा कि हमें दोबारा अपमानित करने के लिये अब सामान्य सभा मे नहीं बुलाया जाए।

बवाल होने की बनी हुई थी संभावना
सामान्य सभा के लिए पार्षदों ने सवाल तो लगाए थे। वहीं इसके अलावा नगर निगम के द्वारा भी एजेंडा तय किया गया था। इस एजेंडों में जनहित का मुद्दा नहीं होने की बात को लेकर कुछ पार्षदों में नाराजगी थी। वहीं इसके अलावा नामांतरण का मुद्दा, राजस्व वसूली की कमान निजी हाथों में सौंपे जाने का एजेंडा व सबिना कंट्रक्शन के टेंडर को एक्टेंशन दिए जाने की बात को लेकर भी निगम में बवाल होने की संभावना बनी हुई थी।

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned