scriptThe desire of the leader to issue voluntary grants, benefits given to | स्वेच्छा अनुदान जारी करने नेता जी की इच्छा, कांग्रेस के पदाधिकारियों को दिया लाभ | Patrika News

स्वेच्छा अनुदान जारी करने नेता जी की इच्छा, कांग्रेस के पदाधिकारियों को दिया लाभ

ब्लाक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष व अन्य चहेतों को मिली राशि
क्रिकेट व युवा क्लब के नाम से अपनों को किया गया उपकृत

रायगढ़

Published: May 10, 2022 08:15:30 pm

रायगढ़. शासन की योजना के अनुसार जनप्रतिनिधियों को जरुरतमंदों लोगों को स्वेच्छा से स्वेच्छा राशि दिए जाने का प्रावधान है। यह नियम इसलिए बनाया गया है, ताकि वास्तविक जरुरत मंद को इसका लाभ मिल सके, लेकिन स्वेच्छा अनुदान आवंटन करने में नेता जी इच्छा कुछ और ही नजर आ रही है। स्वेच्छा अनुदान के बहाने अपने चहेतों को इसका लाभ पहुंचाया जा रहा है। यह मामला धरमजयगढ़ विधानसभा के लिए स्वीकृत किए गए राशि का मामला है।
धरमजयगढ़ विधानसभा क्षेत्र में वर्ष २०२१-२२ के वित्तीय वर्ष में उक्त विधानसभा क्षेत्र के धरमजयगढ़ क्षेत्र में पांच लाख ४५ हजार व घरघोड़ा क्षेत्र में एक लाख ३० हजार रुपए स्वेच्छा अनुदान स्वीकृत की गई है। इस तरह दोनों क्षेत्रों में छह लाख ७५ हजार रुपए स्वीकृत किए गए। इसमें गौर करने वाली बात यह है कि यह अनुदान राशि जरुरतमंदों के लिए स्वीकृत की जाती है, लेकिन इसमें मनमानी सामने आई है। घरघोड़ा विकासखंड क्षेत्र में एक लाख ३० हजार रुपए स्वेच्छा अनुदान जो स्वीकृत हुई है वह २३ लोगों के नाम से जारी किया गया है। इसमें एक नाम घरघोड़ा नगर पंचायत के शिव कुमार शर्मा हैं, जिन्हें क्रिकेट समिति के लिए डे्रस क्रय करने १० हजार रुपए स्वीकृत किया गया है। वहीं घरघोड़ा के ही विजय कुमार शर्मा के नाम पर युवा क्लब के लिए ड्रेस क्रय करने पांच हजार रुपए की स्वीकृति दी गई है। उल्लेखनीय है कि नगर पंचायत घरघोड़ा में शिव कुमार शर्मा ब्लाक कांग्रेस कमेटी के पद पर है। वहीं उनके पुत्र विजय कुमार शर्मा है। ऐसे में क्षेत्र में इस बात को लेकर चर्चा का विषय बना हुआ है। कहा जा रहा है कि कांग्रेस सत्ता में आने के बाद जरुरतमंदों के बजाए अपने चहेतों को शासन की योजनाओं का लाभ पहुंचा रहे हैं।
अनुदान राशि पर खड़े हो रहे सवाल
वर्ष २०२१-२२ स्वेच्छा अनुदान राशि स्वीकृत किए जाने के मिले रिकार्ड के अनुसार जिन लोगों के नाम से यह राशि स्वीकृत की गई है उसमें ऐसी भी बात सामने आ रही है कि कुछ ऐसे चहेते भी लोग हैं, जिनके यहां स्टाफ के रूप में संबंधित व्यक्ति कार्यरत है, उसके नाम से स्वेच्छा अनुदान राशि जारी करवाई गई है। वहीं कुछ ऐसे में नाम शामिल हैं, जिनके खिलाफ पूर्व में अपराधिक मामला दर्ज है।
विपक्ष कर रहा खिंचाई
इस मामले में विपक्षी पार्टी भाजपा विधायक को आड़े हाथ ले रही है। भाजपा के महामंत्री अरुणधर दीवान का कहना है कि स्वेच्छा अनुदान राशि के लिए जरूरत मंदों की बजाय घरघोड़ा ब्लाक कांग्रेस के अध्यक्ष से लेकर पदाधिकारियों व अपने अधीनस्थ कर्मचारियों के मध्य वितरित की गई। यह पूरी तरह से सरकारी राशि का दुरुपयोग है। उनका कहना है कि यह राशि ऐसे लोगों को दिया जाना चाहिए जो जीवन की मूलभूत आवश्यकता से वंचित है, लेकिन ऐसा नहीं किया गया। राशि गरीबों व जरूरतमंदों की पहुंच नहीं है। इसका जवाब जनता आने वाले समय में देगी।
विधायक ने नहीं रिसिव किया मोबाइल
इस मामले में विधायक का पक्ष जानने के लिए उनके मोबाइल पर संपर्क किया गया। विधायक के मोबाइल पर घंटी जाती रही, लेकिन उन्होंने मोबाइल रिसिव नहीं किया। ऐसे ेमें उनके बाद नहीं हो सकी।
raigarh
स्वेच्छा अनुदान जारी करने नेता जी की इच्छा, कांग्रेस के पदाधिकारियों को दिया लाभ

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Presidential Election 2022: लालू प्रसाद यादव भी लड़ेंगे राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव! जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस के निवास पहुंचे एकनाथ शिंदेMaharashtra Political Crisis: उद्धव के इस्तीफे पर नरोत्तम मिश्रा ने दिया बड़ा बयान, कहा- महाराष्ट्र में हनुमान चालीसा का दिखा प्रभावप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने MSME के लिए लांच की नई स्कीम, कहा- 18 हजार छोटे करोबारियों को ट्रांसफर किए 500 करोड़ रुपएDelhi MLA Salary Hike: दिल्ली के 70 विधायकों को जल्द मिलेगी 90 हजार रुपए सैलरी, जानिए अभी कितना और कैसे मिलता है वेतनKangana Ranaut ने Uddhav Thackeray पर कसा तंज, कहा- 'हनुमान चालीसा बैन किया था, इन्हें तो शिव भी नहीं बचा पाएंगे'उदयपुर हत्याकांड: आरोपियों के कराची कनेक्शन पर पाकिस्तान की बेशर्मी, जानिए क्या बोलाUdaipur Murder: उदयपुर में हिंदू संगठनों का जोरदार प्रदर्शन, हत्यारों को फांसी दो के लगे नारे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.