आखिर क्या हुआ कि सावंडिय़ा ट्रेडर्स के मालिक ने लाखों रूपए गल्ले में छोड़े, अज्ञात चोरों ने दिया घटना को अंजाम पढ़िए पूरी खबर...

आखिर क्या हुआ कि सावंडिय़ा ट्रेडर्स के मालिक ने लाखों रूपए गल्ले में छोड़े,  अज्ञात चोरों ने दिया घटना को अंजाम पढ़िए पूरी खबर...

Vasudev Yadav | Updated: 11 Jul 2019, 05:56:04 PM (IST) Raigarh, Raigarh, Chhattisgarh, India

Theft Incident : एलबेस्टर टीन उठाकर सावंडिय़ा ट्रेडर्स में घुसे चोर और कर दिए साढ़े पांच लाख पार
- कोतवाली थाने से कुछ दूर आगे की अज्ञात चोरों ने दिया घटना को अंजाम
- पीडि़त दुकानदार ने कहा भाई की तबीयत खराब थी तो जल्दबाजी में नकदी को छोड़ दिए थे दराज पर
- इधर पुलिस ने कहा आज के समय में कौन रखता है काउंटर पर इतना कैश, जांच के बाद ही होगा अपराध दर्ज

रायगढ़. कोतवाली थाना से कुछ दूरी पर ही स्थित पुरानी हटरी के पीछे सांवडिय़ा ट्रेडर्स में अज्ञात चोरों ने टीन के एलबेस्टर को उठा कर अंदर प्रवेश किया और दुकान के गल्ला में रखे नकदी रकम करीब साढ़े पांच लाख रुपए को पार कर दिया। सुबह जब दुकान संचालक को घटना की जानकारी हुई तो पुलिस को इसकी सूचना दी गई। हालांकि अभी पुलिस ने इस मामले में अपराध दर्ज नहीं किया है। जांच-पड़ताल करने के बाद ही अपराध दर्ज करने की बात कही जा रही है।
मिली जानकारी के अनुसार संजय सांवडिय़ा का पुरानी हटरी के पीछे सांवडिय़ा ट्रेडर्स के नाम से दुकान है। 10 जुलाई को संजय के बड़े भाई की तबीयत खराब होने पर वे हड़बड़ी में दुकान को बंद कर उसे डॉ. राजू के पास लेकर गए थे। जहां डॉक्टर ने उन्हें बताया कि हार्ट का प्रोबलम है इन्हें जिंदल अस्पताल ले जाओ। ऐसे में संजय अपने भाई को लेकर जिंदल अस्पताल चला गया। इस बीच किसी ने यह ध्यान नहीं दिया कि नकदी रकम तो दुकान के काउंटर पर ही है। सुबह जब दुकान का स्टाफ दुकान खोलने आया और शटर खोलकर देखा तो गल्ला का दराज टूटा हुआ था। वहीं मौके पर कुछ औजार भी रखे हुए थे। इसके बाद उक्त स्टाफ ने घटना की जानकारी संजय को दी। सूचना मिलते ही संजय व अन्य लोग मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। इसके बाद सीएसपी अविनाश सिंह ठाकुर, कोतवाली टीआई एसएन सिंह दल बल के साथ मौके पर पहुंचे और मौका मुआयना में जुट गए। फिलहाल पुलिस ने मामले को जांच में लिया है।

सप्ताहभर पहले हुई थी चोरी
सांवडिय़ा ट्रेडर्स परिसर में ही स्थित सुरेश कुमार अग्रवाल के कॉपी कारखाना में करीब 11 दिन पहले 30 जून को अज्ञात चोरों ने खिड़की की जाली को हटाकर नकदी सहित करीब 80 हजार रुपए के सामान को पार कर दिया था। घटना की रिपोर्ट पर कोतवाली पुलिस ने अपराध दर्ज भी कर लिया है, लेकिन इस मामले के आरोपियों को पुलिस पकड़ती उससे पहले ही सावंडिय़ा ट्रेडर्स में साढ़े पांच लाख की चोरी हो गई। इससे यही लग रहा है क्षेत्र में चोर बेखौफ चोरी की घटना को अंजाम दे रहे हैं और पुलिस सिर्फ अपराध दर्ज कर कागजी प्रक्रिया पूरी कर रही है।

रोशनदान से घुसने का किया प्रयास
पीडि़त ने बताया कि पहले चोर रोशनदान की जाली हटाकर अंदर घुसने का प्रयास किए, लेकिन सफल नहीं होने पर एलबेस्टर टीन को उठाकर अंदर प्रवेश किए और चोरी की घटना को अंजाम दिए। इसके बाद लोहे के औजार को मौके पर ही छोड़ कर फरार हो गए। जिससे उन्होंने दराज को तोड़ा था।

दो साल से सीसीटीवी कैमरा खराब
इस संबंध में कोतवाली टीआई एसएन सिंह ने कहा कि सांवडिय़ा ट्रेडर्स के अंदर लगे सीसीटीवी कैमरे करीब दो साल से खराब है, जिसे दुकान संचालक ने अब तक ठीक नहीं कराया है। इसके अलावा आसपास में लगे सीसीटीवी कैमरे भी खराब हैं। ऐसे में चोर तक पहुंचना पुलिस के लिए मुश्किल हो जाता है। जबकि दुकान संचालक का कहना है कि कैमरा को ठीक कराते हैं, लेकिन बार-बार चूहे तार को काट देते हैं, इसलिए नहीं सुधार रहे हैं। ऐसे में टीआई का मानना है कि अगर सीसीटीवी कैमरा ठीक होता तो चोर तक पहुंचने में पुलिस को आसानी होती।

आरोपी को पहले से थी जानकारी
इस घटना के बात इस बात की चर्चा जोरों पर चल रही है कि आरोपी को पहले ही इस बात की जानकारी थी कि दुकान के काउंटर दराज में नकदी रकम हैं। वहीं उसे इस बात की भी जानकारी थी कि दुकान का कैमरा खराब है। नहीं तो चोर कहीं भी चोरी करने घुसते हैं तो पहले कैमरे में तोडफ़ोड़ करते हैं। वहीं घटना को अंजाम देने के बाद डीवीआर आदि सामान अपने साथ ले जाते हैं, लेकिन यहां ऐसा कुछ नहीं हुआ। कैमरा अपनी जगह पर ही लगा। इससे लोगों का मानना है कि चोर को पहले से ही इन सब बातों की जानकारी थी।

 

कैश को लेकर बना संशय
दुकान के काउंटर में रखे साढ़े पांच लाख रुपए नकदी रकम को लेकर संशय बना हुआ है। पुलिस का कहना है कि आज के जमाने में कौन इतना कैश काउंटर में रखता है। पुलिस के अनुसार दुकानदार कह रहा है कि करीब दस दिन पूर्व वे द्वारिकाधीश गए थे, कोई व्यापार ही नहीं हुआ है। ऐसे में इतनी बड़ी रकम कहां से आई। जबकि दुकान संचालक का कहना है कि एक व्यापारी घटना दिनांक को पुराने कलेक्शन का रुपए लाकर दिया था, उसे दराज में रखे थे। फिलहाल पुलिस अधिकारियों का कहना है कि पिछले कुछ दिनों में दुकान से हुए लेनदेन का हिसाब देख, जांच परख कर ही अपराध दर्ज किया जाएगा।

शराबी-गंजेडियों का है अड्डा
मौके पर पहुंचकर जब आसपास के लोगों से पूछताछ की गई तो उन्होंने बताया कि उक्त परिसर गंजेडिय़ों और शराबियों का अड्डा बन गया है। रात हो या दिन यहां हर वक्त युवकों की टोली सुट्टे उड़ाते व जाम छलकाते नजर आते हैं। खासकर रात के समय यह सिलसिला जोर-शोर से चलता है जोकि देर रात तक रहता है। इससे पुलिस की रात्रि गश्त पर भी सवाल उठ रहे हैं कि आखिर यहां कुछ दिन पहले चोरी भी हो गई है, लेकिन असामाजिक तत्वों पर पुलिस की नजर ही नहीं पड़ रही।

वर्सन
बुधवार की रात सावंडिय़ा ट्रेडर्स में चोरी की घटना हुई है। पीडि़त का कहना है कि दुकान से साढ़े पांच लाख रुपए कैश पार हुए हैं। जबकि वही कह रहा है कि पिछले दस दिन से कोई कारोबार नहीं हुआ है। ऐसे में इस मामले की जानकारी ली जा रही है कि आखिर कितने रकम की चोरी हुई है। इसके बाद अपराध दर्ज किया जाएगा।
अविनाश सिंह ठाकुर, सीएसपी

एलबेस्टर टीन उठाकर सावंडिय़ा ट्रेडर्स में घुसे चोर और कर दिए साढ़े पांच लाख पार

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned