आईएएस की तैयारी करने दिल्ली गया था युवक, लॉकडाउन में लौटा तो निकला कोरोना पॉजिटिव, जिले में संख्या बढ़कर 13 पहुंची

Coronavirus: गुरुवार शाम को मेडिकल कालेज से आरटीपीसीआर जांच रिपोर्ट आने पर बरमकेला ब्लाक के दो लोगों की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आया है।

By: Vasudev Yadav

Published: 28 May 2020, 08:32 PM IST

रायगढ़. दो नए कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट आते ही स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंच कर क्वारेंटाइन सेंटर के आसपास कंटेंमेंट जोन बनाने की तैयारी में जुट गई है। अब जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर १३ पहुंच गई है।

गौरतलब हो कि इन दिनों कोरोना पॉजिटिव मरीजों की लगातार केस आने से अब राज्य सरकार द्वारा रायगढ़ जिले को रेड जोन में डाल दिया गया है। लगातार लोगों के दिगर प्रांत से जिले में आने के कारण कोरोना मरीजों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। गुरुवार शाम को आरटीपीसीआर रिपोर्ट आने के बाद बरमकेला ब्लाक के गोबरसिंहा निवासी दो लोग १५ दिन पहले पहुंचे थे, जिसमें से एक ओडिशा के गंजमा से तो दूसरा दिल्ली से घर लौटा था, जो आईएएस की तैयारी के लिए दिल्ली गया था।

बताया जा रहा है कि युवक पहले अपने घर चले गए थे, लेकिन जब इसकी जानकारी हुई तो ग्रामीणों की सूचना पर दोनों को 12 दिन पहले बरमकेला के क्वारेंटाइन सेंटर में रखा गया था। स्वास्थ्य विभाग के टीम ने दोनों लोगों की सैंपल लेकर आरटीपीसीआर जांच के लिए रायगढ़ भेजा गया जहां रिपोर्ट में गुरुवार को पॉजिटिव आने के बाद बरमकेला ब्लाक में हड़कंप की स्थिति निर्मित हो गई है।

मामले की जानकारी होते ही क्वारेंटाइन सेंटर के आसपास को कंटेंमेंट जोन बनाने की तैयारी चल रही है। वहीं मरीजों की संख्या लगातार बढ़ते देख प्रशासन भी सकतेे में है और लोगों से अपील की जा रही है कि शासन की एडवाइजरी का पालन करें, ताकि लोग इस कोरोना वायरस के चपेट में आने से बच सके।

गोबरसिंघा के दोनों क्वारेटाइन सेंटर होगा सील
मौजूदा समय में बरमकेला ब्लाक के गोबरसिंघा स्थित प्राथमिक शाला व हायर सेकेंडरी स्कूल को क्वारेंटाइन सेंटर बनाया गया है। वहीं दोनों युवकों को अलग-अलग सेंटर में रखा गया था, जिसमें प्राथमिक शाला गोबरसिंह में एक था तो हायर सेकेंडरी स्कूल में 18 लोगों को क्वारेंटाइन किया गया था। यहां पॉजिटिव आने पर अन्य लोगों में भी हड़कंप की स्थिति निर्मित हो गई है।

दिल्ली आएएस की तैयारी करने गया था युवक
बताया जा रहा है कि गोबरसिंघा निवासी युवक कुछ दिन पहले ही दिल्ली आईएएस की तैयारी करने गया था। कोरोना के चलते लाकडाउन होने से वह वहीं पर फंसा हुआ था, जब 15 दिन पहले घर लौटा तो उसके परिजनों ने उक्त युवक को अपने घर में ही रख लिए। वहीं जब इसकी जानकारी ग्रामीणों को लगी तो वे इसका विरोध करने लगे, तब जाकर इसे प्राथमिक शाला गोबरसिंघा में क्वारेंटाइन किया गया। अब सवाल यह उठ रहा है कि जब युवक दिल्ली से आया और घर में था तो इसके संपर्क में कई लोग आए होंगे, जिससे और लोगों की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आ सकता है।

गंजाम से लौटे 19 श्रमिक
जानकारी के अनुसार विगत कुछ दिन ओडिशा के गंजाम जिला स्थित ईट भट्ठा में काम करने के लिए गोबरसिंघा से 19 लोग गए थे। जहां लाकडाउन में छूट मिलने के बाद सभी एक साथ गांव लौटे। इस दौरान जब इसकी जानकारी विभाग को हुई तो सभी को हायर सेकेंडरी स्कूल गोबरसिंघा में क्वारेंटाइन किया गया। गुुरुवार की शाम को इसमें से एक व्यक्ति का रिपोर्ट पॉजिटिव आया है और बाकी की रिपोर्ट आनी बाकी है। वहीं अब अन्य श्रमिकों में भी भय की स्थिति निर्मित हो गई है। कहीं इनका भी रिपोर्ट पॉजिटिव न आ जाए।

कोविड-19 में किया गया शिफ्ट
बरमकेला ब्लाक में दो लोगों में कोरोना की पुष्टि होने के बाद उन्हें स्वास्थ्य विभाग द्वारा रायगढ़ कोविड-19 अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया जा रहा है। साथ ही दोनों स्कूलों को कंटेंमेंट जोन बनाने की तैयारी चल रही है। ताकि इसके आसपास कोई अन्य व्यक्ति न आ सके।

-बरमकेला ब्लाक के गोबरसिंघा में निवासी दो लोगों की गुरुवार की शाम कोरोना पॉजिटिव आया है। इससे दोनों को रायगढ़ कोविड-19 अस्पताल में भर्ती करने की तैयारी चल रही है। डा. एसएन केसरी, सीएचएमओ, रायगढ़

Vasudev Yadav
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned