नवपता के बाद भी गर्मी से नहीं मिल रही राहत, 43 और 44 डिग्री पर टिका है तापमान

नवपता के बाद भी गर्मी से नहीं मिल रही राहत, 43 और 44 डिग्री पर टिका है तापमान

Vasudev Yadav | Updated: 12 Jun 2019, 02:06:14 PM (IST) Raigarh, Raigarh, Chhattisgarh, India

नवपता के बाद गर्मी(Heat) से राहत मिलने की उम्मीद रहती है, लेकिन इस साल इस उम्मीद के विपरीत मौसम(Weather) का असर देखने को मिल रहा है। नवपता में जहां तापमान(Temperature) 40 से 42 डिग्री तक ही पहुंच सका था। वहीं नवपता के बाद गर्मी और ज्यादा बढ़ रही है। मौजूदा स्थिति यह है कि कुछ दिनों से तापमान(Temperature) 43 और 44 डिग्री के बीच टिका हुआ है।

रायगढ़. नवतपा समाप्त हुए एक सप्ताह से अधिक का समय बीत गया है। इसके बाद भी लोगों को गर्मी से राहत नहीं मिल रही। पिछले एक सप्ताह से यह स्थिति है कि तापमान 43 और 44 डिग्री पर टिका हुआ है। इसी वजह से सुबह से ही लू चल रही है और लोगों का घर से निकलना मुश्किल हो गया है। मौसम विभाग की माने तो अभी कुछ दिन और इस तरह की स्थिति रहेगी।
नवपता 3 जून को समाप्त हो चुका है। नवपता के बाद गर्मी से राहत मिलने की उम्मीद रहती है, लेकिन इस साल इस उम्मीद के विपरीत मौसम का असर देखने को मिल रहा है। नवपता में जहां तापमान 40 से 42 डिग्री तक ही पहुंच सका था। वहीं नवपता के बाद गर्मी और ज्यादा बढ़ रही है। मौजूदा स्थिति यह है कि कुछ दिनों से तापमान 43 और 44 डिग्री के बीच टिका हुआ है। बीते मंगलवार से यह गर्मी और ज्यादा बढ़ गई है। सुबह 10 बजे से ही गर्म हवा लोगों को परेशान करना शुरू कर दिया था। इस तरह की स्थिति रात आठ बजे तक रही। यही हाल बुधवार को भी देखने को मिला। बुधवार की सुबह भी सुबह 10 बजे से ही गर्म हवा चलना शुरू हो गया था और दोपहर पौने 12 बजे ही तापमान 41 डिग्री तक पहुंच गया था और 12 बजे के बाद तापमान 43 डिग्री तक चला गया। इसकी वजह से लोगों का सुबह से ही घर से निकलना मुश्किल हो गया था। हालांकि जिन लोगों को आवश्यक काम था वे घर से जरुर बाहर निकले, लेकिन वे अपने आप को धूप से बचाने के लिए चेहरे और सिर को पूरी तरह से स्कार्फ से ढके हुए थे। वहीं दोपहर में शहर की अधिकांश सड़कें सूनी नजर आ रही थी।

 

Read More : स्वास्थ्य विभाग की लाइफ लाइन कहलाने वाली संजीवनी और महतारी एक्सप्रेस हुई बेपटरी, आधे वाहन खराब

 

गर्मी से बचाव के लिए करें ये उपाय
धूप मेें निकलने से लोग बीमार पड़ सकते हैं। ऐसे में चिकित्सक धूप से बचने की सलाह दे रहे हैं। चिकित्सकों की माने तो लू से बचने के लिए धूप के सीधे संपर्क में आने से भर संभव बचने का प्रयास करे। वहीं यह कहा गया है कि बाहर निकलने पर सिर व मुंह ढककर रखें और पानी का अधिक से अधिक सेवन करें। पानी की कमी को दूर करने के लिए थोडी-थोड़ी देर पर छाछ, लस्सी फलों का रस और भरपूर मात्रा में पानी पीते रहना चाहिए, ताकि शरीर में पर्याप्त पानी होने पर डिहाइड्रेशन का खतरा कम होगा।

सफर करने में बरते सावधानी
लगातार बढ़ रही गर्मी को देखते हुए चिकित्सक सफर से परहेज करने की बात भी कह रहे हैं। उनका कहना है कि इस भीषण गर्मी में इस तरह की भीषण गर्मी में जितना हो सके कम से कम सफर किया जाना चाहिए। ट्रेन और बसों में दोपहर के समय सफर करने से तबीयत खराब होने की अधिक आशंका रहती है। यदि बहुत जरूरी हो जाना तो अपने साथ पानी, एलेक्ट्रॉल, व कुछ जरूरी मेडिसिन लेकर सफर किया जाना चाहिए। इस समय सफर करने पर छोटे बच्चों की सेहत का भी ध्यान रखना चाहिए।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned