Video Gallery : सुहाग की सलामती के लिए महिलाओं ने रखा निर्जला व्रत

Vasudev Yadav | Updated: 04 Jun 2019, 12:27:23 PM (IST) Raigarh, Raigarh, Chhattisgarh, India

- बरगद एवं पीपल के वृक्ष की पूजा अर्चना की गई।

रायगढ़. गौरी शंकर मंदिर में सोमवार को सुबह से ही वट सावित्री के पूजा के लिए महिलाओं की लंबी कतार नजर आने लगी थी। ज्येष्ठ माह के शुक्ल पक्ष की अमावस्या को वट पूर्णिमा व्रत किया जाता है। सुहागन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के लिए यह व्रत रखती हैं। कहा जाता है कि इस दिन सावित्री अपने पति सत्यवान के प्राण यमराज से वापस लेकर आईं थीं। जिसके बाद उन्हें सती सावित्री कहा जाने लगा।

वट सावित्री व्रत तीन जून को मनाया गया। विभिन्न स्थानों पर बरगद एवं पीपल के वृक्ष की पूजा अर्चना की गई। सभी सुहागन महिलाएं वट सावित्री की कथा सुनते दिखे। सैकड़ो की संख्या में महिलाओं ने वट सावित्री का पूजन किया एवं अपने सुहाग के सलामती के लिए वरदान मांगा। महिलाओं के द्वारा निर्जला व्रत रखा गया।
Read More : ओपन माइंस में नहीं मिली नौकरी तो बरौद मुख्य गेट के बाहर होगा धरना प्रदर्शन

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned