1.25 लाख लोग क्वारंटाइन में, जांच में मिल रहे संक्रमित, सरकार को खतरा होम क्वारंटाइन वालों से

स्वास्थ्य मंत्री की अपील- आखिरी विकल्प रखें होम क्वारंटाइन, सरकारी सेंटर में रहें या फिर पैड सेंटरों में

By: Nikesh Kumar Dewangan

Published: 21 May 2020, 01:00 AM IST

रायपुर. प्रदेश में 11 मई से शुरू हुई प्रवासी मजदूरों की वापसी का सिलसिला जारी है। अब तक 1,24,821 श्रमिकों प्रदेश में दाखिल हो चुके हैं, जो विकासखंड और ग्राम स्तर पर बनाए गए क्वारंटाइन सेंटरों में रखे गए हैं। इन पर 24 घंटे निगरानी रखी जा रही है। इनमें जो संदिग्ध हैं उनके सैंपल लेकर जांच करवाई जा रही है। इनमें ही पॉजिटिव मरीज मिल रहे हैं। इनसे तो खतरा है ही, मगर सरकार होम क्वारंटाइन में रह रहे 41 हजार लोगों को बड़ा खतरा मान रही है, क्योंकि इन पर 24 घंटे नजर रखना संभव नहीं है। सबकुछ भरोसे पर निर्भर है। पत्रकारों से चर्चा में खुद स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने इस बात को स्वीकारा कि होम क्वारंटाइन में रहने वालों से समुदाय को ज्यादा खतरा है इसलिए पांच स्तरीय प्रणाली लागू की जा रही है। जिसमें कंटेन्मेंट जोन, बफर जोन सिस्टम है। उन्होंने अपील कि है कि बाहर से आने वाले लोग होम क्वारंटाइन को आखिरी विकल्प रखें। सरकार सरकारी क्वारंटाइन सेंटर में सभी सुविधाएं दे रही है। होटलों को पैड क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया है, वहां रखें। विभाग के अधिकारी भी इस बात को मानते हैं कि होम क्वारंटाइन में रहने वाले नियमों का शत-प्रतिशत पालन नहीं करते हैं।

स्वास्थ्य विभाग रोजाना लेगा रिपोर्ट

स्वास्थ्य विभाग तक लगातार शिकायतें मिल रही हैं कि क्वारंटाइन सेंटर में रखे गए लोगों को तय सुविधाएं नहीं मिल रही हैं। यही कारण है कि स्वास्थ्य विभाग ने 38 बिंदुओं का एक प्रोफॉर्मा तैयार किया है। पंचायत सचिव स्तर से इसे रोजाना भरकर स्वास्थ्य विभाग को भेजा जाना है। इसमें पानी, खाना, नहाने का साबुन, सेनिटाइजर, सेनिटरी पैड, स्वास्थ्य टीम द्वारा की जा रही जांच समेत कई बिंदू हैं। स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि इसका मकसद व्यवस्था दुरुस्त करना है।

क्वारंटाइन से निकलने वाले 14 दिन रहेंगे घर में

क्वारंटाइन सेंटर में रहने वाले सभी लोगों को यह 14 दिन पूरे होने पर जब छुट्टी दी जा रही है तो उन्हें यह स्पष्ट तौर पर कहा जा रहा है कि वे 14 दिन घर पर ही रहें। कहीं आ जाएं न। अगर कुछ लक्षण दिखाई देते हैं तो तत्काल 104 पर सूचना दें।

Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned