छत्तीसगढ़ में बढ़ती कोरोना वायरस की रफ्तार: पिछले 24 घंटे में छत्तीसगढ़ में 107 लोगों की मौत

  • कोरोना वैक्सीन का पहला डोज लेने के बाद दूसरा डोज 56 दिन के अंदर जरूर लें

By: ashutosh kumar

Published: 13 Apr 2021, 01:59 AM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस कहर बनकर टूट रहा है। पूरे कोरोनाकाल में सोमवार 12 अप्रैल का दिन सबसे भयावह रहा। एक दिन में मरने वालों का आंकड़ा 107 जा पहुंचा। इनमें अकेले राजधानी रायपुर में 51 लोग जिंदगी की जंग हार गए। इनके अतिरिक्त 25 और पुरानी मौतों की पुष्टि सोमवार को हुई। वहीं प्रदेश में 107 और मरीजों की मौत के बाद मृतकों की संख्या बढ़कर 5031 हो गई। संक्रमण के कारण देशभर में अब तक कुल 1,71,089 लोगों की मौत हो चुकी है।

देशभर में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच वैक्सीन की कमी होने की खबरों ने आम जनता की चिंता बढ़ा दी है। पूरा देश इस समय कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर से जूझ रहा है। वहीं दूसरी ओर राहत भरी खबर यह है कि केंद्र सरकार ने रूसी कोरोना वैक्सीन स्पूतनिक वी को भी आपातकालीन मंजूरी दे दी है। विशेषज्ञ समिति (सीडीएससीओ) की मंजूरी के साथ ही अब देश में 3 कोरोना टीके आ गए हैं। अभी तक देश में दो वैक्सीन (कोविशील्ड और कोवैक्सीन) के इस्तेमाल की इजाजत थी। यानी अब भारत में इस वैक्सीन का इस्तेमाल किया जा सकेगा। सूत्रों की मानें तो स्पुतनिक द्वारा ट्रायल का डाटा पेश किया गया है, जिसके आधार पर ये मंजूरी मिली है।

छत्तीसगढ़ में बढ़ती कोरोना वायरस की रफ्तार: पिछले 24 घंटे में छत्तीसगढ़ में 107 लोगों की मौत
  • जिस कंपनी का टीका पहले लगा दूसरा डोज उसी कंपनी का लगवाएं
    वहीं कोविड टीकाकरण अभियान का तीसरा चरण जारी है। कोविड टीकाकरण के तीसरे चरण में 45 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है। यहां पर ध्यान देने वाली बात यह है कि आपने जिस कंपनी का टीका पहले लगवाया है 56 दिन बाद दूसरा टीका भी उसी कंपनी का लगवाएं। अभी कोविशिल्ड और कोवैक्सिन कंपनी का टीका लगाया जा रहा है। ऐसे में जिसने पहले चरण का टीका लगवाया है, उसे दूसरे चरण में भी उसी कंपनी का टीका लगाया जाएगा। दूसरी ओर केंद्र सरकार ने हालही में कोरोना वैक्सीन के दिशा निर्देशों में बदलाव किया है। अब तक पहले टीका के 28 दिन बाद दूसरा टीका लगाया जा रहा था। इसे बढ़ाकर 56 दिन कर दिया गया है। देशभर में अब तक जिन लोगों को पहले चरण का टीका लग चुका है, अब उस दिन से 56वां दिन पडऩे पर अपना दूसरे चरण का टीका लगवाएंगे।
  • प्राइवेट हॉस्पिटल में कोरोना वैक्सीन का एक डोज का शुल्क 250 रुपए, जब कि सरकारी केंद्रों पर वैक्सीन की दोनों डोज नि:शुल्क हैं

अभी निजी और सरकारी अस्पतालों में 45 साल से अधिक उम्र वाले लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है। प्राइवेट हॉस्पिटल में एक डोज का 250 रुपए शुल्क देना होता है। जबकि सरकारी केंद्रों पर वैक्सीन की दोनों डोज नि:शुल्क लगाई जा रहीं हैं। सुविधा के अनुसार आप अपने नजदीकी टीकाकरण केंद्र पर जाकर कोविड का टीका लगवा सकते हैं। आपको केवल यह ध्यान रखना होगा कि पहला टीका कोवैक्सीन का लगा है या कोविशील्ड का। दूसरा भी उसी कंपनी का लगवाना होगा।

  • कोरोना वैक्सीन लेने से पहले कराना होगा रजिस्ट्रेशन
    cowin.gov.in वेबसाइट पर कर सकते हैं रजिस्ट्रेशन

स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर जारी दिशा निर्देशों के अनुसार 45 साल से अधिक उम्र वालों को कोविड के टीके लगाए जा रहे हैं। टीका लगवाने से पहले आपको cowin.gov.in वेबसाइट पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करना होगा। जिस टीकाकरण केंद्र पर आप जाना चाहते हैं, उसका विकल्प चुनें। अगर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन नहीं करा पाए, तो टीकाकरण केंद्र पर पहुंचकर रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। 1 साल के भीतर सभी को कोरोना वैक्सीन देने का लक्ष्य रखा गया है। इसके लिए युद्धस्तर पर काम किया जा रहा है। तब तक या उसके बाद भी मास्क लगाना और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। अगर किसी ने अपने आपको कोविड के पहले टीके के लिए रजिस्टर किया है, तो वह ऑटोमेटिकली दूसरे टीके के लिए भी रजिस्टर्ड हो जाएगा। जिनको पहला टीका लग चुका है, उन्हें केंद्र पर जाकर मोबाइल नंबर बताना होगा, ताकि उनकी डिटेल मिल जाए कि पहला टीका कब लगा था। उसके बाद उन्हें दूसरा टीका लगाया जाएगा।

  • अभी सिर्फ 2 वैक्सीन कोविशील्ड और कोवैक्सिन के इस्तेमाल की है इजाजत
    कोविशील्ड और कोवैक्सीन को देश में ही तैयार किया गया है। कोविशील्ड को एस्ट्राजेनेका और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की ओर से तैयार किया गया है, तो वहीं कोवैक्सीन को भारत बायोटेक और आईसीएमआर के वैज्ञानिकों ने बनाया है। वहीं स्पूतनिक वी का उत्पादन फार्मा क्षेत्र की कंपनी डॉ रेड्डीज लेबोरेटरीज कर रही है।
Corona virus COVID-19 virus
ashutosh kumar Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned