1200 आदिवासी 200 किमी पैदल चलकर पहुंचे रायपुर, राज्यपाल से मांगी बिजली-पानी-सड़क

राजनांदगांव जिले के मानपुर तहसील के ग्राम खडग़ांव के 1200 आदिवासी 200 किलोमीटर पैदल सफर कर रविवार देर रात रायपुर पहुंचे। 5वीं अनुसूची क्षेत्र के ये रहवासी राज्यपाल से मिलकर सड़क, बिजली, पानी आदि बुनियादी सुविधाओं की मांग रखना चाहते थे। राज्यपाल से वे मिले और आश्वासन के बाद घर के लिए रवाना हो गए।

By: Dhal Singh

Updated: 26 Jan 2021, 01:54 AM IST

रायपुर. 5वीं अनुसूची क्षेत्र राजनांदगांव, तहसील मानपुर अंतर्गत ग्राम खंडगांव के 1200 अदिवासी 200 किमी का पैदल मार्च कर रविवार देर रात रायपुर पहुंचे, तो हड़कंप मच गया। तत्काल जिला प्रशासन ने इंडोर स्टेडियम में इनके ठहरने की व्यवस्था करवाई। अपने क्षेत्र में रोजगार, कॉलेज, अस्पताल, सड़क-बिजली-पानी जैसी मूलभूत मांगों लेकर ये राज्यपाल अनुसुईया उइके से मिलने आए थे। सोमवार को इनके प्रतिनिधिमंडल से राज्यपाल ने मुलाकात की। मांगों को विस्तार से सुना। कहा, मैं इस संबंध में कलेक्टरों को निर्देशित करूंगी। राज्यपाल के आश्वासन के बाद सभी आदिवासी रायपुर से रवाना होंगे।
गांव आकर हकीकत देखने का अनुरोध
'पत्रिकाÓ से बातचीत में इनके प्रतिनिधिमंडल के सदस्य मोतीलाल हिरवानी ने बताया कि हमने पूर्व में 2 पत्र राज्यपाल के नाम लिखे। उनसे अनुरोध किया कि वे हमारे ग्राम में आकर स्थिति देखें। मगर, राज्यपाल की तरफ से जवाब न मिलने की स्थिति में हम सभी को रायपुर आना पड़ा। एक अन्य सदस्य महेंद्र साहू ने बताया कि 5वीं अनुसूची के तमाम क्षेत्र पिछड़े हुए हैं। हम रायपुर से 50 और राजनांदगांव से 20 साल पीछे चल रहे हैं। हमारी मांग कोई राजनीतिक या फिर सामाजिक मुद्दा नहीं है। हम अपने अधिकारों की बात कर रहे हैं। इन्होंने बताया कि फरवरी में कोलन महोत्सव होगा, जिसमें राज्यपाल को आमंत्रित किया जाएगा।

Dhal Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned