आज से छत्तीसगढ़ के 130 लोकल और एक्सप्रेस ट्रेनों के परिचालन में होगा बदलाव

रायपुर जंक्शन से 130 ट्रेनों का आना-जाना होता है। नई समयसारिणी में सिर्फ 5 से 10 मिनट का ही परिवर्तन किया गया है।

By: Akanksha Agrawal

Published: 01 Jul 2019, 07:02 AM IST

रायपुर. दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे (South East Central Railway) बिलासपुर जोन ने नई समय सारिणी में ट्रेनों (Trains) के परिचालन में पांच से 10 मिनट का परिवर्तन किया गया है। ट्रेनों के स्टेशनों पर पहुंचने और छूटने के समय आशिंक तब्दीली की गई है। रायपुर, दुर्ग, बिलासपुर की लोकल पांच मिनट फास्ट कर दी गई है। जबकि डाउन की गाडिय़ां यानी नागपुर तरफ से आने वाली एक्सप्रेस (Express) ट्रेनों को 15 से 20 मिनट देरी से चलाना तय किया है। एक जुलाई से ट्रेनें नई समय सारिणी से चलेंगी।

रेलवे के अनुसार रायपुर-दुर्ग मेमू ट्रेन अब 12.35 बजे के बजाय 12.30 बजे, रायपुर-बिलासपुर लोकल सुबह 7.15 की जगह 7.05 बजे चलेगी। इस तरह पूरी से कुर्ला के बीच चलने वाली ट्रेन रायपुर स्टेशन में 12.55 की जगह 12.50 बजे आएगी। गरीब रथ एक्सप्रेस को अनूपपुर आने का समय पांच मिनट पहले तथा गोंडवाना एक्सप्रेस को दुर्ग स्टेशन में पांच मिनट पहले पहुंचना तय किया गया है। यह ट्रेन अब सुबह 8.40 बजे दुर्ग स्टेशन पहुंचेगी। विशाखापट्टनम एक्सप्रेस रायपुर में शाम 5 बजे के बजाय 5.5 बजे आना तय किया है।

साउथ बिहार एक्सप्रेस अब रायपुर स्टेशन में पांच मिनट फास्ट तथा बीकानेर एक्सप्रेस दो मिनट पहले आएगी। अजमेर से आने वाली दुर्ग एक्सप्रेस दो मिनट पहले आएगी। अजमेर से आने वाली दुर्ग एक्सप्रेस 15 मिनट देरी से रायपुर पहुंचेगी। शिवनाथ एक्सप्रेस 10 मिनट देरी से जम्मूतवी-दुर्ग एक्सप्रेस व भगत की कोठी एक्सप्रेस पांच मिनट देरी से रायपुर पहुंचेगी। पुरी से दुर्ग आने वाली एक्सप्रेस भी पांच मिनट देरी से आएगी।

130 ट्रेनों के परिचालन में थोड़ा परिवर्तन
रायपुर जंक्शन से 130 ट्रेनों का आना-जाना होता है। नई समयसारिणी में सिर्फ 5 से 10 मिनट का ही परिवर्तन किया गया है। डाउन दिशा नागपुर तरफ से आने वाली एक्सप्रेस ट्रेनों के परिचालन में भी कोई खास बदलाव नहीं किया गया है।

रेल अफसरों के सामने रखा नौकरी देने का प्रस्ताव, महिला कुली को मिलेगी ट्राली
स्टेशन डायरेक्टर के कक्ष में शनिवार को रेल अफसरों के साथ रायपुर स्टेशन के लाइसेंसधारी कुली सहायकों की बैठक हुई। इस दौरान कुलियों ने यात्री सुविधाओं एस्केलेटर और लिफ्ट का हवाला देते हुए स्थायी तौर पर नौकरी पर रखने का प्रस्ताव दिया। अफसरों को बताया कि अब यात्रियों का लगेज चढ़ाने और बाहर निकालने में बहुत कम काम मिल रहा है। ऐसे में 112 कुलियों की आमदनी बहुत कम हो गई है। महिला कुलियों को भी सुविधाएं नहीं मिल रही है।

रेलवे प्रशासन (Railway administration) की ओर से अपर मंडल रेल प्रबंधक शिव शंकर लकड़ा, वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक तन्मय मुखोपाध्याय तथा स्टेशन डायरेक्टर बीवीटी राव मौजूद थे। कुली सहायकों के विश्राम कक्ष का भी जायजा लिया तथा उन्हें लाइट, पंखें, शौचालय, आरओ वाटर की सुविधा मुहैया कराने का सुविधा कराने का भरोसा दिलाया।

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

LIVE अपडेट के लिए Download करें patrika Hindi News

एक ही क्लिक में देखें Patrika की सारी खबरें

Show More
Akanksha Agrawal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned