कोरोना के बाद नया खतरा: छत्तीसगढ़ में तेजी से बढ़ रही ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या, दुर्ग में मिले 14 नए मरीज

छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में ब्लैक फंगस के 14 नए मरीज सामने आये हैं, इसमें से एक भिलाई इस्पात संयंत्र के कर्मचारी की नाक की सर्जरी करने की तैयारी की जा रही है।

By: Ashish Gupta

Published: 14 May 2021, 12:17 PM IST

भिलाई/रायपुर. छत्तीसगढ़ के दुर्ग जिले में ब्लैक फंगस (Black Fungus) के 14 नए मरीज सामने आये हैं, इसमें से एक भिलाई इस्पात संयंत्र के कर्मचारी की नाक की सर्जरी करने की तैयारी की जा रही है। मरीज की जांच की गई है और वह अभी घर पर ही है। तमाम जांच रिपोर्ट आने के बाद उक्त मरीज का ऑपरेशन किया जाएगा। इस वक्त उसे दवा दी गयी है। चिकित्सकों ने उसे संपर्क में रहने कहा है। बता दें कि बुधवार को भिलाई में ब्लैक फंगस से एक मरीज की मौत हो गई थी। बीएसपी का यह कर्मचारी पहले कोरोना पॉजिटिव हुआ था। इसके बाद उसे अस्पताल में दाखिल किया गया, जहां सांस लेने में तकलीफ होने की वजह से उसे ऑक्सीजन सपोर्ट में रखा गया।

यह भी पढ़ें: कोविड महामारी के बीच छत्तीसगढ़ में ब्लैक फंगस का खौफ: सीएम ने दिए ये सख्त निर्देश

इसके बाद उसकी तबीयत ठीक हो गई, तो घर लौट आया। अस्पताल से आने के बाद उसे ब्लैक फंगस के लक्षण नजर आए हैं। इसके अलावा तीन अन्य मरीजों की हालत देखते हुए नेत्र विशेषज्ञ डॉ बीपी शर्मा ने अस्पताल में दाखिल होने कहा है। पांचवें मरीज का इलाज किया जा रहा है, वह संक्रमित होने के साथ शुरुआत में ही विशेषज्ञ के पास पहुंच गया। इस वजह से उसे दिक्कत अधिक नहीं हुई है। ब्लैक फंगस के अधिक मरीज भिलाई में ही मिल रहे हैं। इसमें सभी कोरोना संक्रमित होने के बाद अस्पताल में दाखिल हुए और ऑक्सीजन सपोर्ट में रहने के बाद ठीक होकर लौटे हैं।

सेक्टर-9 में चल रहा 9 का इलाज, चार की रिपोर्ट का इंतजार
बीएसपी के जनसंपर्क विभाग के मुताबिक सेक्टर-9 हॉस्पिटल में ब्लैक फंगस के 9 कनफर्म केस हैं। वहीं चार संदिग्ध केस ऐसे हैं जिनकी रिपोर्ट आना बाकी है। इनमें से चार मरीज को हायर सेंटर में रेफर किए हैं और बाकी का इलाज सेक्टर-9 में चल रहा है। 11 मई को एक मरीज की मौत हुई थी।

यह भी पढ़ें: कोरोना के बीच ब्लैक फंगस का खतरा: मरीजों की तेजी से बढ़ रही है संख्या, जानें लक्षण और बचाव

एम्स में 5 और मरीज भर्ती, 4 की सफल सर्जरी
राजधानी के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में म्यूकोरमाइकोसिस (Mucormycosis) के मरीजों की संख्या अब धीरे-धीरे बढ़नी शुरू हो गई है। गुरुवार को महासमुंद, दुर्ग समेत अन्य जिलों के 5 नए मरीज भर्ती हुए हैं। एम्स में पहले ही रायपुर के 4, राजनांदगांव के 1, भिलाई के 7 तथा दुर्ग के 4 मरीज भर्ती थे। विगत दो दिनों में चार मरीजों के जबड़े की सफल सर्जरी की गई है। एम्स प्रबंधन का कहना है कि ईएनटी मेडिसिन मल्मोनरी विभागों के डॉक्टरों की टीम मरीजों की जांच व इलाज में लगी हुई है। ईएनटी विभाग में ही संदिग्ध मरीजों को भर्ती करने के लिए अलग से वार्ड बनाया गया है।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned