script15 artisans made five statues of 30 quintal Ashtadhatu | 15 कारीगरों ने बनाई 30 क्विंटल अष्टधातु की पांच प्रतिमा | Patrika News

15 कारीगरों ने बनाई 30 क्विंटल अष्टधातु की पांच प्रतिमा

- घंटों भट्टी में गलाकर तैयार करते हैं प्रतिमा

रायपुर

Published: May 17, 2022 09:20:57 am

दिनेश यदु @ रायपुर. देश में प्राचीन समय से ही देवस्थलों में उर्जा का मुख्य स्रोत वहां स्थापित अष्टधातु की मूर्तियां (Ashtadhatu Sculptures) रही हैं। ज्योतिषा शास्त्र (astrology) के मुताबिक हर धातु में ऊर्जा होती है। वास्तविक अष्टधातु सभी आठ दिव्य धातुओं का शक्तिशाली संयोजन माना जाता है। राजधानी से लगे निमोरा में मूर्तिकार पीलूाराम साहू (Sculptor Peeluram Sahu in Nimora) ने अपने 14 साथियों के साथ अष्टधातु की प्रतिमाएं बनाई हैं। उन्होंने पांच मूर्तियों का निर्माण किया है, जिसमें 4 फीट के गणेश, 5 फीट की मां दुर्गा, 4-4 फीट के राधा-कृष्ण और 3 फीट की काल भैरव की प्रतिमा है। वे बताते हैं कि इसमें 30 क्विंटल अष्टधातु लगा है। इसके साथ 3 क्विंटल मधुमक्खी का मोम, 7 ट्रक जलाऊ लकड़ी और 10 क्विंटल कोयला का उपयोग किया गया है।
हवा-तूफान का सामना
साहू ने बताया कि प्रतिमा के निर्माण करते समय कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ा। एक बार में सिर्फ दो क्विंटल धातु को गलाते हैं जिसके लिए हम शाम चार बजे से भट्टी जलाते थे। धातु के गलने के बाद रात 3 बजे धातु को सांचे में डाला करते थे। इस दौरान हमें कई बार तूफान की मार झेलनी पड़ती थी। हमें डर लगा रहता कि कहीं भट्टी बुझ ना जाए।
15 कारीगरों ने बनाई 30 क्विंटल अष्टधातु की पांच प्रतिमा
15 कारीगरों ने बनाई 30 क्विंटल अष्टधातु की पांच प्रतिमा
15 कारीगरों ने बनाई 30 क्विंटल अष्टधातु की पांच प्रतिमा
IMAGE CREDIT: Dinesh Yadu @ Patrika Raipur
सोना-चांदी समेत इन धातुओं का इस्तेमाल
पीलूराम ने बताया कि शास्त्रों में अष्टधातु से निर्मित कोई भी वस्तु हो उसका एक अलग ही महत्त्व होता है। इसमें सोना, चांदी, तांबा, रांगा, जस्ता, पीतल, लोहा व कांसा मिलाकार आग की भट्टी में गलाया जाता है। प्रतिमा के अलग-अलग अंग बनाने के बाद सभी को जोड़ते हैं।
कौन सी प्रतिमा कहां जाएगी
गणेशजी- आरंग के पास नवागांव स्थित पुराना शिव मंदिर। काल भैरव - भाटापारा के पास मां दुर्गा, राधा-कृष्ण - नवा रायपुर के बेन्द्री स्थित मंदिर।
यह भी पढ़ें - सौ मीटर जाने के लिए तीन सौ मीटर घूमकर जाने की मजबूरी
यह भी पढ़ें -मुझे और मेरी बेटी को जीने दो, कोई तो इस जानवर से मुझे छुटकारा दिला दो
यह भी पढ़ें -मदकू द्धीप में इतिहास के कई रहस्य दबे
यह भी पढ़ें - मोर घर मा शादी अउ मोर वार्ड मा बुता हाबे, तेला येला छोड़ के कैईसे जाहु चंडीगढ़

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Weather. राजस्थान में आज 18 जिलों में होगी बरसात, येलो अलर्ट जारीसंस्कारी बहू साबित होती हैं इन राशियों की लड़कियां, ससुराल वालों का तुरंत जीत लेती हैं दिलशुक्र ग्रह जल्द मिथुन राशि में करेगा प्रवेश, इन राशि वालों का चमकेगा करियरउदयपुर से निकले कन्हैया के हत्या आरोपी तो प्रशासन ने शहर को दी ये खुश खबरी... झूम उठी झीलों की नगरीजयपुर संभाग के तीन जिलों मे बंद रहेगा इंटरनेट, यहां हुआ शुरूज्योतिष: धन और करियर की हर समस्या को दूर कर सकते हैं रोटी के ये 4 आसान उपायछात्र बनकर कक्षा में बैठ गए कलक्टर, शिक्षक से कहा- अब आप मुझे कोई भी एक विषय पढ़ाइएUdaipur Murder: जयपुर में एक लाख से ज्यादा हिन्दू करेंगे प्रदर्शन, यह रहेगा जुलूस का रूट

बड़ी खबरें

काली मां पर टिप्पणी के बाद BJP ने TMC सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत, की गिरफ्तारी की मांगयूपी को बड़ी सौगात, काशी को 1800 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात देंगे पीएम Modi, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का करेंगे लोकार्पणDelhi Shopping Festival: सीएम अरविंद केजरीवाल का बड़ा ऐलान, रोजगार और व्यापार को लेकर अगले साल होगा महोत्सवसलमान के वकील को लॉरेंस गुर्गों की धमकी, मूसेवाला हाल करेंगेशिखर धवन बने टीम इंडिया के नए कप्तान, वेस्टइंडीज दौरे के लिए भारतीय टीम का हुआ ऐलानDGCA का SpiceJet को कारण बताओ नोटिस, 18 दिनों में 8 बार आई प्लेन में खराबीMaharashtra: रात को हुलिया बदलकर निकल जाते थे देवेंद्र फडणवीस, पत्नी अमृता ने किया चौंकाने वाला खुलासाMaharashtr: नासिक में 'सूफी बाबा' ख्वाजा सैय्यद चिश्ती की हत्या, सिर में मारी गई गोली, अफगानिस्तान से था नाता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.