पहले से बिकी हुई जमीन को बेच दिया दूसरे कारोबारी को, करोड़ो की ठगी कर आरोपी फरार

पहले से बिकी हुई जमीन को दूसरे को बेचकर करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी की गई है

By: Deepak Sahu

Published: 30 Dec 2018, 11:06 AM IST

रायपुर. पहले से बिकी हुई जमीन को दूसरे को बेचकर करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी की गई है। पीडि़त कारोबारी की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ अपराध दर्ज किया है। मामला दर्ज होने के बाद से आरोपी फरार है। आरोपी के खिलाफ पहले से कई शिकायतें लंबित हैं।

पुलिस के मुताबिक समता कॉलोनी निवासी लोहा कारोबारी महेंद्र कुमार गुप्ता को वर्ष 2012 में पैसों की आवश्यकता थी। उसने कई लोगों से कर्ज ले रखा था। इसे चुकाने के लिए पैसे का इंतजाम कर रहा था। इस दौरान वह अपनी जमीन और फैक्ट्री को बेचने के लिए ग्राहक की तलाश कर रहा था। इस बीच आमानाका निवासी ललित कुमार अग्रवाल ने उससे संपर्क किया। महेंद्र कुमार ने अपने पांच प्लाट को ललित कुमार को 15 करोड़ रुपए में बेच दिया। इस प्लाट में फैक्ट्री भी था। वर्ष 2012 में महेंद्र ने ललित कुमार के नाम पर पांचों प्लाट का बिक्रीनामा किया।

लेकिन रजिस्ट्री नहीं कराई और कर्जदारों के रकम लौटाने पर रजिस्ट्री करवाने का आश्वासन देता रहा। इस बीच महेंद्र ने पांच प्लाटों में से रामसागरपारा स्थित प्लाट नंबर 54 को वर्ष 2015 में मनोज अग्रवाल को बेच दिया। मनोज ने यह जमीन 88 लाख रुपए में खरीद लिया। पूरी राशि महेंद्र ने अपने पास रख ली, जबकि उस जमीन का बिक्रीनामा ललित के साथ करीब छह साल पहले कर चुका था। इस प्लाट की रजिस्ट्री होने के बाद ललित को इसकी जानकारी हुई।

ललित ने महेंद्र से प्लाट बेचने से मिली राशि की मांग की। उसने राशि देने से इनकार कर दिया। इसकी शिकायत ललित ने एसपी ऑफिस में की। पुलिस ने मामले की जांच की। इसके बाद आजादचौक थाने में आरोपी महेंद्र कुमार गुप्ता के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज कर लिया है।

कारोबारी हुआ फरार
महेंद्र लोहा कारोबारी है। उसने कई व्यापारियों से पैसा लिया हुआ है। उसके खिलाफ आजाद चौक थाने में पुलिस ने धोखाधड़ी का अपराध दर्ज किया है। अपराध दर्ज होने के बाद से महेंद्र फरार हो गया है। पुलिस उसकी तलाश में जुट गई है।

बाकी जमीन भी बेचने की कोशिश
ललित कुमार अग्रवाल ने महेंद्र से अलग-अलग हिस्सों में कुल पांच प्लाट खरीदे हैं। रामसागरपारा स्थित प्लाट को बेचने के बाद वह अन्य प्लाटों को भी बेचने की कोशिश कर रहा है। उल्लेखनीय है कि वर्ष 2012 से जमीन बेचने के बाद से आरोपी ने रजिस्ट्री नहीं कराई और धीरे-धीरे सभी प्लाट को बेचने का प्रयास कर रहा है। पीडि़तों ने थाने में शिकायत करते हुए आरोपी को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है।

Show More
Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned