लोकसभा चुनाव के मतदान से पहले 180 लाइसेंस हथियारधारी गायब , पुलिस की बढ़ी टेंशन

लोकसभा चुनाव के मतदान से पहले 180 लाइसेंस हथियारधारी गायब  , पुलिस की बढ़ी टेंशन

Deepak Sahu | Publish: Apr, 08 2019 09:26:11 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

* राजधानी रायपुर से 180 लाइसेंस हथियारधारी गायब ।
* लोकसभा चुनाव से पहले पुलिस ने जब इन लाइसेंसधारियों की जानकारी निकाली, तब हुआ खुलासा।

 

रायपुर। राजधानी रायपुर से 180 लाइसेंसी हथियारधारी गायब है। लोकसभा चुनाव में पुलिस ने जब इन लाइसेंसधारियों की जानकारी निकाली, तब इसका खुलासा हुआ। अब पुलिसकर्मी लाइसेंसधारी और हथियार का पता लगाने में जुटे हैं। रायपुर पुलिस के अधिकारियों के अनुसार राजधानी रायपुर में 1750 बंदूक-पिस्टल का लाइसेंस राजधानीवासियों को दिया गया है। 1750 लाइसेंसधारियों में 10 महिलाएं भी शामिल हैं। लोकसभा चुनाव आचार संहिता के दौरान शहरवासियों को अपने निकटतम थाने में लाइसेंसी हथियार जमा करवाना था, लेकिन अभी तक 180 लोगों ने हथियार जमा नहीं किया है।

लाइसेंस रद्द करने के लिए पत्र लिखेगी पुलिस

रायपुर पुलिस के अधिकारियों की माने तो लाइसेंस हथियार रखने में नियमों को न मानने वाले और पुलिस को सूचना न देने वाले हथियारधारकों के खिलाफ पुलिस एक्शन लेगी। जिन लाइसेंसधारियों ने पुलिस को अपनी पिस्टल-बंदूक के बारे में जानकारी नहीं दी है, ऐसे हथियारधारकों का लाइसेंस रद्द करने के लिए पुलिस अधिकारी एसडीएम को पत्र लिखेंगे। विधानसभा चुनाव के दौरान भी पुलिस ने इसी प्रक्रिया का पालन किया था। एसडीएम कार्यालय में पुलिस द्वारा लिखे गए पत्र पेंडिंग हैं।

जांच के लिए ये है जरूरी

नेशनल डाटाबेस ऑफ आम्र्स लाइसेंस (नडाल) नंबर और एलीसी नंबर।लाइसेंसधारक का नाम, पिता का नाम, पता और मोबाइल नंबर। लाइसेंस नंबर जारी करने का जिला,स्वीकृत दिनांक, सीमा और वैधता।शस्त्र का प्रकार, रायफल, रिवाल्वर, पिस्टल, एसबीबीएल, डीबीबीएल, डीबीएमएल और अन्य।
शस्त्र जमा की स्थिति, सदर मालखाना, थाने पर, अन्य थाना, दुकान और जमा करने की तिथि। कानून सत्यापन और मौजूदा कारतूसों की कुल संख्या।

पुलिस को ये आ रही दिक्कत

थाना में दर्ज रिकार्ड में हथियारधारक का नाम-पता अस्पष्ट है।
असलहा के रख-रखाव करने वाले रजिस्टर में सही जानकारी उपलब्ध नहीं है।
अस्थायी पते पर लाइसेंसी असलहा लेने वाले लोगों ने अपना ठिकाना बदल लिया है।
नौकरी पेशे में रहने वाले लोगों ने ट्रांसफर के बाद पुलिस को जानकारी नहीं दी, जिस वजह से उनके बारे में पुलिस को पता नहीं है।

रायपुर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रफुल्ल ठाकुर ने कहा, चुनाव के मद्देनजर 80 प्रतिशत लोगों का लाइसेंसी हथियार जमा कर लिया गया है। जिन लोगों ने हथियार अब तक जमा नहीं किया है, उनकी पुलिसर्किमयों द्वारा जांच की जा रही है। नियमों का पालन नहीं करने वाले और निर्देश के बाद भी हथियार निकटतम थाना में जमा नहीं करवाने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned