नौकरी का लालच देकर मलेशिया बुलाकर बनाया बंधक, युवक लगा रहे मदद की गुहार

Deepak Sahu

Publish: Jul, 14 2018 08:50:49 AM (IST)

Raipur, Chhattisgarh, India
नौकरी का लालच देकर मलेशिया बुलाकर बनाया बंधक, युवक लगा रहे मदद की गुहार

तीन लाख लेकर एजेंट ने नौकरी का प्रलोभन देकर 3 माह का टूरिज्म वीजा थमाया

भिलाई. नौकरी करने मलेशिया गए गौतमनगर सुपेला के दो युवकों के बंधक बनाए जाने का मामला सामने आया है। पीडि़त युवकों ने नेट के जरिए ‘पत्रिका’ भिलाई कार्यालय का फोन नंबर तलाश कर मदद मांगी है। उन्होंने बंधक बनाए जाने की फोटो भी भेजी है। मोहम्मद अरमान (27) और मोहम्मद अजीज (23) को मलेशिया के गेल में बन रही फॉरेस्ट सिटी के एक घर में कैद कर रखा गया है। बताया जाता है कि नौकरी की तलाश कर रहे पांचवी और आठवीं तक पढ़े दोनों युवक जोन-3 खुर्सीपार में रहने वाले एजेंट माधव राव के संपर्क में आए। माधव ने मलेशिया की एक ऑयल कंपनी में 35 हजार की तनख्वाह में नौकरी दिलाने का भरोसा दिलाया। माधव के झांसे में आकर युवकों के परिजनों ने डेढ़-डेढ़ लाख रुपए दे दिए।

अरमान ने ‘पत्रिका’ को बताया कि बिना कोई दस्तावेज दिए माधव उन्हें चेन्नई अपने दोस्त के घर ले गया, फिर वहां से हैदराबाद एयरपोर्ट पर पासपोर्ट और वीजा देकर मलेशिया भेज दिया। एयरपोर्ट पर माधव ने कहा था कि कोई पूछे तो कहना कि अंकल रहते हैं, उनसे मिलने जा रहे हैं। मलेशिया में उसका दोस्त (एजेंट) एयरपोर्ट पर लेने आएगा। अरमान ने बताया कि 20 जून को एयरपोर्ट से टैक्सी ड्राइवर ने उन्हें एजेंट तक पहुंचा। वहां पता चला कि उनका टूरिज्म वीजा बनाया गया है।

घर में कर रखा है कैद : अरमान ने बताया कि चेन्नई के रहने वाला माधव का दोस्त कुछ दिनों तक इधर-उधर घुमाता रहा और फिर एक घर में कैद कर दिया। कहीं जाता है तो दरवाजे पर ताला लगा देता है। उन्हें दो दिन से खाना भी नहीं मिला है। युवकों ने बताया कि उनका पासपोर्ट माधव के दोस्त ने रख लिया है। तीन माह का टूरिज्म्म वीजा के अलावा उनके पास कोई दस्तावेज नहीं है। डर लगता है कि बाहर निकलने पर पुलिस जेल में ठूंस देगी। अरमान ने बताया कि माधव का मोबाइल बंद है। वह आंध्रप्रदेश भाग गया है।

सुरक्षित पहुंचने की व्यवस्था करवा दीजिए
शुक्रवार दोपहर 1.40 बजे ‘पत्रिका’ भिलाई कार्यालय में एक फोन आया। अरमान ने अपना परिचय देते हुए पूरे मामले की जानकारी देते हुए मलेशिया में फंसे होने की बात कही। अरमान ने अपने घर का पता और मोबाइल नंबर भी दिया। अरमान के दिए गए पते पर जब ‘पत्रिका’ टीम पहुंची तो उसकी मां सलमा बेगम मिली। उन्होंने बताया कि उनका बेटा मलेशिया गया है। अरमान से दोबारा बात करने पर उसने कहा कि सुरक्षित इंडिया पहुंचने में आप लोग पूरी मदद करेंगे न? यहां तक भी पूछा है कि आप लोग क्या प्र्रयास कर रहे हैं और कहां-कहां बात हो गई है।

Ad Block is Banned