पूर्व CM के बेटे अभिषेक सिंह समेत 20 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज, करोड़ों का घोटाला मामला

पूर्व CM के बेटे अभिषेक सिंह समेत 20 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज, करोड़ों का घोटाला मामला

Chandu Nirmalkar | Updated: 18 Jun 2019, 03:38:11 PM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

अभिषेक सिंह समेत 20 के खिलाफ अनमोल फाइनेंस (Anmol india finance) से जुड़े 13 अन्य मामलों में जांच के आदेश दे दिए थे। इसके बाद आज अंबिकापुर (Ambikapur) के कोतवाली पुलिस (Chhattisgarh police) ने अभिषेक सिंह, राजनांदगांव के महापौर मधुसूदन यादव, पूर्व महापौर नरेश डाकलिया सहित 20 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज किया है।

रायपुर. अनमोल इंडिया (Anmol India Chit Fraud case) नामक चिटफंड कंपनी (Chit Fund company) द्वारा किए गए करोड़ों के घोटाले में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह (Ex CM Raman Singh ) के पुत्र और पूर्व सांसद अभिषेक सिंह (Abhishek Singh) के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज कर लिया है। अदालत (Court) ने अभिषेक सिंह समेत 20 के खिलाफ अनमोल फाइनेंस (Anmol india finance) से जुड़े 13 अन्य मामलों में जांच के आदेश दे दिए थे। इसके बाद आज अंबिकापुर (Ambikapur) के कोतवाली पुलिस (Chhattisgarh police) ने अभिषेक सिंह, राजनांदगांव के महापौर मधुसूदन यादव, पूर्व महापौर नरेश डाकलिया सहित 20 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का अपराध दर्ज किया है।

 

आपको बात दें कि अंबिकापुर जिला अदालत के विशेष न्यायाधीश बी पी वर्मा ने सम्बंधित थानों को चिटफंड कंपनी के ठगी के शिकार लोगों द्वारा की गई शिकायत के आधार पर जांच करके जल्द से जल्द अंतिम प्रतिवेदन प्रस्तुत करने को कहा था, जिसके बाद आज मामला दर्ज कर लिया गया।


अलग - अलग मामलों में आवेदकों का आरोप है कि हम लोगों ने इन्ही स्टार प्रचारकों के बहकावे में आकर निवेश किया था जिसके बाद कंपनी उनकी मेहनत की कमाई लेकर फरार हो गई है । न्यायालय द्वारा इस मामले में जिन लोगों के खिलाफ जांच के आदेश दिए गए हैं उनमे राजनांदगांव के पूर्व सांसद मधुसूदन यादव , पूर्व महापौर नरेश ढाकलिया का नाम भी शामिल है।

सेबी को भी दी झूठी जानकारी
यह बात काबिलेगौर हैं कि सेबी ने 19 मई 2016 को ही कंपनी के प्रोमोटर, निदेशक और अन्य कर्मियों के खिलाफ आपराधिक धाराओं में मुकदमा पंजीकृत करने के आदेश दिए थे साथ ही अनमोल इंडिया एग्रो हर्बल फार्मिंग और डेयरीज केयर कंपनी लिमिटेड के व्यवसाय पर प्रतिबन्ध लगाकर निवेशकों का पूरा पैसा लौटाने को कहा था ।

लेकिन पुलिस द्वारा केवल निदेशक मंडल में शामिल कुछ लोगों के खिलाफ मुकदमा करके अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर ली गई वहीँ निवेशकों का पैसा लौटाने को लेकर भी कोई गंभीर प्रयास नहीं किये गए। दिलचस्प यह है कि कंपनी ने सेबी में बयान दिया था कि हमने निवेशकों द्वारा जमा की गई 68 फीसदी की रकम वापस कर दी है । केवल इतना ही नहीं 12 हजार 365 निवेशकों का पैसा वापस कर दिया गया है लेकिन जब इस दावे की जांच कराई गई तो वो झूठे निकले ।

यह भी पढ़ें : Anmol India Case

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App.

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned