छपोराडीह में आ पहुंचा 21 हाथियों का दल, फसलों को किया बर्बाद

महासमुंद जिले में गजराज का आतंक
हाथियों का दल पीढ़ी बांध के पास, ग्रामीणों में दहशत बरकरार
वन विभाग ने ग्रामीणों से की घर में ही रहने की अपील

By: ramdayal sao

Published: 18 Apr 2020, 06:54 PM IST

raipur/महासमुंद. गांवों में हाथियों का लगातार उत्पात जारी है। फसल बर्बादी को लेकर किसानों की मुश्किलें बढ़ गई हैं। गुरुवार की रात 21 हाथियों के दल ने छपोराडीह में फसल को नुकसान पहुंचाया है।
खिरसाली में भी हाथियों के उत्पात से फसल को क्षति पहुंची है। मिली जानकारी के अनुसार हाथियों के समूह ने छपोराहडीह के गजानंद पटेल, चेतन साहू, बेदराम ध्रुव, रथराम साहू, पुरुषोत्तम साहू और सियाराम यादव के खेतों में धान की फसलों को नुकसान पहुंचाया। हाथी भगाओ, फसल बचाओ समिति के संयोजक राधेलाल सिन्हा ने बताया कि गुरुवार की शाम रेडियो कॉलर लोकेशन के आधार पर 21 हाथियों का दल लहंगर के मरघट नाला के पास से सडक़ पारकर पीढ़ी या मोहकम की ओर बढ़ रहे थे।

अचानक दिशा बदल कर पीढ़ी बांध को पार करते हुए छपोराडीह के नाला किनारे लगे खेतों में पहुंच कर धान की फसल को नुकसान पहुंचाया है। इसके बाद हाथियों का दल सुबह बांसकुड़ा की तरफ बढ़ गए। महुआ बीनने गए ग्रामीणों ने हाथियों को देखा। इसके बाद ग्रामीणों में अफरा-तफरी मच गई। फोन पर एक-दूसरे को सूचना देने लगे। फिलहाल, हाथी अभी लहंगर, गुड़रूडीह के बीच कुकरीगुड़ा जंगल के आस-पास देखा गया। ग्राम लहंगर, गुड़रूडीह, बासकुड़ा, बिरबिरा, छपोराडीह के आस-पास गांवों को सतर्क किया गया है। वहीं दो दंतैल के कुकराडीह में होने की जानकारी मिल रही है। ग्रामीणों ने बताया कि लगभग 6 एकड़ की फसल को हाथियों ने नुकसान पहुंचाया है।
वनोपज एकत्रित करने वाले ग्रामीणों में दहशत
हाथी लगातार भोजन व पानी की तलाश में विचरण कर रहे हंै। ऐसे में वनोपज एकत्रित करने वाले ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। वन विभाग ने भी ग्रामीणों को अलसुबह जंगल की ओर जाने से मना किया है और लॉक डाउन होने के बावजूद लोग घर से बाहर निकल रहे हैं। वन विभाग लोगों को जागरूक कर रहा है, लेकिन इसका असर नहीं दिख रहा है।

ramdayal sao Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned