script25 vehicles parked in the police station due to cigarette fire | सिगरेट से लगी आग से थाने में खड़ी 25 गाडिय़ां खाक, दो घंटे में काबू | Patrika News

सिगरेट से लगी आग से थाने में खड़ी 25 गाडिय़ां खाक, दो घंटे में काबू

मोवा थाना परिसर में नहीं है सुरक्षित घेरा

रायपुर

Updated: April 01, 2022 01:38:02 am

रायपुर. मोवा थाना परिसर में रखी जब्ती की गाडिय़ों में अचानक भीषण आग लग गई। आग इतनी तेजी से फैली कि देखते ही देखते दो दर्जन से ज्यादा वाहन स्वाहा हो गए। आग लगने की वजह अज्ञात व्यक्ति द्वारा जलते हुए सिगरेट को कचरे में फेंकना बताया जा रहा है। इससे सुलगी आग तेजी से फैल गई। आगजनी से थाने में अफरातफरी मच गई। आगजनी में लाखों का नुकसान हुआ है। फायर बिग्रेड के मौके पर पहुंचने के बाद करीब दो घंटे में आग को बुझा लिया गया। आग में जली गाडिय़ां हत्या से लेकर दुर्घटना में मौत के मामलों से जुड़ी हैं। और महत्वपूर्ण साक्ष्य के तौर पर इन्हें थाने में रखा गया था। आगजनी की घटना ने शहर के थानों में जब्त वाहनों की सुरक्षा व्यवस्था की पोल खोल दी है।
पुलिस के मुताबिक मोवा थाना परिसर में विभिन्न अपराधों में जब्त दोपहिया-चौपहिया, ऑटो आदि को रखा गया है। गुरुवार दोपहर करीब 12 बजे नगर निगम वाले हिस्से से लगी वाहनों में अचानक आग सुलग गई। और आग तेजी से फैलते हुए एक के बाद एक दूसरी गाडिय़ों में फैलते चली गई। तेज गर्मी की वजह से आग और जल्दी फैलती चली गई। इसकी सूचना मिलने पर फायर बिग्रेड की गाडिय़ां मौके पर पहुंची। और आग को बुझाना शुरू कर दिया। करीब 2 घंटे की मशक्कत के बाद आग को बुझा लिया गया।
पास ही में निगम का जोन कार्यालय
जिस जगह पर आग लगी, उस स्थान पर पुरानी जब्ती की गाडिय़ां खड़ी थी। और काफी कचरा भी जमा हो गया था। उसी से लगा हिस्सा नगर निगम के जोन कार्यालय का है। गुरुवार को बड़ी संख्या में लोग प्रापर्टी टैक्स जमा करने पहुंचे थे। इससे काफी भीड़ थी। आशंका है कि किसी ने सिगरेट पीने के बाद आधी जली सिगरेट कचरे में फेंक दिया। इससे आग लग गई और वाहनों में फैल गई। फिलहाल पुलिस आग लगने की वजह स्पष्ट नहीं कर पाई है। थाना परिसर में लगी आग से 4 सवारी ऑटो, 5 कार और 16 मोटरसाइकिलें जलकर खाक हो गईं। इसमें एक बाइक हत्या से जुड़े मामले की भी है। इसके अलावा दुर्घटना व अन्य मामलों से जुड़े वाहन थे। उल्लेखनीय है कि किसी भी अपराध में जब्त वाहन महत्वपूर्ण साक्ष्य के तौर पर माना जाता है।
अपराध में वाहन का इस्तेमाल किया गया होता है, इसलिए उस मामले के न्यायालय में निराकरण होने तक वाहन को सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी थाने की होती है।
सुरक्षा व्यवस्था की खुली पोल
मोवा थाना परिसर में सुरक्षा घेरा नहीं है। जब्ती के वाहन खुले में रखे जाते हैं। कई वाहनों से पार्टस भी चोरी हो जाते हैं। इन वाहनों को सुरक्षित रखने कोई व्यवस्था नहीं की जाती है। रायपुर के विभिन्न थानों में करोड़ों के वाहन खुले में ही पड़े हैं।
सिगरेट से लगी आग से थाने में खड़ी 25 गाडिय़ां खाक, दो घंटे में काबू
सिगरेट से लगी आग से थाने में खड़ी 25 गाडिय़ां खाक, दो घंटे में काबू

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.