script28 july ko mnaya jayega hrili parw, gomutra ki hogi kharidi | पशुमालिकों की अर्थव्यवस्था को मजबूत करेगा लोकपर्व ‘हरेली’ | Patrika News

पशुमालिकों की अर्थव्यवस्था को मजबूत करेगा लोकपर्व ‘हरेली’

ग्रामीण जनजीवन में रचा-बसा खेती-किसानी से जुड़ा पहला त्योहार ‘हरेली’ है। सावन मास की अमावस्या 28 जुलाई को मनाया जाने वाला यह त्योहार वास्तव में प्रकृति के प्रति प्रेम और समर्पण का लोकपर्व है। हरेली के दिन किसान अच्छी फसल की कामना के लिए आभार व्यक्त करते हैं। सभी लोग बारिश के आगमन के साथ चारों ओर बिखरी हरियाली और नई फसल का उत्साह से स्वागत करते हैं।

रायपुर

Published: July 27, 2022 04:52:37 pm

खरोरा। ग्रामीण जनजीवन में रचा-बसा खेती-किसानी से जुड़ा पहला त्योहार ‘हरेली’ है। सावन मास की अमावस्या 28 जुलाई को मनाया जाने वाला यह त्योहार वास्तव में प्रकृति के प्रति प्रेम और समर्पण का लोकपर्व है। हरेली के दिन किसान अच्छी फसल की कामना के लिए आभार व्यक्त करते हैं। सभी लोग बारिश के आगमन के साथ चारों ओर बिखरी हरियाली और नई फसल का उत्साह से स्वागत करते हैं। हरेली पर्व को छोटे से बड़े तक सभी उत्साह और उमंग से मनाते हैं। गांवों में हरेली के दिन हल, गैंती, कुदाली,फावड़ा समेत खेती-किसानी से जुड़े सभी औजारों, खेतों और गोधन की पूजा की जाती है। सभी घरों में चीला, गुलगुल भजिया का प्रसाद बनाया जाता है।
पूजा-अर्चना के बाद गांव के चौक-चौराहों में गांववासियों को जुटना शुरू हो जाता है।् यहां गेड़ी दौड़, नारियल फेंक, मटकी फोड़, रस्साकसी जैसी प्रतियोगिताएं देर तक चलती रहती हैं। लोग पारंपरिक तरीके से गेड़ी चढक़र खुशियां मनाते हैं। गांव के बुजुर्ग बताते हैं कि बरसात के दिनों में पानी और कीचड़ से बचने के लिए गेड़ी चढ़ऩे का प्रचलन रहा है, जो समय के साथ परंपरा में परिवर्तित हो गया। हरेली में लोहारों द्वारा घर के मुख्य दरवाजे पर कील ठोककर और नीम की पत्तियां लगाने का रिवाज है। मान्यता है कि इससे घर-परिवार अनिष्ट से बचे रहते हैं।
नई पीढ़ी के युवा भी अपनी पुरातन परंपराओं से जुडऩे लगे हैं। सरकार ने हरेली त्योहार के दिन सार्वजनिक अवकाश घोषित किया गया है। इस साल से नगर परिक्षेत्र के स्कूलों में हरेली तिहार को विशेष रूप से मनाने की शुरुआत की जा रही है। इससे बच्चे न सिर्फ अपनी कृषि संस्कृति को समझेंगे, उसका सक्रिय हिस्सा बनेंगे, बल्कि अपनी संस्कृति के मूल भाव को आत्मसात भी कर सकेंगे। साथ ही स्कूलों में गेड़ी दौड़, पौधरोपण, पर्यावरण संरक्षण पर संगोष्ठी जैसे आयोजनों से बच्चों में अपनी संस्कृति और प्रकृति के प्रति प्रेम विकसित होगा। मोहन, नरेश, देवानंद, तामेश्वरनाथ ने बताया कि हरेली त्योहार अब पहले की अपेक्षा नगरों में भी धूमधाम से मनाया जाने लगा है।
गोधन न्याय योजना ने गांव की अर्थव्यवस्था को किया मजबूत
राज्य सरकार ने दो साल पहले यानी साल 2020 में हरेली के दिन ‘गोधन न्याय योजना’ शुरू की थी। गोबर खरीदी की यह योजना गांवों की अर्थव्यवस्था के लिए एक मजबूत आधार तैयार करेगी। आज यह ग्रामीण अंचल की बेहद लोकप्रिय योजना साबित हुई है। इस अनूठी योजना के तहत सरकार ने गोबर को ग्रामीणों की आय का नया जरिया बनाया और किसानों और पशुपालकों से दो रुपए की दर से गोबर खरीदी शुरू की।
हरेली तिहार से गोमूत्र खरीदी की शुरुआत
राज्य सरकार इस साल हरेली तिहार से गोठानों में 4 रुपए प्रति लीटर की दर से गोमूत्र की खरीदी की शुरुआत करने जा रही है। इसकी तैयारी भी नगर परिक्षेत्र में देखने को मिल रही है। इस गोमूत्र से महिला स्व.सहायता समूह द्वारा जीवामृत और कीट नियंत्रक उत्पाद तैयार किए जाएंगे। गोमूत्र से बने कीट नियंत्रक उत्पाद का उपयोग किसान भाई रासायनिक कीटनाशक के बदले कर सकेंगे, जिससे खाद्यान्न की विषाक्तता में कमी आएगी और महंगे रासायनिक कीटनाशकों पर निर्भरता कम होगी। राधेश्याम, संतोष, राजकुमार, लक्ष्मण ने बताया कि गोमूत्र खरीदी से आर्थिक स्थिति और मजबूत होगी।
पशुमालिकों की अर्थव्यवस्था को मजबूत करेगा लोकपर्व ‘हरेली’, 4 रुपए प्रति लीटर की दर से खरीदा जाएगा गोमूत्र
पशुमालिकों की अर्थव्यवस्था को मजबूत करेगा लोकपर्व ‘हरेली’, 4 रुपए प्रति लीटर की दर से खरीदा जाएगा गोमूत्र

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

जाने-माने लेखक सलमान रुश्दी पर न्यूयॉर्क में जानलेवा हमला, चाकुओं से गोदकर किया घायलमनीष सिसोदिया का BJP पर निशाना, कहा - 'रेवड़ी बोलकर मजाक उड़ाने वाले चला रहे दोस्तवादी मॉडल'सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले तेजस्वी यादव- 'नीतीश जी का हमसे हाथ मिलाना BJP के मुंह पर तमाचे की तरह''स्मोक वार्निंग' के कारण मालदीव जा रही 'गो फर्स्ट' की फ्लाइट की हुई कोयंबटूर में इमरजेंसी लैंडिंगHimachal Pradesh News: रामपुर के रनपु गांव में लैंडस्लाइड से एक महिला की मौत, 4 घायलMaharashtra Politics: चंद्रशेखर बावनकुले बने महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष, आशीष शेलार को मिली मुंबई की कमानममता बनर्जी को बड़ा झटका, TMC के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पवन वर्मा ने पार्टी से दिया इस्तीफामाकपा विधायक ने दिया विवादित बयान, जम्मू-कश्मीर को बताया 'भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.