योद्धाओं पर कोरोना अटैक: एम्स के 3 डॉक्टर और टीआई समेत परिवार के 4 लोग संक्रमित

छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस तेजी से कोरोना वॉरियर्स (योद्धाओं) और उनके परिवार को अपनी चपेट में ले रहा है। शुक्रवार को जारी हुई कोरोना रिपोर्ट में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) रायपुर में सेवारत तीन डॉक्टर कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। जिनमें एक सीनियर (एसआर) और दो जूनियर रेसीडेंट (जेआर) हैं। जानकारी के मुताबिक सीनियर रेसीडेंट गर्भवती हैं। ये सभी लोटस वैली अपार्टमेंट टाटीबंध में रहते हैं। एम्स में मेडिकल स्टाफ के संक्रमित होने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है।

By: Dhal Singh

Published: 26 Jun 2020, 08:48 PM IST

रायपुर. पूरी आशंका है कि कहीं न कहीं प्रोटोकॉल का पालन करने या करवाने में चूक हो रही है। उधर, बीते दिनों रायपुर स्थित पुरानी बस्ती थाना प्रभारी (टीआई) के सास-ससुर दूसरे प्रदेश से लौटे थे, जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इसके बाद थाना सील कर दिया गया था। सभी स्टाफ को क्वारंटाइन करवा दिया गया था। सैंपलिंग भी ली गई थी। रिपोर्ट में टीआई) उनके दो बेटे और साले की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। भनपुरी में पदस्थ एक ट्रैफिक पुलिस का जवान और राजनांदगांव में पदस्थ एक थाना प्रभारी का ड्राइवर भी पॉजिटिव पाया गया है, जो मोवा रायपुर का रहने वाला है। जर्मन से लौटी डीडीनगर रायपुर निवासी एक महिला, बिहार से लौटा युवक, खम्हारडीह में मोबाइल दुकानदार भी संक्रमित मिला है। सोमवार को जारी हुई रिपोर्ट में कुल 37 मरीज मिले हैं, जिनमें सर्वाधिक 14 मरीज दुर्ग और 12 रायपुर जिले से हैं। प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 2493 जा पहुंची है।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, रायपुर के कोविड-19 वार्ड से 19 रोगियों को शुक्रवार को डिस्चार्ज किया गया। इसके साथ ही पांच नए रोगियों को एडमिट किया गया है। यहां &4 रोगी कोविड-19 पॉजीटिव पाए गए और कोमोर्बिडीटी और कोविड-19 की वजह से एक मृत्यु भी हुई।

प्रदेश में कोरोना से 13वीं मौत
एम्स में भर्ती जांजगीर-चांपा निवासी 38 वर्षीय व्यक्ति रपचर्ड लिवर एबसेस, सेप्टिक शॉक, किडनी इनवोलवमेंट विद एबडोमिनल पैन के साथ कोविड-19 पॉजीटिव भी पाया गया था। शुक्रवार की दोपहर एक बजे उसने अंतिम सांस ली। प्रदेश में अब तक कोरोना 13 जानें ले चुका है। इनमें 9 मरीज किसी न किसी दूसरी बीमारी से ग्रसित थे, जिन्हें बाद में कोरोना संक्रमण हुआ।

20 गर्भवती कोरोना पॉजिटिव, जिनका इलाज एम्स में जारी
एम्स में वर्तमान में 120 मरीजों का इलाज जारी है। जिनमें 20 गर्भवती महिलाएं शामिल हैं जो अलग-अलग जिलों से एम्स में भर्ती करवाई गई हैं। ये हाईरिस्क केटेगरी में आती हैं। इसलिए इनके इलाज में पूरी सावधानी बरती जा रही है। इलाज इस प्रकार से किया जा रहा है कि गर्भ में पल रहे शिशु को कोई नुकसान न पहुंचे। वहीं यहां 38 बच्चे भी भर्ती हैं।

Dhal Singh Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned