सहारा इंडिया में तीन करोड़ से अधिक की ठगी, 3 नाइजीरियन नागरिक गिरफ्तार

सहारा इंडिया के कैशियर से तीन करोड़ से अधिक की ठगी करने वाले तीन विदेशी आरोपियों को पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार किया है

By: चंदू निर्मलकर

Published: 20 Aug 2017, 07:49 PM IST

रायपुर. सहारा इंडिया के कैशियर से तीन करोड़ से अधिक की ठगी करने वाले तीन विदेशी आरोपियों को पुलिस ने दिल्ली से गिरफ्तार किया है। एक विदेशी नागरिक फरार है। इससे पहले गिरोह के तीन आरोपियों को पुलिस ने पकड़ा था। आरोपियों के पास से बड़ी संख्या में मोबाइल, लैपटॉप और बैंक खाते मिले हैं। मामले की विस्तृत जांच के बाद आरोपियों की संख्या और बढ़ेगी।

मामले का रविवार को खुलासा करते हुए एसपी डॉ.संजीव शुक्ला ने बताया कि नाइजीरियन नागरिक फिडेलिस हैरिस इकेचु, मार्टिन योबन्ना न्वासोलिया, रापुलुचूक्वू इवारिस्टस नवावुजे दिल्ली के खुस्तर परवेज उर्फ अनवर, फिरोज अहमद और विनोद पासवान के साथ मिलकर ठगी करते थे। आरोपियों ने सहारा इंडिया के कैशियर प्रदीप बड़ोले को लाखों डॉलर देने का झांसा देकर ३ करोड़ से अधिक की राशि ठग लिया था। पूरी राशि अलग-अलग बैंक खातों में ट्रांसफर करवाए थे। मामले की जांच के दौरान मौदहापारा पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने प्रारंभ में खाताधारक विनोद, फिरोज अहमद और खुस्तर परवेज उर्फ अनवर को पकड़ा था। उससे पूछताछ के बाद नाइजीरियन गिरोह का खुलासा हुआ और तीन विदेशियों को दिल्ली से पकड़ा गया। सभी दिल्ली में पिछले कई सालों से रह रहे हैं और देशभर में ठगी करते हैं।

आरोपियों से जब्त सामान
आरोपियों के पास से पुलिस ने 24 लाख रुपए नगद, 30 मोबाइल, 12 सिमकार्ड, बैंक के 4 पासबुक, 5 लैपटॉप, 8 चेकबुक बरामद हुआ है।

क्या है मामला

आरोपियों ने प्लानिंग के तहत कैशियर प्रदीप बड़ोले को अप्रैल माह में एक ई-मेल भेजा था, जिसमें खुद को अफगानिस्तान में तैनात अमेरीकी सैनिक मवीस जेक बताया और मानव सेवा के लिए लाखों डॉलर एकत्र करके एक बॉक्स में रखने की जानकारी दी। इस राशि का वह अपने देश में नहीं भेज पा रहा है।

इसकी कस्टम ड्यूटी जमा करके इसे छुड़ा ले। इसके बाद पूरी राशि में 20 फीसदी कमीशन प्रदीप को दिया जाएगा। प्रदीप उसके झांसे में आ गया। इसके बाद 36 किस्तों में ठगों के 26 बैंक खातों में सहारा इंडिया के 3 करोड़ से अधिक राशि जमा कर दिए। बाद में ठगों ने अपना मोबाइल नंबर बंद कर दिया और न ही डॉलर वाला बॉक्स दिया। मामले का खुलासा होने पर बैंक प्रबंधन ने थाने में शिकायत की। पुलिस ने प्रदीप को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

चंदू निर्मलकर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned