बैंड-बाजा-बारात के बिना 300 जोड़ों की होगी शादी, प्रशासन ने दी अनुमति

दुर्ग : 14 शर्तों का पालन करने की शर्त पर प्रशासन ने दी अनुमति

By: ramdayal sao

Published: 06 May 2020, 02:03 AM IST

raipur/ दुर्ग . कोरोना संकट के बीच विवाह का इंतजार कर रहे जोड़ों के लिए अच्छी खबर है। जिला प्रशासन ने ऐसे 300 जोड़ों को शादी करने की सशर्त हरी झंडी दे दी है। इनमें से अधिकांश शादियां 17 से 19 मई को है। जोड़े केवल 12 लोगों की मौजूदगी में सादगी के साथ फेरे ले सकेंगे। इस दौरान न समारोह होगा और न ही बैंड, बाजा अथवा बाराती शामिल किए जा सकेंगे। जिला प्रशासन ने आवेदन के आधार पर यह अनुमति दी है।
प्रदेश में यह समय शादी-ब्याह का है। यहां खेती-बाड़ी से फारिग होने के बाद ग्रीष्म में यानि अप्रैल से जून में बारिश आने से पहले तक शादी-ब्याह का चलन है, लेकिन कोरोना संकट के कारण पिछले 43 दिन से जिले में धारा 144 के साथ लॉक डाउन लागू है। इसमें सभी तरह के सभा-समारोहों व आयोजनों के साथ शादी समारोहों को भी प्रतिबंधित कर दिया गया है। जिला प्रशासन द्वारा विशेष परिस्थितियों में शर्तों के साथ शादी की अनुमति दी जा रही है। इसी के तहत आवेदन करने वालों को शर्त के साथ यह अनुमति दी गई है।
अब भी हर दिन आठ से 10 आवेदन : जिला प्रशासन के बाद अब भी हर दिन औसत 8 से 10 आवेदन पहुंच रहे हैं। आवेदन करने वाले अधिकतर लोगों का तर्क है कि लॉक डाउन के कारण पहले ही शादी आगे बढ़ा चुके हैं। वहीं अब
समय निकल जाने के बाद विवाह में परेशानी होगी। इसके अलावा सगाई की रस्म पूरी हो जाने के
कारण सामाजिक व्यवस्था भी प्रभावित होगी।
थोक में आवेदन इसलिए दी अनुमति
शादी-ब्याह के सीजन के कारण अनुमति के लिए लॉकडाउन के पहले ही दिन से आवेदनों का क्रम चल रहा है। इसके कारण प्रशासन के पास थोक में 300 से ज्यादा आवेदन जमा हो गए हैं। अब तक प्रशासन द्वारा प्रत्येक स्थिति की पड़ताल के बाद गिनती के लोगों को अनुमति दी जा रही थी, लेकिन आवेदनों की ज्यादा संख्या को देखते हुए अब एक साथ अनुमति जारी की गई है।
इनका करना होगा पालन
केवल 12 लोग शामिल हो सकेंगे समारोह में।
यथासंभव वर अथवा वधू के निवास में विवाह।
कार्यक्रम पूरी तरह सादगी पूर्ण होगा।
कैटरिंग, बैंड बाजा का उपयोग नहीं।
बारात नहीं निकाली जाएगी।
सभी के लिए मास्क अनिवार्य।
सार्वजनिक जगह पर विवाह नहीं।
थाना प्रभारी को देनी होगी सूचना
घर पहुंचकर सभी का होम आइसोलेशन अनिवार्य।
स्वास्थ्य मंत्रालय के एसओपी का पूर्णत: पालन।
आवेदन में तथ्य व जानकारी सही हो।
संबंधित जिले के एसपी व कलेक्टर को नियमानुसार सूचना।

- विवाह की अनुमति के लिए करीब 300 आवेदन मिल चुके हैं। सभी को सशर्त अनुमति दी गई है। 14 बिंदुओं का शर्त सभी के लिए पालन अनिवार्य होगा। ऐसा नहीं किए जाने की शिकायत मिली तो कार्रवाई की जाएगी।
गजेंद्रसिंह ठाकुर,
- एडीएम दुर्ग

ramdayal sao Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned