सर्दियों में अधिक खाई जाती हैं मूंगफली, इसकी हैं ये 5 खास वजह

क्या आपने कभी सोचा है कि मूंगफली तो पूरे साल मिलती है। लेकिन सर्दियों में ही इसका सेवन अधिक क्यों किया जाता है? यहां जानें इसकी खास 5 वजह...

By: lalit sahu

Published: 27 Nov 2020, 08:14 PM IST

मूंगफली को आप प्रोटीन और फाइबर का गोदाम भी कह सकते हैं! जी हां, छोटे-छोटे से प्राकृतिक सुरक्षा कवचों में बंद सुंदर-स्वादिष्ट और सुगंधित मूंगफली के दानों को गरीबों का काजू भी कहा जाता है। क्या आपने कभी इस बात पर गौर किया है कि मूंगफली आती तो हर मौसम में हैं। लेकिन सर्दियों में ही इनका सबसे अधिक सेवन क्यों किया जाता है?

मूंगफली में होते हैं ये गुण
मूंगफली में ऐंटिऑक्सीडेंट्स
विटमिन्स
मैग्नीशियम
मैग्नीज
कैल्शियम
बीटा कैरोटीन जैसे गुण पाए जाते हैं। ये सभी तत्व शरीर को पोषण देते हैं और ठंड के प्रभाव से बचाते हैं।


शरीर में रक्त का प्रवाह बढ़ाती है मूंगफली
मूंगफली खाने के लाभ
मूंगफली में मैग्नीज और कैल्शियम दोनों पाए जाते हैं। इसलिए मूंगफली खाने से इन तत्वों के कारण शरीर को दो तरह का लाभ मिलता है। जैसे मैग्नीज हड्डियों के अंदर कैल्शियम के अवशोषण की प्रक्रिया को तेज करने में सहायता करता है। बचाव की तो कोई भी गारंटी नहीं है लेकिन कोरोना का रिस्क बेहद कम कर देती है यह एक चीज
इससे हड्डियां मजबूत बनती हैं। साथ ही मैग्नीश रक्त में ब्लड शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने का काम करता है। इससे शरीर में शुगर का स्तर सामान्य बनाए रखने में सहायता मिलती है।

सर्दियों में इसलिए है अधिक जरूरी
सर्दियों के मौसम में मूंगफली खाने से शरीर पर ठंड का प्रभाव नहीं होता है। इससे आप सर्दी, जुकाम और फ्लू फैलाने वाले वायरसों की चपेट में नहीं आते हैं। क्योंकि मूंगफली आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता में भी वृद्धि करती है।

सर्दियों में मूंगफली खाने के कारण
सर्दियों में खांसी होना आम बात है। यदि आप हर दिन एक से दो मु_ी मूंगफली खाएंगे तो खांसी की समस्या से बचे रह सकते हैं। लेकिन यदि एक बार खांसी हो जाए तो खांसी के दौरान मूंगफली ना खाएं नहीं तो खांसी बढ़ सकती है। जब खांसी ठीक हो जाए, उसके बाद मूंगफली का सेवन करें।

सर्दियों में दिल के रोगों से बचाए
आपने एक बात जरूर नोटिस की होगी कि हार्ट अटैक, हार्ट स्ट्रोक या ब्रेन हेमरेज केस अधिक सामने आते हैं। ऐसा व्यक्ति की लाइफस्टाइल, उसके शरीर पर ठंड के असर और कोलेस्ट्रोल के बिगड़े स्तर के कारण होता है। ये इन समस्याओं की मुख्य वजह हैं।

लेकिन मूंगफली के नियमित और सीमित सेवन से इन बीमारियों को नियंत्रित किया जा सकता है। क्योंकि मूंगफली में शरीर को गर्म रखने की क्षमता तो होती ही है, साथ ही मोनोअनसैचुरेटेड फैटी एसिड भी होता है। जो शरीर के अंदर बैड कोलेस्ट्रॉल को कम करके गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाने का काम करता है।

मूंगफली खाने से स्वस्थ रहता है हृदय
मूंगफली का सेवन हमारे मेटाबॉलिज़म और मांसपेशियों को संतुलित रखने का काम करता है। मूंगफली में पाया जाने वाला बीटा कैरोटीन त्वचा की एक-एक कोशिका तक रक्त के प्रवाह को सुनिश्चित करता है। इससे त्वचा में नमी बनी रहती है और त्वचा निरोग रहती है।

lalit sahu Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned