छत्तीसगढ़ में रोज 100 लोगों को लगेगी कोरोना वैक्सीन,सीरम इंस्टीट्यूट से कल पहुंचेगी पहली खेप

- छत्तीसगढ़ में 1349 केंद्र बनाए गए हैं और 7116 वैक्सीनेटरों को इसके लिए प्रशिक्षण दिया गया है।

By: Bhupesh Tripathi

Published: 12 Jan 2021, 12:57 PM IST

रायपुर. छत्तीसगढ़ सरकार कोविड वैक्सीनेशन (corona vaccination) की तैयारी में लगा है। हेल्थ मिनिस्टर टीएस सिंहदेव के अनुसार 13 जनवरी तक वैक्सीन की पहली खेप रायपुर पहुंच जाएगी। सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ हुई बैठक के बाद छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव (TS Singhdeo) ने बताया, छत्तीसगढ़ में ऑक्सफोर्ड में विकसित सीरम इंस्टीट्यूट की कोविशील्ड वैक्सीन ही आएगी। कल तक लगभग 50 हजार वैक्सीन पहुंचने का अनुमान लगाया जा रहा है।

मंत्री टीएस सिंहदेव ने जानकारी देते हुए कहा वैक्सीन की डोज अभी तय नहीं हुई है। पहले चरण का वैक्सीनेशन 16 जनवरी से शुरू हो रहा है। पहले चरण में छत्तीसगढ़ के 2 लाख 67 हजार स्वास्थ्य कर्मियों, मितानिनों और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को कोरोना का टीका (corona vaccination) लगाया जाना है। बता दें वैक्सीन की देशभर में सप्लाई के लिए सीरम तथा भारत बायोटेक ने केंद्र सरकार के एचएलएल से अनुबंध किया है।

स्वास्थ्य मंत्री ने बताया, पहले चरण में वैक्सीनेशन (corona vaccination) के लिए प्रदेश भर में 1349 बूथ बनाए गए हैं। पहले दिन 99 बूथों पर टीकाकरण शुरू होगा। एक बूथ पर प्रतिदिन 100 लोगों को वैक्सीन देने की योजना है। टीएस सिंहदेव ने बताया, प्रधानमंत्री ने बताया है कि देश भर में 30 करोड़ लोगों को टीका देने का कार्यक्रम बना है। इनमें से पहले चरण के 3 करोड़ लोगों के वैक्सीनेशन का खर्च केंद्र सरकार उठाएगी। केंद्र सरकार ने आज ही सीरम इंस्टीट्यूट से 200 रुपए प्रति डोज की दर से एक करोड़ 10 लाख वैक्सीन की आपूर्ति का अनुबंध किया है। जैसे-जैसे उत्पादन बढ़ेगा, वैक्सीन उपलब्ध होती रहेगी।

दूसरे चरण में 50 वर्ष से ऊपर के लोगों को वैक्सीन
स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने बताया, केंद्र सरकार की योजना है कि पहला चरण खत्म होने के बाद 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन दी जाएगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा, जनप्रतिनिधियों को भी उसी चरण में वैक्सीन लेनी चाहिए। पहले चरण में लेने से लोग कहने लगेंगे कि पद का दुरुपयोग कर खुद को सुरक्षित कर लिया। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया, 50 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों को वैक्सीन लग जाने के बाद 50 वर्ष से कम ऐसे लोगों पर फोकस होगा जो गंभीर बीमारियों से जूझ रहे हैं।

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned