सालासार बालाजी को 501 सवामणी भोग अर्पित

बालाजी मंदिर का तीसरा वार्षिकोत्सव

श्रद्धालुओं ने भक्तिभाव के साथ सुनीं कथा

 

By: VIKAS MISHRA

Published: 17 Feb 2021, 08:31 PM IST

रायपुर. सालासार बालाजी मंदिर सेवा समिति ने मंगलवार को श्रद्धालुओं ने भक्तिभाव से भगवान बालाजी का दुग्धाभिषेक, आरती कर वार्षिक महोत्सव मनाया। श्रद्धालुओं ने भगवान को 501 सवामणी का भोग अर्पित कर सुख, शांति और समृद्धि की कामना की। शाम को हनुमान जी कथा का श्रवण किया।
अग्रसेनधाम के करीब सालासार बालाजी मंदिर का यह तीसरा वार्षिकोत्सव था। मंदिर समिति के अध्यक्ष सुरेश गोयल, कार्यक्रम प्रभारी ईश्वर प्रसाद अग्रवाल, प्रचार-प्रसार प्रभारी कर्तव्य अग्रवाल ने बताया कि सुबह10 से 2 बजे तक संगीतमय हनुमान चालीसा का पाठ, पूजा-अर्चना कर 501 सवामणी भोग लगाया गया। कोरोना नियमों का पालन करते हुए भव्य स्तर पर कार्यक्रम न करते हुए सादगी और भक्तिभाव से बालाजी भगवान के दरबार में वार्षिक उत्सव श्रद्धालुओं ने मनाया। शाम 6 बजे से 8 बजे तक पं. विजय शंकर मेहता ने हनुमानजी के सात रिश्ते विषय पर कथा का श्रवण कराया, जिसका सीधा प्रसारण टीवी चैनल पर किया गया।
बांधा मौली धागा
सालासार बालाजी का दरबार कोलकाता के सुप्रसिद्ध कारीगरों ने आकर्षक ढंग से सजाया था। उत्सव में पहुंचे श्रद्धालुओं को उज्जैन के पंडितों ने मौली धागा बांधकर आशीर्वाद दिए। तीन साल पहले बालाजी के भव्य दरबार का निर्माण कराया गया था। तीसरे महोत्सव पर सालासार बालाजी सेवा समिति के सुरेश गोयल, ईश्वर प्रसाद अग्रवाल, रामअवतार अग्रवाल, कर्तव्य अग्रवाल, पवन अग्रवाल, सुनील अग्रवाल, वैभव सिंघानिया, गिरीराज गर्ग, विजय अग्रवाल, प्रमोद जैन, ओमप्रकाश अग्रवाल, अशोक अग्रवाल, केसरीचंद्र अग्रवाल, मुरली अग्रवाल, चिमन अग्रवाल, नरेश केडिया, सोमनाथ अग्रवाल, नीरज अग्रवाल, नवरंग लाल सहित अनेक सदस्य पूजा-अर्चना में शामिल हुए।

VIKAS MISHRA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned