महामारी का रूप ले चुके डेंगू से 6 साल की मासूम ने हारी जंग, मौत का आंकड़ा पहुंचा 41

महामारी का रूप ले चुके डेंगू से 6 साल की मासूम ने हारी जंग, मौत का आंकड़ा पहुंचा 41

Deepak Sahu | Publish: Sep, 08 2018 08:52:16 AM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

संग्राम चौक केंप 1 निवासी संजय यादव की सबसे छोटी बेटी पीहू ने शुक्रवार की सुबह बीएसपी सेक्टर 9 अस्पताल में दम तोड़ा

भिलाई. शहर में महामारी का रूप धारण कर चुके डेंगू से संग्राम चौक केंप 1 निवासी संजय यादव की छोटी बेटी पीहू (०६) शुक्रवार को सुबह सेक्टर 9 अस्पताल में दम तोड़ दिया। डेंगू से शहर में यह 41वीं मौत है। पीहू को गुरुवार सुबह सुपेला अस्पताल से सेक्टर 9 अस्पताल रेफर किया गया था। परिजनों का आरोप है, एंब़ुलेंस में ही पीहू की तबियत बिगड़ गई थी और वह सेक्टर 9 पहुंचने के 24 घंटे के बाद ही चल बसी। दोपहर को पीहू का शव लेकर परिजनों ने करीब एक घंटे प्रदर्शन किया। पुलिस प्रशासन की समझाइश के बाद परिजन घर लौटे और बेटी का अंतिम संस्कार किया। पीहू को 3 सितंबर से बुखार था।

पांच दिन पहले आया था बुखार
डेंगू ने फिर एक नन्ही परी की जान ले ली। संग्राम चौक केंप 1 निवासी संजय यादव की सबसे छोटी बेटी पीहू ने शुक्रवार की सुबह बीएसपी सेक्टर 9 अस्पताल में दम तोड़ा। पीहू को गुरुवार सुबह सुपेला अस्पताल से सेक्टर 9 अस्पातल रेफर किया गया था। परिजनों का आरोप है कि एंबूलेंस में ही पीहू की तबीयत बिगड़ गई थी और वह सेक्टर 9 पहुंचने के 24 घंटे के बाद ही चल बसी। डेंगू से शहर में 41 वीं मौत है। पीहू की मौत के बाद मोहल्ले में मातम पसरा हुआ है। सुबह से ही घर पर भीड़ लग चुकी थी और परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया है।

परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप
पीहू की मौसी संगीता ने बताया कि सुपेला अस्पताल में दाखिल करने के बाद पीहू को रातभर बुखार कम नहीं हुआ। उसने दो बार डॉक्टर से भी बात की, पर उन्होंने आकर सही ढंग से चेक नहीं किया। बस ग्लूकोज की बॉटल चढ़ाकर उसे एक इंजेक्शन लगाया। जिसके बाद उसकी तबीयत और बिगड़ गई। क्या और क्यों इंजेक्शन लगाया बताया नहीं। इंजेक्शन के बाद उसकी तबीयत और ज्यादा खराब हो गई। मृतक मासूम का पिता बढ़ई का काम करता है।

Ad Block is Banned