आंबेडकर अस्पताल में कोरोना के मरीजों के लिए 75 बेड का नया आईसीयू तैयार

अब आईसीयू बेड की संख्या बढ़कर हुई 122

By: VIKAS MISHRA

Published: 09 Jan 2021, 08:01 PM IST

रायपुर. राजधानी के आंबेडकर अस्पताल में कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए 75 बेड का नया आईसीयू वार्ड बनकर तैयार हो गया है। इसके साथ ही अस्पताल में आईसीयू बेड की संख्या 122 हो गई है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने कोरोना के गंभीर मरीजों के लिए आईसीयू विस्तार के निर्देश दिए थे, जिसे पूरा कर लिया गया है।
अस्पताल प्रबंधन का कहना है कि कोरोना समाप्ति के बाद अन्य मरीजों को भी इसका लाभ मिलेगा। कोरोना मरीजों के इलाज के लिए आंबेडकर अस्पताल में 500 बेड की व्यवस्था है। आंबेडकर अस्पताल और एम्स में कोरोना के गंभीर मरीजों को भर्ती किया जाता है। सामान्य लक्षण वाले मरीजों के इलाज की व्यवस्था कोविड सेंटर और होम आइसोलेशन में किया गया है।
आंबेडकर अस्पताल की पीआरओ शुभ्रा सिंह ठाकुर का कहना है कि अस्पताल में 75 बेड का आईसीयू बनकर तैयार हो गया है। गंभीर मरीजों की संख्या बढ़ती है तो उनके इलाज की पूरी सुविधा है। 35 बेड का आईसीयू पहले ही बनकर तैयार हो गया था।
मरीजों से कई निजी अस्पताल खाली
राजधानी में विगत 2 माह से कोरोना संक्रमित मरीजों के मिलने से ज्यादा डिस्चार्ज होने वाले की संख्या अधिक हो गई है। यही कारण है कि कई निजी अस्पताल संचालकों ने कोविड बेड हटा दिए है। राजधानी के 32 निजी अस्पतालों ने कोरोना मरीजों के इलाज के लिए स्वास्थ्य विभाग से अनुमति ली है। इसमें से कई अस्पतालों में विगत 15-20 दिनों से कोई संक्रमित मरीज नही आया है। स्वास्थ्य विभाग के एनआईसी के मुताबिक, 25 अस्पतालों ने कोरोना मरीजों के लिए बेड आरिक्षत रखे हैं लेकिन 7 ने हटा दिया है। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि जिन अस्पतालों ने कोविड मरीजों के इलाज के लिए अनुमति ली है उन्हें बेड आरक्षित रखना है। यदि हटाते हैं तो इसकी जानकारी जिला स्वास्थ्य विभाग को देनी होगी।
कोरोना मरीजों के लिए उपलब्ध बेड
3 शासकीय अस्पतालों में उपलब्ध 1150 बेड में से 992 खाली
32 निजी अस्पतालों में उपलब्ध 1572 बेड में से 1319 खाली
14 कोविड केंयर सेंटर में उपलब्ध 3120 में से 3069 खाली
(आंकड़ेएनआईसी के मुताबिक)

VIKAS MISHRA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned