8 निजी हॉस्पिटल को मिली कोरोना उपचार के लिए अनुमति

राज्य शासन के निर्देश पर जिले के निजी हॉस्पिटलों को भी कोरोना के उपचार किए जाने के लिए अनुमति प्रदान की गई है।

By: dharmendra ghidode

Published: 03 May 2021, 06:28 PM IST

बलौदाबाजार. जिले में कोरोना संक्रमण को बढ़ते हुए देखकर राज्य शासन के निर्देश पर जिले के निजी हॉस्पिटलों को भी कोरोना के उपचार किए जाने के लिए अनुमति प्रदान की गई है। इसके लिए जिले में कुल 8 निजी हॉस्पिटलों को जिला मुख्य स्वास्थ्य चिकित्सा अधिकारी के द्वारा यह अनुमति प्रदान की हैं। इन 8 हास्पिटल में बलौदा बाजार नगर स्थित चंदा देवी तिवारी हास्पिटल व गंगा हास्पिटल, कसडोल नरेन्द्र मिश्रा संजवीनी हास्पिटल, बिलाईगढ़ में दक्ष हास्पिटल, भटगांव नगर में एडी वैष्णव हास्पिटल, सरसींवा में श्री सतगुरू कृपा हास्पिटल, लिमतरा स्थित संजीवनी हास्पिटल व सहकारी कोविड केयर हास्पिटल भाटापारा शामिल किया गया है।
जिला मुख्य स्वास्थ्य एवं चिकित्सा अधिकारी डॉ. खेमराज सोनवानी ने बताया कि अपंजीकृत निजी चिकित्सालयों में कोरोना के उपचार के लिए राज्य शासन द्वारा शुल्क निर्धारित किया गया है, जिसके अनुसार नॉन आईसीयू के लिए 6200 रुपए, आईसीयू बिना वेंटिलेटर के 10000 रुपए व आईसीयू वेंटिलेटर के साथ 14000 रुपए प्रतिदिन निर्धारित की गई हैं। इसी प्रकार डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना व आयुष्यमान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अंतर्गत कोरोना के लिए पैकेज के दर निर्धारित की गई है, जो कि एचडीयू ऑक्सीजन के साथ 5500 रुपए, आईसीयू बिना वेंटिलेटर के 7000 रुपए व आईसीयू वेंटिलेटर के साथ 9000 रुपए प्रतिदिन निर्धारित की गई हैं। उक्त निर्धारित दर में हाई ड्रग, सीटी स्कैन तथा अन्य टेस्ट शामिल नहीं हैं। इसका शुल्क मरीजों को स्वयं वहन करना होगा।
उन्होंने आगे बताया कि जिले में अनुमति दे दी गई। चिकित्सालयों में चंदा देवी तिवारी हास्पिटल बलौदा बाजार, नरेन्द्र मिश्रा संजीवनी हास्पिटल कसडोल, दक्ष हास्पिटल बिलाईगढ़, एडी वैष्णव हास्पिटल भटगांव, डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना एवं आयुष्यमान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अंतर्गत पंजीकृत हैं। इन्ही चिकित्सालयों में योजना का लाभ प्राप्त किया जा सकते हैं। लाभ प्राप्त करने के लिए मरीजों को राशन कार्ड तथा आधार कार्ड ले जाना अनिवार्य हैं। निजी चिकित्सालय में मरीज भर्ती उपरांत अनिवार्य दस्तावेज 5 दिनों के भीतर दिखाया जाना अनिवार्य हैं। तभी योजना का लाभ मिल सकेगा। साथ ही श्री सतगुरू कृपा हास्पिटल सरसींवा, गंगा हास्पिटल बलौदा बाजार, संजीवनी हास्पिटल लिमतरा, सहकारी कोविड केयर हास्पिटल भाटापारा, डॉ. खूबचंद बघेल स्वास्थ्य सहायता योजना एवं आयुष्यमान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना अंतर्गत पंजीकृत नहीं है।

dharmendra ghidode
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned