86 वर्षीय दादी पुनई बाई ने बुलंद हौसलों से जीती कोरोना से जंग

155 कोरोना पॉजिटिव मरीजों में से 132 लोग स्वस्थ होकर घरों को लौटे

By: lalit sahu

Updated: 24 Jul 2020, 07:04 PM IST

रायपुर. नारायणपुर जिले की ग्राम खड़ीबहार की बुजुर्ग महिला पुनई बाई ध्रुव ने बुलंद हौसलों से कोरोना से जंग जीती है, जो 86 वर्ष की हो चुकी है। बुजुर्ग महिला ने अपनी हिम्मत और बुलंद हौसले से कोरोना से जंग जीतकर समाज को संदेश दिया है कि कोरोना से डरे नहीं, अपना आत्मविश्वास बनाए रखें। हिम्मत और मजबूती के साथ कोरोना का सामना करें, जीत अवश्य मिलेगी। बातचीत करने पर दादी ने स्थानीय बोली में बताया कि उन्होंने 86 साल के जीवन काल में पहली बार ऐसी भयानक बीमारी देखी है। जिसकी कोई दवाई नहीं है। दवाई अगर है, तो व्यक्ति के पास ही है। इसके बचाव के लिए लोगों को मास्क का उपयोग, सोशल डिस्टेंसिंग, साबुन या सेनेटाइजर से हाथों को साफ रखना और इम्युनीटि बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक काढ़ा का सेवन जरूरी है। इन सभी उपायों की जानकारी उन्हें कोविड केयर सेंटर कांकेर से चिकित्सकों एवं मेडिकल स्टाफ द्वारा दी गई।

पुनई बाई ध्रुव जब कोविड-19 हॉस्पिटल से स्वस्थ होकर बाहर निकली तब उनका हौसला देखने लायक था। उन्होंने उत्साह के साथ अपने दोनों हाथों से मौजूद व्यक्तियों का अभिवादन किया। उन्होंने हॉस्पिटल में डाक्टर तथा पैरामेडिकल स्टाफ एवं नर्सेज द्वारा की गई देखभाल की भी तारीफ की। बातचीत में बताया कि हॉस्पिटल में उनके सहित सभी मरीजों का पूरा ख्याल रखा गया। खाना, चाय-नाश्ता, मेडिसिन सभी समय-समय पर मिलता था। स्टाफ का व्यवहार भी बेहद अपनत्व से भरा था, स्टाफ पूरे समय उनको दादी कहकर बुलाता रहा और मेरे मन में भी उन सबके लिए अपने बेटे, बेटियों, पोते, पोतियों जैसा अपनापन है। जिला प्रशासन नारायणपुर ने उनके और उनके परिवार का पूरा सहयोग किया, जिससे उन्हें कोविड केयर सेंटर में किसी प्रकार की समस्या नहीं हुई। बता देें कि नारायणपुर जिले में अब तक कुल 155 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की पहचान की गई है। जिनमें से 132 लोग स्वस्थ होकर अपने घरों को लौट आए हैं। 23 मरीजों का ईलाज वर्तमान में कोविड केयर सेंटर में किया जा रहा है।

lalit sahu Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned