गोंदिया से 88 मजदूर बस से पहुंचे घरघोड़ा तो लोगों में मचा हडक़ंप

छत्तीसगढ़- महाराष्ट्र की सीमा पर फंसे थे मजदूर
झारखंड के थे सभी मजदूर, प्रारंभिक जांच कर किए रवाना

By: AJAY SINGH

Updated: 18 Apr 2020, 01:15 AM IST

रायगढ़. महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ के बॉर्डर में स्थित गोङ्क्षदया में फंसे 88 मजदूर गुरुवार की शाम को चार बस से घरघोड़ा पहुंच गए। इसके कारण नगर में हडक़ंप की स्थिति बन गई। बताया जा रहा है कि उक्त सभी मजदूर झारखंड के हैं। प्रारंभिक जांच के बाद सभी को झारखंड के लिए रवाना किया गया।
विदित हो कि लॉकडाउन की अवधी में जो जहां है। वहां रहने को कहा गया है। इसके बाद भी इमरजेंसी की स्थिति में लोगों को आने-जाने की अनुमति दी जा रही है, लेकिन गुरुवार शाम को घरघोड़ा नगर में जहां लॉकडाउन के कारण पूरा सन्नाटा पसरा हुआ था तो वहीं कुछ देर के अंतराल में एक-एक कर चार बस पहुंची प्रत्येक बस में 20-25 मजदूर वर्ग के लोग सवार थे। इनको देख नगर में हडक़ंप की स्थिति निर्मित हो गई कि आखिर ये कहां से आए हैं। बसों के आने की सूचना मिलने के पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची।
पूछताछ पर पता चला कि 88 मजदूर महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ के बॉर्डर गोङ्क्षदया में फंसे हुए थे जिनको राजनांदगांव के जिला प्रशासन ने बस सुविधा उपलब्ध कराते हुए झारखंड के लिए रवाना किया हैं। पहले तो यह बात सामने आई कि बस में सवार मजदूरों में कोई घरघोड़ा के आस-पास गांव का है तो कोई लैलूंगा का। उक्त क्षेत्र के अलग-अलग गांव के रहवासी हैं ये मजदूर, लेकिन बाद में पता चला कि ये सभी झारखंड के रहवासी हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने सभी का प्रारंभिक जांच करने के बाद उनको बस से झारखंड के लिए रवाना कर दिया है। जांच के दौरान किसी में कोई लक्षण नहीं मिला है।


अनजान बने रहे एसडीएम

जब एसडीएम संबिद मिश्रा से चर्चा गइ गई तो पहले तो उन्होंने कहा कि इस मामले की जानकारी नहीं है फिर जानकारी लेकर बताने की बात कहे। इसके बाद जब फोन पर संपर्क करने का प्रयास किया गया तो कोई जवाब नहीं मिला।


संयुक्त टीम में समन्वय नहीं
कोराना लॉकडाउन को लेकर सभी जगह पुलिस, प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग तीनों संयुक्त रूप से काम कर रही है, लेकिन इस मामले में जहां राजस्व विभाग के अधिकारी मजदूरों को राजनांदगांव से घरघोड़ा आना बता रहे हैं तो वहीं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी गोङ्क्षदया से झारखंड जाना बता रहे हैं।

- गुरुवार को बस के माध्यम से 88 लोग घरघोड़ा आए हैं। सभी को जनमित्रम स्कूल में क्वारेंंटाइन में रखकर जांच की जा रही है। जांच के बाद ही मजदूरों को छोड़ा जाएगा।
हितेश बघेल, तहसीलदार घरघोड़ा

AJAY SINGH Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned