25 लाख राशनकार्डों में आधार गलत, वन नेशन वन राशन कार्ड सत्यापन में हुआ खुलासा

One Nation One Ration Card : ज्यादातर कार्डधारियों ने दो-दो राशनकार्ड रखने के चलते दिए हैं गलत नंबर .
- सिर्फ बिलासपुर और जांजगीर में मिले 4 लाख से ज्यादा गलत नंबर .

By: Bhupesh Tripathi

Published: 06 Jun 2021, 03:56 PM IST

रायपुर . प्रदेश में 25 लाख 25 हजार 420 राशनकार्ड फर्जी आधारकार्ड से बनाए गए हैं। इसका खुलासा विभागीय सत्यापन में हुआ है। 22 जून 2020 सें अब की जांच में यह गड़बड़ी सामने आई है। वन नेशन वन कार्ड योजना के तहत राशनकार्ड को आधार से लिंक किया जा रहा है। इसके लिए प्रदेश के 28 जिलों में 68 लाख 01 हजार 761 राशनकार्ड बनाए गए हैं। जिसमें 2 करोड़ 51 लाख 82 हजार 247 सदस्यों को खाद्यान्न वितरण किया जा रहा है। अब भी 1 लाख 57 हजार लोगों के आधार का सत्यापन बाकी हैं। इस आधार पर कहा जा सकता है कि अभी फर्जी आधारकार्ड से राशन लेने वालों की संख्या बढ़ सकती है। प्रदेशभर में 98 फीसदी राशन कार्ड का सत्यापन किया जा चुका है।

READ MORE : रायपुर जिले में 18+ का वैक्सीनेशन शुरू, कोवैक्सीन की सेकंड डोज के टीके का पता नहीं

बता दें कि नगरीय और पंचायत और खाद्य विभाग के साथ मिलकर बनाए गया था। राशनकार्ड बनाने के दौरान सही जांच न करने के कारण यह समस्या आई है। राशनकार्ड के आधारकार्ड के सत्यापन में जानकारी मिली है कि बनाए गए राशनकार्डों के सभी सदस्यों के नाम पर एक ही आधार संख्या दर्ज है।

ऐसे सामने आई गड़बड़ी
वर्तमान में शत-प्रतिशत व त्रुटिरहित आधार नंबर दर्ज के लिए प्रत्येक हितग्राही के आधार कार्ड को राशन दुकानों, फूड इंस्पेक्टर व क्यूआर कोड को स्कैन कर जांच कराया जा रहा है, जहां कई गड़बडिय़ां सामने आ रही है। राशन दुकानों में हितग्रहियों के आधार कार्ड की जांच व क्यूआर कोड स्कैन करने पर कई हितग्राहियों के आधार नंबर दूसरे हितग्राहियों के नाम पर एंट्री पाया गया है।

आधार नही, तो राशन नही
केंद्र के वन नेशन वन कार्ड योजना के तहत आधार कार्ड नहीं बनवाने वाले हितग्राहियों से शीघ्र आधार कार्ड कार्ड के साथ जमा करने को कहा जा रहा है। आगामी दिनों में आधार कार्ड का क्यूआर कोड स्कैन नहीं कराए हितग्राही का राशन आवंटन पूरी तरह से बंद कर दिया जाएगा।

READ MORE : ठगी का जाल : 4 करोड़ की ठगी, 300 रुपए भी नहीं वसूल पाई पुलिस

सजा का प्रावधान
राशन कार्ड के लिए किसी परिवार या उसके मुखिया ने गलत जानकारी और दस्तावेज जमा कराए हैं तो आवश्यक वस्तु अधिनियम 1955 की धारा 9 के तहत मुखिया को पांच साल तक कारावास की सजा हो सकती है। राशन कार्ड में महिला को मुखिया माना गया है। इस कारण महिला को यह सजा हो सकती है। हालांकि अब फिर से सही राशन कार्ड जमा करने का अवसर दिया जा रहा है।

रायपुर में 96 हजार से अधिक कार्डों में गलत नंबर
राजधानी रायपुर 5 लाख 29 हजार 269 कार्ड में 96 हजार 102 के आधार नंबर गलत मिले हैं। जांजगीर में 4 लाख 71 हजार 397 राशनकार्ड में 2 लाख 05 हजार 766 आधारकार्ड गलत मिले। बिलासपुर 4,62,300 राशनकार्ड में 2 लाख 279 आधार कार्ड फर्जी मिले हैं।

इस तरह की गड़बड़ी

- आधार किसी और का, राशनकार्ड किसी और का
- घोषणापत्र और आधार में निवास स्थान गलत बताया गया
- एक ही परिवार में एक ही आधारकार्ड से अधिक सदस्यों के नाम
- मृत व्यक्तियों के नाम राशन कार्ड में जुड़वा लिए गए

फैक्ट फाइल
राज्य में कुल राशन कार्ड -6801761
कुल सदस्य -25182247
कुल गलत आधार नंबर- 25,25,420

राशन को राशन दुकान संचालकों और फूड आफिसरों के माध्यम से फिर से सही आधारकार्ड जमा करने का कहा गया है। यदि फिर से आधार नंबर गलत मिलते हैं तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।
- मनोज सोनी, विशेष सचिव , खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग

READ MORE : बिजनेश शुरू करने सरकार करेगी 2 से 25 लाख तक की मदद, पढ़े डिटेल

Bhupesh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned