गुजरात चुनाव में नंद कुमार साय ने BJP के लिए मांगे वोट, आप ने चुनाव आयोग से की शिकायत

गुजरात चुनाव में राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष नंद कुमार साय के भाजपा के लिए प्रचार करने पर आप ने चुनाव आयोग से शिकायत की है।

By: Ashish Gupta

Updated: 10 Dec 2017, 04:48 PM IST

रायपुर . गुजरात विधानसभा चुनाव में भाजपा ने पार्टी पदाधिकारियों और दूसरे प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों के अलावा संविधानिक संस्थाओं को भी उतार दिया है। राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के राष्ट्रीय अध्यक्ष और छत्तीसगढ़ के दिग्गज आदिवासी नेता नंद कुमार साय भी भाजपा के मंच से प्रचार कर रहे थे। पिछले एक सप्ताह से गुजरात में प्रचार कर रहे साय पहले चरण का मतदान खत्म होने के बाद रायपुर लौट रहे हैं। बताया जा रहा है कि साय ने वडोदरा और आसपास के आदिवासी बहुल क्षेत्रों में नुक्कड़ सभाएं की हैं। इसके अलावा भाजपा की मीडिया और आईटी सेल के साथ रणनीतिक बैठकें की।

आम आदमी पार्टी यूथ विंग के अध्यक्ष सौरभ निर्वाणी ने शनिवार को भारत निर्वाचन आयोग से इसकी शिकायत की। आप नेता ने एक मेल भेजकर आयोग अध्यक्ष के प्रचार पर कार्रवाई की मांग की है। निर्वाणी ने साय के गुजरात प्रवास की कुछ तस्वीरे भी शिकायत के साथ भेजी हैं। इन तस्वीरों में साय को भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ सभा और बैठकें करते देखा जा सकता है। शुक्रवार को मरवाही विधायक अमित जोगी ने भी ट्विटर पर तस्वीर साझा कर सवाल उठाया था कि क्या आयोग अध्यक्ष किसी पार्टी का चुनाव प्रचार कर सकता है।

साय ने कहा, भाजपा के मंच से आयोग का काम
इस बावत पूछे जाने पर साय ने कहा, वे पहले भाजपा के हैं, दूसरे नंबर पर राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष। वे गुजरात के आदिवासी क्षेत्रों में घूमे हैं। लोगों से मिलकर समझाया है, कि आदिवासी सैकड़ों वर्षों से उपेक्षित है। शिक्षा, स्वास्थ्य और आजीविका जैसी बुनियादी सुविधाएं भी नहीं हैं। चुनाव का वक्त है, इसलिए अपना हित देखकर ही किसी पार्टी को वोट करना है। सभाओं में भाजपा के झंडे-बैनर लगे होने की ध्यान दिलाने पर साय बोले, अब भाजपा की सभा में आप का झंडा थोड़े न लगेगा। वे भाजपा के हैं तो भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ ही गए थे।

कांग्रेस भी कर चुकी है यही राजनीति
राष्ट्रीय अनुसूचित जाति और जनजाति आयोगों के अध्यक्ष पद का राजनीतिक इस्तेमाल कांग्रेस भी कर चुकी है। सामने आया है कि राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग का अध्यक्ष रहते हुए कांग्रेस के महासचिव पीएल पुनिया भी पार्टी प्रवक्ता के तौर पर काम करते रहे हैं। पुनिया 2013 से 2016 तक आयोग के अध्यक्ष रहे।

AAP BJP Congress
Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned