जेल में बंद आप के नेता जमानत पर रिहा, बोले - हमने जीत ली पहली जंग

जेल में बंद आप के नेता जमानत पर रिहा, बोले - हमने जीत ली पहली जंग

Chandu Nirmalkar | Publish: Jun, 26 2018 01:37:03 PM (IST) Raipur, Chhattisgarh, India

आम आदमी पार्टी (आप) की छत्तीसगढ़ इकाई ने इसे राज्य सरकार के अन्याय के खिलाफ पहली जंग जीत लेने की बात कही है।

रायपुर. प्रधानमंत्री को काला झंडा दिखाने के आरोप में जेल में बंद आम आदमी पार्टी (आप) के सभी नेता आज जमानत पर रिहा हो गए। राज्य सरकार के इशारे पर जेल में निरुद्ध किए गए 'आप' के प्रदेश संयोजक डॉ. संकेत ठाकुर सहित 12 पदाधिकारियों के खिलाफ पुलिस की कोई दलील काम नहीं आई और जिला एवं सत्र न्यायालय ने इनकी जमानत याचिका मंजूर कर ली है।

Read More News: ऐसा क्या हुआ कि बिजली की खपत में आई कमी, लेकिन बिल में नहीं मिली कोई राहत

आम आदमी पार्टी (आप) की छत्तीसगढ़ इकाई ने इसे राज्य सरकार के अन्याय के खिलाफ पहली जंग जीत लेने की बात कही है।

छत्तीसगढ़ में 'आप' के चुनाव प्रबंधन प्रभारी राकेश सिन्हा ने इस सफलता के बाद डॉ. रमन सिंह की सरकार को चेतावनी दी कि राज्य में आम आदमी की आवाज अब और अधिक समय तक कुचली नहीं जा सकेगी।

Read Also: स्कूल और सिटी बस में हुई भिड़ंत, ब्रेक ना लगने की वजह से हुआ हादसा, 5 बच्चे घायल

उन्होंने कहा कि भाजपा के 'कांग्रेसीकरण' को राज्य की आम जनता अब और नहीं सहेगी। उनके सामने 'आप' एक नया विकल्प बनकर उभरी है। यह पार्टी संघर्षों से नहीं डरती।

राज्य सरकार चाहे जितनी भी चुनौतियां इसके सामने खड़ी करे, आम आदमी के सहयोग से इन सभी चुनौतियों का सामना करने में यह पार्टी पूरी तरह से सक्षम होगी।

'आप' पर भाजपा के इस कहर के बारे में राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता आज मीडिया को संबोधित करने वाले हैं।

इसके लिए पहले उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 151 लगाई गई। जब राज्य सरकार को इस पर संतोष नहीं हुआ तो पुलिस ने उसके इशारे पर गिरफ्तारी के एक दिन बाद 'आप; नेता और पदाधिकारियों के खिलाफ गैर—जमानती धारा 147, 151, 186, 332, 353, 419 भी लगा दी।

वहीं, अदालत में यह धाराएं लगाने का कोई भी आधार पुलिस साबित नहीं कर सकी। अदालत ने 'आप' की जमानत याचिका मंजूर कर ली है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned