भगवान नरसिंगनाथ के दर्शन करने जा रहे श्रद्धालु, रास्ते में ड्राइवर को आई झपकी, एक ही परिवार की दो महिलाओं की मौत

आधी रात को तेलघानीनाका के पास तेज रफ्तार मालवाहक ओवरब्रिज में बानी फुटपाथ में चढ़ते हुए बाउंड्रीवॉल से टकरा गई। इससे दो महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई।

By: Bhawna Chaudhary

Published: 06 Jan 2020, 11:58 AM IST

रायपुर. आधी रात को तेलघानीनाका के पास तेज रफ्तार मालवाहक ओवरब्रिज में बानी फुटपाथ में चढ़ते हुए बाउंड्रीवॉल से टकरा गई। इससे दो महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई। अन्य लोग घायल हो गए। मालवाहक में डेढ़ दर्जन लोग सवार थे और ओडिशा में भगवान नरसिंगनाथ के दर्शन के लिए जा रहे थे। ओवरब्रिज में पहुंचते ही ड्राइवर को अचानक झपकी आ गई थी। पुलिस ने ड्राइवर के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार गुढ़ियारी के गोकुल नगर निवासी अनिल कन्नौजे अपने परिवार के सदस्यों और रिश्तेदारों के साथ ओडिशा के भगवान नरसिंगनाथ के दर्शन करने के लिए जा रहे थे। शनिवार -रविवार की रात एक मालवाहक सीजी 04 एमपी 1891 में सवार होकर निकले थे। मालवाहक में महिलाएं और बच्चे मिलाकर कुल 16 लोग सवार थे। मालवाहक को सहदेव चला रहा था। गोकुलनगर से निकलकर मालवाहक रात करीब 1:30 बजे तेलघानीनाका के पास ओवरब्रिज में पहुंची। गाड़ी की रफ़्तार अधिक थी और इसी बीच ड्राइवर सहदेव को अचानक झपकी आ गई।

इससे मालवाहक अनियंत्रित होकर ओवरब्रिज में बने फुटपाथ में चढ़ गई और इसके बाद ब्रिज की बाउंड्री से टकरा गई। इससे उसमें बैठी देवकी कन्नौजे और गीता कन्नौजे के सिर में गंभीर चोटें लगाई। इससे उनकी मौत हो गई। इसके अलावा राधा, बबली, विजय निर्मलकर और अन्य को चोटें आई है। सभी को आंबेडकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनकी स्थिति खतरे से बाहर है।

तेज रफ़्तार में चला था वाहन
अनिल का भाई विजय ड्राइवर सहदेव के साथ आगे वाली सीट में बैठा था। अनिल का कहना है कि ड्राइवर सहदेव गाड़ी को अधिक स्पीड में चला रहा था। साथ ही वह स्टेयरिंग से अपना हाथ बार-बार अलग कर लेता था। टकराने के बाद गाड़ी बाउंड्री की ओर ही जा रही थी, लेकिन विजय ने स्टेयरिंग सड़क की ओर घुमा दिया। इससे मालवाहक सड़क पर रुक गई, वरना बाउंड्री को तोड़ते हुए ब्रिज के निचे गिर जाती। इससे कई लोगों की जान जा सकती थी। पुलिस ने घटना में मृत दोनों महिलाओं के शव पीएम के बाद परिजनों को सौप दिया है।

ड्राइवर के नशे में होने की आशंका
मालवाहक में 16 लोग सवार थे। देवकी और गीता मालवाहक के भीतर किनारे में बैठे थे। इस कारण मालवाहक जब ओवरब्रिज की बाउंड्री से टकराई, तो उन्हें ज्यादा चोट आई और उनकी मौत हो गई। मालवाहक के बीच में बैठे लोगों को ज्यादा चोट नहीं आई। बच्चे भी चोट लगने से बच गए।

Show More
Bhawna Chaudhary
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned