scriptAfter 10 days Diwali guidelines 2021 has not been released yet | दिवाली 10 दिन बाद, पटाखा फोड़ने को लेकर गाइडलाइन अब तक नहीं हुई जारी, लोग कर रहे इंतजार | Patrika News

दिवाली 10 दिन बाद, पटाखा फोड़ने को लेकर गाइडलाइन अब तक नहीं हुई जारी, लोग कर रहे इंतजार

दिवाली को आज से महज 10 दिन ही रह गए हैं, मगर पटाखे फोडऩे को लेकर अब तक पर्यावरण संरक्षण मंडल ने कोई गाइडलाइन जारी नहीं की है। इसका इंतजार न सिर्फ आम लोगों को है, बल्कि कारोबारियों को भी है।

रायपुर

Updated: October 23, 2021 01:11:35 pm

रायपुर. दिवाली को आज से महज 10 दिन ही रह गए हैं, मगर पटाखे फोड़ने को लेकर अब तक पर्यावरण संरक्षण मंडल ने कोई गाइडलाइन जारी नहीं की है। इसका इंतजार न सिर्फ आम लोगों को है, बल्कि कारोबारियों को भी है। सूत्रों के मुताबिक 2020 की गाइडलाइन के अनुरूप ही इस बार की गाइडलाइन संभावित है। पिछले साल 2 घंटे पटाखे फोड़ने की अनुमति थी, तब जब कोरोना के 1700 रोजाना रिपोर्ट हो रहे थे। आज 30 से 40 मरीज मिल रहे हैं। मगर, खतरा तो बना ही हुआ है।
Diwali 2021
दिवाली 10 दिन बाद, पटाखा फोड़ने को लेकर गाइडलाइन अब तक नहीं हुई जारी, लोग कर रहे इंतजार
सूत्रों के मुताबिक के पटाखे फोड़ने की घंटे बढ़ाए जा सकते हैं। ग्रीन पटाखों को ही बेचने की अनुमति हो सकती है। प्रदूषण फैलाने वाले सभी पटाखे प्रतिबंधित होंगे। आने वाले 2-3 दिनों में गाइडलाइन जारी हो सकती है। पर्यावरण संरक्षण मंडल के पीआरओ अमर सावंत का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों का पालन करना होगा। जल्द गाइडलाइन जारी होगी। उधर, गाइडलाइन जारी करने में हो रही देरी के चलते दुकानदार असमंजस में हैं, क्योंकि वे पटाखों का आर्डर दे चुके हैं। हालांकि इस बार बाजार में 80 से 90 प्रतिशत ग्रीन पटाखे होंगे।
जिन शहरों में प्रदूषण ज्यादा वहां सख्ती- पर्यावरण विभाग के अधिकारियों के मुताबिक पिछले साल सुप्रीम कोर्ट और एनजीटी के आदेशों को अमल में लाया गया था। इस बार भी वही आदेश-निर्देश गाइडलाइन का आधार होंगे। इसके मुताबिक जिन शहरों में प्रदूषण का स्तर बढ़ा हुआ है, वहां सख्ती बरती जाए। गौरतलब है कि सख्ती दिवाली, छठ पूजा, क्रिसमस और नए साल तक रहेगी।
किसकी क्या होगी जिम्मेदारी
शासन प्रशासन- कम प्रदूषण वाले और ग्रीन पटाखों की बिक्री लाइसेंसधारी दुकानदारों द्वारा की जाए। सीरीज पटाखे (लड़ी वाले) पटाखों की बिक्री प्रतिबंधित रहे। ऐसे पटाखे पूरी तरह से प्रतिबंधित रहें जो लिथियम, आर्सेनिक, एंटिमनी, लेड और मर्करी से बने होते हैं।
पर्यावरण संरक्षण मंडल- ध्वनि सीमा से अधिक डेसिबल के पटाखे न बेचे जा सकें। इनकी रेंडमली जांच की जाए।

रहें अलर्ट क्योंकि कोरोना जिंदा है
1- पटाखे से प्रदूषण का स्तर बढ़ता है, जो कोरोना संक्रमित मरीजों के लिए खतरनाक है। क्योंकि प्रदूषित हवा सीधे फेफड़ों में पहुंचकर नुकसान पहुंचाती है। सांस लेने में तकलीफ होती।
2- बुजुर्गों, गर्भवतियों और बच्चों के लिए प्रदूषण का बढ़ाना खतरनाक माना जाता है।
3- भीड़-भाड़ वाले क्षेत्रों में जाने से संक्रमण का डर बना रहेगा।
2020 की गाइडलाइन
अनुमति- सिर्फ 2 घंटे पटाखा फोड़ने की थी।
प्रतिबंध- प्रदूषण फैलाने वाले पटाखों पर प्रतिबंध रहा।
सख्ती- ग्रीन पटाखे फोडऩे की अनुमति थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Corona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरGhana: विनाशकारी विस्फोट में 17 लोगों की मौत, 59 घायलभारत ने जानवरों के लिए विकसित किया पहला कोरोना वैक्सीन,अब शेर और तेंदुए पर ट्रायल की योजना50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup 2022: ICC ने जारी किया शेड्यूल, इस दिन होगी भारत-पाकिस्तान की टक्करआज जारी होगा कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं के लिए होंगे कई वादे'कुछ लोग देशप्रेम व बलिदान नहीं समझ सकते', अमर जवान ज्योति के वॉर मेमोरियल में विलय पर राहुल गांधीVIDEO: राजस्थान का 35 प्रतिशत हिस्सा कोहरे से ढका, अब रहेगा बारिश और ओलावृष्टि का जोर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.