वैक्सीन लगवाने के बाद इन 3 वर्ग के लोगों को हो सकता है साइड इफेक्ट

कोरोना वैक्सीन के गंभीर साइड इफेक्ट्स भी हैं। लेकिन ये तीन मुख्य वर्ग के लोगों को ज्यादा प्रभावित कर रहे हैं। डॉक्टर्स के अनुसार वैक्सीन लगने के बाद भी लोगों को कुछ दिनों तक आराम करना चाहिए।

By: lalit sahu

Published: 03 Apr 2021, 07:18 PM IST

वैक्सीन लगवाने के बाद इन 3 वर्ग के लोगों को हो सकता है साइड इफेक्ट, जानें ष्टष्ठष्ट का खुलासा
कोरोना महामारी में कोरोनावायरस वैक्सीन लोगों के लिए आशा की एक किरण लेकर आई है। लेकिन वैक्सीन आने के बाद भी लोग डरे और सहमे हैं। इसे लेकर घबराहट और भ्रम की स्थिति लगातार बनी हुई है। ऐसा इसलिए, क्योंकि टीकाकरण के कुछ दुष्प्रभाव भी हैं। हालांकि, सबके साथ ऐसा नहीं हो रहा, बल्कि कुछ वर्ग के लोगों में इसके गंभीर साइड इफेक्ट ज्यादा देखने को मिल रहे हैं।

शोधों के अनुसार, पोस्ट वैक्सीनेशन के साइड इफेक्ट लगभग सभी को हो सकते हैं, लेकिन कुछ वर्ग के लोगों में दुष्प्रभाव के मामले ज्यादा देखे जा रहे हैं। खासतौर से महिलाओं और युवा वर्ग में वैक्सीन का प्रभाव ज्यादा है। वहीं ऐसे लोगों की भी वैक्सीन से सेहत खराब हो रही है, जिन्हें पहले कोविड हो चुका है। इसलिए इन वर्ग के लोगों को वैक्सीनेशन से पहले और बाद में ज्यादा सावधानी बरतने की जरूरत है।

वैक्सीनेशन के बाद देखे जाने वाले साइड इफेक्ट
कंपकंपी महसूस होना, थकान, मितली, उल्टी, बुखार, सूजन और दर्द कोरोना वैक्सीन के कुछ साइड इफेक्ट्स हैं। कुछ लोगों ने कोविड आर्म पर टीका लगने के कई दिनों बाद तक दर्द और सूजन का अनुभव किया है। वहीं कुछ लोगों को टीकाकरण के बाद भी बुखार आ रहा है। 60 साल की उम्र से ऊपर वाले लोगों को कमजोरी और थकान की शिकायत है। इसके अलावा ज्यादातर लोग टीकाकरण की जगह पर खुजली, लालिमा और गहरी सूजन का अनुभव कर रहे हैं। डॉक्टर्स की मानें, तो लोगों को वैक्सीन लगने के बाद भी कुछ दिनों तक आराम करना चाहिए, ताकि वे जल्दी रिकवर हो सकें।

कोरोना वैक्सीन लगने के बाद भी लोग क्यों हो रहे हैं पॉजिटिव, जानिए असल वजह

महिलाओं को वैक्सीन का साइड इफेक्ट ज्यादा
एक नए शोध के अनुसार, पुरूषों के मुकाबले महिलाओं को वैक्सीन के साइड इफेक्ट का खतरा ज्यादाा है। यह प्रमाणित करने के लिए Centers for Disease Control and Prevention (CDC) द्वारा किए गए अध्ययन में विभिन्न उम्र के लोगों को वैक्सीन दी गई। आयोजित टीकाकरण की कुल संख्या में 79 प्रतिशत साइड इफेक्ट्स की शिकायत महिलाओं ने की। अध्ययन के अनुसार, कोविड शॉट वाली महिलाओं में से 44 प्रतिशत ऐसी थीं, जिन्होंने एनाफिलेक्टिक प्रतिक्रियाओं की शिकायत की। बता दें कि इन महिलाओं को फाइजर शॉट दिए गए थे। डॉक्टर्स के अनुसार जब महिलाओं के शरीर में वैक्सीन पहुंचती है और काम करना शुरू करती है, तो महिलाओं का इम्यून सिस्टम तेजी से प्रतिक्रिया देता है, जिससे उन्हें साइड इफेक्ट जल्दी होता है।

कोरोना पॉजिटिव हो चुके लोगों पर वैक्सीन का दुष्प्रभाव ज्यादा
ZEO (कोविड लक्षण ऐप) अध्ययन के अनुसार, जिन लोगों को फाइजर शॉट मिला था, उनमें से लगभग एक तिहाई को पहले कोविड हो चुका था। उन्होंने बताया कि वैक्सीन लगने के बाद उन्हें ठंड लगने के साथ पूरे शरीर में साइड इफेक्ट का असर देखने को मिला। जबकि जिन लोगों को पूर्व में कोविड नहीं था, वे टीकाकरण के बाद भी पूरी तरह से सामान्य थे।

दुष्प्रभावों का ज्यादा असर युवा वर्ग पर
टीकाकरण के बाद दुष्प्रभावों का सबसे ज्यादा असर युवाओं में देखने को मिला। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) की कोच्चि शाखा द्वारा किए गए अध्ययन के अनुसार, कोविड वैक्सीन के दुष्प्रभाव भारत में बुजुर्गों की तुलना में युवाओं में ज्यादा देखने को मिले। अध्ययन में 5396 प्रतिभागियों को शामिल किया गया। जिसमें 20-29 के युवा और 80-90 वर्ष के बुजुर्ग शामिल हुए। टीका लगने के बाद 81 प्रतिशत युवाओं ने साइड इफेक्ट का अनुभव किया, जबकि मात्र 7 प्रतिशत ऐसे थे, जिनमें इसके हल्के फुल्के साइड इफेक्ट दिखे। ये 7 प्रतिशत लोग बुजुर्ग थे।

lalit sahu Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned