एम्स ने बनाया ऐप, मोबाइल पर देख सकते हैं जांच रिपोर्ट

बायोकेमेस्ट्री और पैथोलॉजी की जांच रिपोर्ट ऑनलाइन, माइक्रोबायोलॉजी के लिए अभी लगेगा डेढ़ माह

रायपुर. राजधानी के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) के मरीजों को बायोकेमेस्ट्री और पैथोलॉजी की जांच रिपोर्ट लेने के लिए अब परेशान नहीं होना पड़ेगा। मरीज घर बैठे अपने मोबाइल पर जांच रिपोर्ट देख और डाउनलोड कर सकते हैं। एम्स ने इसके लिए एक एप एम्स रायपुर स्वास्थ्य तैयार किया है। गूगल प्लेस्टोर से एम्स रायपुर स्वास्थ्य एप्लीकेशन डाउनलोड कर बायोकेमेस्ट्रिी और पैथोलॉजी की जांच रिपोर्ट देखी जा सकती है।
माइक्रोबायोलॉजी में होने वाली जांच की रिपोर्ट के ऑनलाइन होने में करीब डेढ़ माह का समय लग जाएंगा। हालांकि, इसके लिए भी प्रकिया शुरू है। एम्स की ओपीडी करीब 3500 के ऊपर है। इसमें से करीब 2000 लोगों की कोई ना कोई जांच जरूर होती है। कुछ रिपोर्ट उसी दिन मिल जाती है तो कुछ को आने में दो-तीन दिन का समय लग जाता है।
ऐसे देख सकते हैं रिपोर्ट
किसी को मोबाइल में रिपोर्ट देखने के लिए पहले गूगल प्लेस्टोर से एप एम्स रायपुर स्वास्थ्य डाउनलोड करना पड़ेगा। एप पर क्लिक करने पर ऑप्शन खुलेगा। ऑप्शन में जांच रिपोर्ट का रजिस्ट्रेशन और एम्स में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर डालते पर एक ओटीपी नंबर आएगा। ओटीपी नंबर डालते ही जांच रिपोर्ट मोबाइल स्क्रीन पर दिखने लगेगा।
यह होगा फायदा
राजधानी समेत आसपास के लोगों को रिपोर्ट लेने में कोई परेशानी नहीं होती, लेकिन दूरदराज और अन्य प्रदेश से आने वालों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। विशेषज्ञों का कहना है कि ऑनलाइन होने से मरीज एप से जांच रिपोर्ट डाउनलोड कर किसी भी अस्पताल में इलाज करा सकेंगे।
एम्स रायपुर अधीक्षक डॉ. करन पीपरे ने बताया कि एम्स पहुंचे मरीजों को कोई दिक्कत न हो, इसके लिए सुविधाओं का विस्तार किया जा रहा है। ऑनलाइन रिपोर्ट होने से दूर-दराज के मरीजों को काफी सहुलियत हो गई है।

Nikesh Kumar Dewangan Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned