अमरनाथ यात्रा : दिल्ली जाकर रद्द कराना पड़ रहा है एयर टिकट

अमरनाथ यात्रा : दिल्ली जाकर रद्द कराना पड़ रहा है एयर टिकट

Anupam Rajiv Rajvaidya | Updated: 05 Aug 2019, 02:01:35 AM (IST) Raipur, Raipur, Chhattisgarh, India

  • रायपुर से कराया था सोमवार की यात्रा के लिए टिकट
  • राजधानी के आठ युवाओं ने 83 हजार रुपए का लिया था हवाई टिकट
  • अब उनका पैसा रिफंड नहीं किया जा रहा
  • ऐन वक्त पर टिकट (air ticket) कैंसिल (cancellation) कराने से कोई रिफंड नहीं मिलेगा : विमानन कंपनी

 

रायपुर. कश्मीर (Kashmir) में आतंकी हमले के अलर्ट के बीच केंद्र सरकार द्वारा ऐन वक्त पर अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) पर रोक लगाने का खामियाजा रायपुर के श्रद्धालुओं को भुगतना पड़ रहा है। उन्हें अपना एयर टिकट (air ticket) रद्द (cancellation) कराने के लिए दिल्ली की दौड़ लगानी पड़ रही है।
कुशालपुर निवासी लवकुश सोनी सहित आठ युवाओं की टोली 5 अगस्त को अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) के लिए निकलने वाले थे। उन्होंने 20 जुलाई को कश्मीर (Kashmir) के लिए इंडिगो एयरलाइंस (Indigo Airlines) का 83 हजार रुपए का टिकट (air ticket) कराया था। लेकिन अब उनका पैसा रिफंड नहीं किया जा रहा है। उनका कहना है कि इंडिगो एयरलाइंस (Indigo Airlines) के रायपुर कार्यालय में यह कहकर मना कर दिया गया कि ऐन वक्त पर टिकट (air ticket) कैंसिल कराने (cancellation) से कोई रिफंड नहीं मिलेगा। ऐसी स्थिति में सभी साथी रायपुर से दिल्ली जाने के लिए मजबूर हैं। वहां जाकर इंडिगो एयरलाइंस (Indigo Airlines) के कार्यालय में रिफंड की मांग करेंगे।
24 अप्रैल से शुरू हुआ पंजीयन
अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) के लिए 24 अप्रैल से पंजीयन शुरू हुआ था। श्रद्धालुओं ने जम्मू एंड कश्मीर बैंक से अधिकृत बैंकों के माध्यम से पंजीयन कराना शुरू किया। तीर्थयात्रियों ने दो से तीन महीने पहले ट्रेन और हवाई जहाज का टिकट (air ticket) बुक कराया। लेकिन अचानक अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) पर रोक लगने से उनकी आस्था को झटका लगा है। अमरनाथ यात्रा (Amarnath Yatra) 29 जून से प्रारंभ हुई थी। इस दौरान राजधानी समेत छत्तीसगढ़ (chhattisgarh) से लोग बाबा बर्फानी का दर्शन कर सकुशल लौट आए तो कुछ लोग वापसी कर रहे हैं।
ट्रेन टिकट भी कैंसिल
रेल अधिकारियों के मुताबिक मंगलवार को दुर्ग-जम्मूतवी एक्सप्रेस (Durg-Jammu Tawi express) ट्रेन के 50 से अधिक टिकट कैंसिल हुए हैं। रेलवे के मुख्य टिकट आरक्षण केंद्र के पर्यवेक्षक शरद जोशी का कहना है कि ई-टिकट (e-ticket) का प्रचलन बढऩे से 70 से 80 फीसदी टिकट काउंटर से बनने बंद हो चुके हैं। दुर्ग-जम्मूतवी एक्सप्रेस (Durg-Jammu Tawi express) ट्रेन में वेटिंग चल रही थी। ई-टिकट (e-ticket) कैंसिलेशन (cancellation) का हिसाब अलग है।

Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned