जाति प्रमाणपत्र निरस्त करने का मामला: ऋचा जोगी की जाति को लेकर अब सुप्रीम कोर्ट जाएगा जोगी परिवार

ऋचा जोगी (Richa Jogi) की जाति प्रमाणपत्र निरस्त करने के मामले में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अमित जोगी (Amit Jogi) ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाने की तैयारी शुरू कर दी है।

By: Ashish Gupta

Published: 11 Jul 2021, 08:15 PM IST

रायपुर. ऋचा जोगी (Richa Jogi) की जाति प्रमाणपत्र निरस्त करने के मामले में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अमित जोगी (Amit Jogi) ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगाने की तैयारी शुरू कर दी है। अमित ने कहा, पहले पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह (Former Chhattisgarh CM Raman Singh) ने उनके पिता की जाति को खारिज किया था। अब वर्तमान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल (CM Bhupesh Baghel) भी वहीं कर रहे हैं। हमें न्यायालय पर पूरा विश्वास है कि हमारे साथ न्याय होगा। वहीं इस मामले में ऋचा जोगी की जाति को लेकर शिकायत करने वाले संतकुमार नेताम ने शनिवार को बिलासपुर उच्च न्यायालय में केविएट दायर कर दी है।

यह भी पढ़ें: ढाई-ढाई साल के सीएम के सवाल पर मुख्यमंत्री भूपेश ने कही ये बड़ी बात

बता दें उच्च स्तरीय प्रमाणीकरण छानबीन समिति ने जोगी की धर्मपत्नी ऋचा जोगी के अनुसूचित जनजाति प्रमाणपत्र को निरस्त कर दिया है। कमेटी के मुताबिक पेंड्रीडीह के ग्रामीणों ने भी कहा है कि ऋचा जोगी के परिवार ने खुद को गैर आदिवासी घोषित किया हुआ है और इनका गोंड जाति से कोई लेना-देना नहीं है। समिति ने सभी पक्षों की सुनवाई करने के बाद यह फैसला लिया है। समिति के फैसले के मुताबिक ऋचा जोगी के पिता क्रिश्चियन थे।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ मानसून सत्र: बिना टीका लगवाए विधायकों को नहीं मिलेगा सदन में प्रवेश

आदिवासी नहीं तो आखिर हमारी जाति क्या है?
इस मुद्दे को लेकर जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी ने एक ट्वीट भी किया है। उन्होंने लिखा है, दुनिया में ऋचा और मैं ही बिना किसी जाति के प्रथम और एकमात्र दम्पती बन चुके हैं। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल जी बताने की कृपा करेंगे कि अगर हम आदिवासी नहीं हैं- तो आखिर हमारी जाति क्या है? उन्होंने आगे लिखा है कि क्या हम दोनों मंगल गृह से हैं कि हमारी कोई जाति ही नहीं है।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned