बीएससी नर्सिंग सेकंड ईयर का पेपर लीक, सभी परीक्षाएं हुईं रद्द, बीजेपी बोली - कांग्रेस सरकार में सब संभव

आयुष विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित की जा रही बीएससी नर्सिंग सेकंड ईयर की परीक्षा के पेपर लीक होने से हड़कंप मच गया है। इसकी पुष्टि होने के बाद विवि ने तत्काल इस पेपर, समेत पूर्व में हुए एक अन्य विषयों के पेपर के साथ-साथ बीएससी फर्स्ट, सेकंड, थर्ड और फोर्थ ईयर की सभी परीक्षाएं रद्द कर दी हैं।

By: Ashish Gupta

Published: 21 Aug 2021, 12:12 PM IST

रायपुर. आयुष विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित की जा रही बीएससी नर्सिंग सेकंड ईयर की परीक्षा (BSc Nursing second year paper leaked) के पेपर लीक होने के बाद बीजेपी हमलावर हो गई है। पूर्व मंत्री और बीजेपी विधायक बृजमोहन अग्रवाल ने छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार पर सीधा निशाना साधते हुए कहा, प्रदेश में शिक्षा माफिया ने भी अपने पैर पसारने चालू कर दिए हैं। नर्सिंग का पेपर खुलेआम बेचा गया जब बात खुल गई तो पेपर लीक का बहाना बनाकर परीक्षा रद्द कर दी गई। कांग्रेस सरकार में सब संभव है।

बीएससी नर्सिंग सेकंड ईयर का पेपर लीक, सभी परीक्षाएं हुईं रद्द
इधर, आयुष विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित की जा रही बीएससी नर्सिंग सेकंड ईयर की परीक्षा के पेपर लीक होने से हड़कंप मच गया है। इसकी पुष्टि होने के बाद विवि ने तत्काल इस पेपर, समेत पूर्व में हुए एक अन्य विषयों के पेपर के साथ-साथ बीएससी फर्स्ट, सेकंड, थर्ड और फोर्थ ईयर की सभी परीक्षाएं रद्द कर दी हैं। कुलपति डॉ. अशोक चंद्राकर ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। वहीं विवि को केंद्रों से पेपर लीक होने का अंदेशा है। इस साल पहली बार निजी कॉलेजों में भी केंद्र बनाए गए थे।

'पत्रिका' पड़ताल में सामने आया कि शुक्रवार को फॉर्मेकोलॉजी, पैथोलॉजी और जेनेटिक्स का पेपर होना था। मगर, गुरुवार शाम विवि तक यह सूचना पहुंची कि पेपर लीक हो रहे हैं। जानकारी देने वाले इसे ज्यादा कोई और सूचना नहीं दी। इसके बिनाह पर गुरुवार रात तक सभी 20 केंद्राध्यक्षों को सूचना दे दी गई कि पेपर के बंडल सुबह 8:30 बजे खोले जाएं। सभी केंद्रों के लिए आब्जर्वरों की टीम भी रवाना कर दी गई। जब आब्जर्वर ने लीक पेपर के साथ विवि के पेपर से मिलान किया गया तो पेपर मैच कर रहा था। इसके बाद रजिस्ट्रार ने पेपर रद्द करने का आदेश जारी कर दिया। हालांकि इसके साथ हो ही एमएमसी नर्सिंग और पोस्ट बेसिक की परीक्षा यथावत रही।

यह भी पढ़ें: छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण की रफ्तार सुस्त, बीते 24 घंटे में 48 नए मरीज मिले, 62 स्वस्थ हुए, 1 मौत

पहली बार पेपर हुआ लीक
पहला मौका है जब आयुष विश्वविद्यालय का कोई पेपर लीक हुआ है। विवि द्वारा मेडिकल, डेंटल, नर्सिंग, फिजियोथैरेपी की सभी परीक्षाएं आयोजित करवाई जाती हैं। यह प्रदेश का एकमात्र चिकित्सा विश्वविद्यालय है।

अप्रैल से हैं केंद्रों में पेपर
बीएससी नर्सिंग की परीक्षा अप्रैल में होनी थी। तभी से पेपर 20 केंद्रों में भेज दिए गए थे। मगर, छात्र ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करवाने में अड़े हुए थे। इन्होंने ऑफलाइन परीक्षा का कड़ा विरोध किया। 18 कोर्ट केस हुए। मगर, अंत में ऑफलाइन परीक्षा होनी तय हुई। पहली बार निजी कॉलेजों में भी परीक्षा केंद्र बनाए गए।

यह भी पढ़ें: कोरोना संक्रमण के बीच डेंगू की दहशत, बीते 24 घंटे में 22 और मरीज रिपोर्ट, जानें बचाव के उपाय

इस प्रकार होगी जांच
पत्रिका ने विवि के एक उच्च अधिकारी से बात की। उन्होंने बताया कि सभी 18 केंद्रों से पेपर बंडलों सहित मंगवाए जा रहे हैं। इन सभी बंडल और पेपरों का मिलान होगा। इससे पेपर किस केंद्र में लीक हुआ है पता चल जाएगा।

आयुष विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ. राजेश हिषीकर ने कहा, पेपर लीक होने की आशंका पर बीएससी की परीक्षाएं रद्द कर दी गई है। जांच जारी है। मैं स्पष्ट कर दूं कि पेपर 5 महीने पहले ही केंद्रों में भेज दिए गए थे।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned