101 दिन में बैंड, घोड़ी, लाइटिंग और डीजे वालों को 10 करोड़ का झटका

कोरोना ने तोड़ी कमर, परिवार चलाना मुश्किल

By: VIKAS MISHRA

Updated: 03 Jul 2020, 12:39 AM IST

रायपुर . जिले में बैंड, घोड़ी, डीजे लाइटिंग और साउंड सिस्टम की दुकान संचालित करने वाले कारोबारियों को पिछले 101 दिन में लगभग 10 करोड़ का नुकसान उठाना पड़ा है। शादी के पीक सीजन में इनका कारोबार पूरी तरह ठप है। सरकार ने लॉकडाउन की स्थिति में ऐसी गतिविधियों पर रोक लगा रखी है, जिससे भीड़ एकत्रित हो। इनका ही खमियाजा इन दुकानदारों को भुगतना पड़ रहा है।
राजधानी के शारदा चौक में एम. सिद्दिकी बैंड पार्टी सीनियर के नाम से कारोबार का संचालन करने वाले संचालक ने बताया कि उनके और दूसरे व्यापारियों के सामने अब परिवार चलाने का संकट पैदा हो रहा है। बचा पैसा भी धीरे-धीरे खत्म हो रहा है। इसलिए आर्थिक संकट सामने आकर खड़ा हो गया है। छत्तीसगढ़ डीजे यूनियन के पदाधिकारियों का कहना है की उनके सामने भी कई तरह की समस्याएं उत्पन्न हो रही हैं। इन दोनों ही संघों से कई ऐसे कलाकार और दुकानदार जुड़े हुए हैं जो शादियों के सीजन में अपना काम करते हैं और परिवार का गुजर-बसर कर रहे हैं। स्थिति यह है कि वर्तमान में दुकान नहीं खुलने से दूसरे राज्य के आए कलाकारों को पलायन करना पड़ा रहा है। आयोजनों की अनुमति ना मिलने से संघ के व्यापारी नाखुश हैं।
एडवांस पैसा लौटाया
संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि मार्च से शादी का लगन शुरू हो गया था। इसके लिए एडवांस भी लेना शुरू कर दिया था। काम नहीं हो पाने की वजह से कई संचालकों को एडवांस वापस करना पड़ा। पैसा लौटाने और परिवार चलाने के लिए कई कारोबारियों ने अपनी गाड़ी या अन्य सामान तक गिरवी रख दिया है।
सरकार के सामने बात रखने का बना रहे मन
संघ के पदाधिकारियों ने कहा कि पिछले दिनों दूसरे जिलों के पदाधिकारियों के साथ बैठक ली थी। रायपुर जिले के पदाधिकारी पूर्व में संस्कृति विभाग और एसडीएम को पत्र सौंप चुके हैं। संघ के पदाधिकारी जल्द मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से गुहार लगाकर अपने लिए कारोबार की मांग करेंगे, ताकि परिवार की आर्थिक तंगी को दूर कर सकें।
छत्तीसगढ़ डीजे यूनियन के अध्यक्ष आशीष दुबे का कहना है कि एसडीएम को मामले में पूर्व में ज्ञापन सौंप चुके हैं। 500 रुपए भत्ता हमें दिया जा रहा है। 500 रुपए में परिवार कैसे पालेंगे? सीएम से मिलकर जल्द गुहार लगाएंगे। सरकार से अपील है कि छोटे कार्यक्रमों में डीजे और साउंट सिस्टम लगाने की इजाजत दें, ताकि परिवार पाल सकें।
एम. सिद्दिकी बैंड पार्टी सीनियर के संचालक मोहम्मद सलीम सिद्दिकी का कहना है कि पूर्व में संस्कृति विभाग और कलेक्टर को ज्ञापन दे चुके हैं। सीएम भूपेश बघेल से मिलकर जल्द उन्हें ज्ञापन सौंपेंगे और अपनी समस्या का समाधान उनसे कराएंगे।

VIKAS MISHRA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned