scriptBank Safety tips follow these steps to protect yourself from bank frau | Bank Safety Tips: बैंकिंग की इन छोटी-छोटी बातों का रखें ध्यान, ऑनलाइन ठगी का नहीं होंगे शिकार | Patrika News

Bank Safety Tips: बैंकिंग की इन छोटी-छोटी बातों का रखें ध्यान, ऑनलाइन ठगी का नहीं होंगे शिकार

Bank Safety Tips: बैंकों के कामकाज से जुड़ी छोटी-छोटी बातों की अनदेखी करने और जागरूकता के अभाव में लोग साइबर ठगी के शिकार हो रहे हैं।

रायपुर

Updated: December 03, 2021 12:03:42 pm

रायपुर. Bank Safety Tips: बैंकों के कामकाज से जुड़ी छोटी-छोटी बातों की अनदेखी करने और जागरूकता के अभाव में लोग साइबर ठगी (Cyber Fraud) के शिकार हो रहे हैं। साइबर क्राइम (Cyber Crime) के ऑनलाइन पोर्टल में आई शिकायतों के मुताबिक 1 नवंबर 2020 से 31 अक्टूबर 2021 तक 500 से ज्यादा ऐसे मामले सामने आ चुके हैं, जिसमें ठगों ने बैंक अधिकारी बनकर या उनके कामकाज के नाम पर लोगों को ऑनलाइन ठगा है। बैंकिंग के प्रति जानकारी की कमी का फायदा साइबर ठग उठा रहे हैं।
Bank Safety tips
बैंकिंग की इन छोटी-छोटी बातों का रखें ध्यान, ऑनलाइन ठगी का नहीं होंगे शिकार
सबसे पुराना तरीका
बैंक अधिकारी-कर्मचारी बनकर ऑनलाइन ठगी करना साइबर ठगी का सबसे पुराना तरीका है। पहले एटीएम कार्ड ब्लॉक होने, केवायसी करने, वैधता खत्म होने आदि के नाम पर ठग लोगों के उलझाते थे। अब क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाने, उसे बंद कराने, ऑनलाइन कर्ज देने, केवासयी के नाम पर ठगा जा रहा है।
केस-1
सुंदरनगर निवासी निधि अग्रवाल के पास 30 अक्टूबर को एक व्यक्ति ने कॉल किया और बताया कि वह एसबीआई बैंक से बोल रहा है और क्रेडिट कार्ड की लिमिट बढ़ाने का ऑफर दिया। इस दौरान झांसा देकर उसने एक इंटरनेट लिंक भेजा, जिसमें क्लिक करते ही युवती के बैंक खाते से 70 हजार रुपए पार हो गए।
केस-2
17 जून को अभनपुर के बिजली विभाग के रिटायर्ड अधिकारी अशोक कुमार साहू को बैंक अधिकारी बनकर साइबर ठग ने फोन किया और उनके बेटे की कोरोना से मौत होने पर मुआवजे की राशि उनके बैंक खाता में ट्रांसफर करने का झांसा देकर अलग-अलग दिन 63 लाख रुपए ठग लिया था।
अब तक मिली शिकायतें
तरीका -शिकायतें
बैंक अधिकारी बनकर -208
इंटरनेट बैंकिंग के जरिए -140
ईवॉलेट के जरिए -144
रकम डिपाजिट करने के नाम पर -35

ऐसे बच सकते हैं ठगी से
-बैंक में जाकर ही काम करने को प्राथमिकता दें।
-बैंक अधिकारी बनकर फोन करने वालों को बैंक खाता नंबर, क्रेडिट-डेबिट कार्ड के पासवर्ड, पिन नंबर, सीवीवी नंबर आदि गोपनीय जानकारी न दें।
-बैंक खाता नंबर, क्रेडिट-डेबिट कार्ड की केवायसी या अपडेट बैंक के ब्रांच में जाकर ही कराएं।
-अनजान व्यक्ति द्वारा भेजे गए इंटरनेट लिंक को खोलकर उसमें अपने बैंक खाता, क्रेडिट कार्ड, यूपीआई आदि से जुड़ी जानकारी न भरें।
-इंटरनेट बैंकिंग या ऑनलाइन भुगतान करते समय बैंकिंग संस्थान के अधिकृत और तकनीकी रूप से सुरक्षित वेबसाइटों का ही उपयोग करें।
-फोन करके क्रेडिट कार्ड बंद-चालू करने या लिमिट बढ़ाने वालों से सावधान रहें। फोन पर किसी तरह की जानकारी शेयर न करें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलजम्मू कश्मीर में सुरक्षाबलों को मिली बड़ी कामयाबी, लश्कर-ए-तैयबा का आतंकी जहांगीर नाइकू आया गिरफ्त मेंCovid-19 Update: दिल्ली में बीते 24 घंटे के भीतर आए कोरोना के 12306 नए मामले, संक्रमण दर पहुंचा 21.48%घर खरीदारों को बड़ा झटका, साल 2022 में 30% बढ़ेंगे मकान-फ्लैट के दाम, जानिए क्या है वजहचुनावी तैयारी में भाजपा: पीएम मोदी 25 को पेज समिति सदस्यों में भरेंगे जोशखाताधारकों के अधूरे पतों ने डाक विभाग को उलझायाकोरोना महामारी का कहर गुजरात में अब एक्टिव मरीज एक लाख के पार, कुल केस 1000000 से अधिक
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.