scriptbans ke bne jinis la bech ke klar samaj ke loganman roji-majdur kmathe | छत्तीसगढ़ी संस्करीति म बांस सिल्प के अब्बड़ महत्तम हे | Patrika News

छत्तीसगढ़ी संस्करीति म बांस सिल्प के अब्बड़ महत्तम हे

छितका ह देखे म कमंडल असन दिखथे। ऐला कोनो मेर भी टांग के रख सकथन। छितका ल घलो बनाए बर बस के पतला-पतला कांडी के उपयोग करथे। गांव घर म छितका म घी रखे बर अउ कोनो अइसने सामान जेला बिलई ह झन अमर सकें तइसने रखें बर कोनो जगा म टांग के रखथे।

रायपुर

Published: May 16, 2022 04:45:11 pm

छत्तीसगढ़ के संस्करीति म वन संपदा के भरमार हे। जंगलमन म गांव के मनखेमन के जीविका के उपयोगी सामान अब्बड़ अकन मिलथे। जेमा एकठन बढ़ उपयोगी जिनिस हे बांस। बांस के बने सामान ल बेच के गंवाई के मनखेमन अपन रोजी-रोटी कमाथें।
टुकना- टुकना बनाए बर बांस ल काट के वोला लंबा-लंबा रस्सी असन बना लेथे। जेला बांस के छिले चौड़ा पट्टी बांस म गूथ के बडक़ा आकार के गोल टुकना बनाथे। बड़े आकार के टुकना ह घर के उपयोग सामानमन, धान, चाउर, गहूं, चना धरे काम आथे।
टुकनी- टुकनी ल बांस के लकड़ी ल काड़ी असन छोटे छोटे टुकड़ा म छिल के निकाले के बाद टुकनी गुत्थे। टुकनी ह टुकना के छोटे आकार हवय। टुकनी के उपयोग सब्जी-भाजी रखें बर काम म आथे। ऐर संगे-संग नवरात के बेरा म भोजली बोए बर उपयोग म लाथे।
पररा- बांस के बने पररा छत्तीसगढ़ के घरोघर म देखे बर मिल जही। छत्तीसगढ़हीन दाई ृमन पररा के सहयोग ले बड़ी सुखाए के बुता म लेथे। ऐकरे संगे-संग सब्जी-भाजी रखे बर घलो ऐर उपयोग करथे। छत्तीसगढ़ी परिवार के बिहाव म पररा के अब्बड़ बुता रहिथे। बिहाव सुरू होए के संग सब्बो नेग म पररा के काम रहिथे। कतको ठन नेग बिना पररा के नइ होवय।
पररी- पररी ल हमन छोटे पररा घलो कही सकथन। पररी ल माइलोगिनमन भात पसाय बर, कुछु कहीं ल परोसे बर प्लेट जइसे उपयोग करथे। ऐकर संग म छोटे-मोटे बरतन ल ढांके बर घलो पररी के उपयोग करथन। जेन घर म चूल्हा म हडिय़ा म भात रांधथे उहां पररी के उपयोग होथे। गंज के, डेचकी म भात पसाय बर पररी ह सहयोग करथे।
झउवा- छत्तीसगढ़ के किसान परिवार म ऐकर अब्बड़ महत्तम रहिथे। जिखर घर म गाय गरवा हे वोमन दाना, भूसी रखे बर, गोबर कचरा उठाये बर झउवा के उपयोग होथे।
खरेटा- खरेटा (बहरी) झाड़ू के दूसरा रूप आए। बांस के पतला-पतला कांडी ले ऐला बनाथे। गरवा कोठा ल बहारे बर, माटी वाले जगा ल साफ करें बर, गोबर कचरा ल बहारे बर खरेटा ल काम म लाथन। जिकर घर म गरवा कोठा रहिथे उंकर घर म खरेटा के अब्बड़ काम परथे। ऐकर संगे-संग खेती किसानी के बेरा ल घलो खरेटा काम म आथे।
सुपा- छत्तीसगढिय़ामन के घरोघर आपमन ल सुपा देखे बर मिल जाही। अभी के बेरा म बांस के सुपा के जगा प्लास्टिक के सुपा ह ले लेह हे। तभो ले गांव-घर म आपमन ल बांस के बने सुपा मिल जही। सुपा बढ़ काम के हवय। घर के माइलोगिन मन चाउर-धान पछिने बर (साफ करे बर) सुपा ल काम म लेथे। धान से चाउर से गोटी माटी ल पछिने बर सुपा के बढ़ जरूरत पड़थे।
सुपेली- बांस के बने सुपा के छोटे रूप हवय सुपेली। सुपेली पहली बांस के जादा मिले। अभी के बेरा म प्लास्टिक के सुपेली के चलन जादा बाढ़ गे हे। सुपेली म धान, भूसी, कचरा सब्बो उठाए के बुता म लाथे।
दौरी- दौरी बांस के बने टुकना आए। ऐमा धान चाउर ल रखथे। खाली टुकना म घलो धान चाउर ल रख सकथे। फेर ऐमन म धान चाउर ह अब्बड़ अकन फंस जाथे। जेकर सेती सामान्य टुकना के जगा म दौरी ल रखथे। दौरी ल बनाए बर टुकना ल गोबर अउ माटी के लेप ले पोतथे जेकर ले वोहा अउ मजबूत हो जथे। संगे-संग वोकर सब्बो छेदरामन भर जाथे। ऐला लिपे के बाद सुखाए बर छोड़ देथे। सूखे के बाद ऐमा धान-चाउर ल सहेज के रखे बर नापे बर एक जगा ल दूसर जगा रखे बर काम म लाथे।
झांपी- झांपी ल बनाए बर बांस के पतला-पतला छिलका निकाल के वोला गुथे जाथे। जेमा छोटे-छोटे छेदा रहिथे जेकर ले हवा ह वोकर भीतरी अउ बाहिर जा सके। ऐला अउ सुग्घर बनाए बर ऐकर पट्टीमन ल अलग-अलग रंग ले रंग देथे। जेकर से देखे म अब्बड़ सुग्घर दिखथे। झांपी ल मनखेमन कुकरा-कुकरी तोपे बर, छोटे चिरई चुरगुन ल टोपे बर, बदक ल तोपे बर राखे रहिथे।
छत्तीसगढ़ी संस्करीति म बांस सिल्प के अब्बड़ महत्तम हे
छत्तीसगढ़ी संस्करीति म बांस सिल्प के अब्बड़ महत्तम हे

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

जयपुर में एक स्वीमिंग पूल में रात का सीसीटीवी आया सामने, पुलिसवालें भी दंग रह गएकचौरी में छिपकली निकलने का मामला, कहानी में आया नया ट्विस्टइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलचेन्नई सेंट्रल से बनारस के बीच चली ट्रेन, इन स्टेशनों पर भी रुकेगीNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयधन कमाने की योजना बनाने में माहिर होती हैं इन बर्थ डेट वाली लड़कियां, दूसरों की चमका देती हैं किस्मतCBSE ने बदला सिलेबस: छात्र अब नहीं पढ़ेगे फैज की कविता, इस्लाम और मुगल साम्राज्य सहित कई चैप्टर हटाए

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: वडोदरा में आधी रात को देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात, सुबह पहुंचे गुवाहाटीMaharashtra Political Crisis: शिंदे गुट के दीपक केसरक का बड़ा बयान, कहा- हमें डिसक्वालीफिकेशन की दी जा रही हैं धमकीMaharashtra Politics Crisis: शिवसेना की कार्यकारिणी बैठक खत्म, जानें कौन-कौन से प्रस्ताव हुए पारितTeesta Setalvad detained: तीस्ता सीतलवाड़ को गुजरात ATS ने लिया हिरासत में, विदेशी फंडिंग पर होगी पूछताछकर्नाटक में पुजारियों ने मंदिर के नाम पर बनाई फर्जी वेबसाइट, ठगे 20 करोड़ रुपएAmit Shah on 2002 Gujarat Riots: गुजरात दंगों पर SC के फैसले के बाद बोले अमित शाह, PM मोदी को इस दर्द को झेलते हुए देखा हैMaharashtra Political Crisis: वडोदरा में देवेंद्र फडणवीस और एकनाथ शिंदे के बीच हुई थी मुलाकात- रिपोर्ट'अग्निपथ' के विरोध में तेलंगाना के सिकंदराबाद में ट्रेन में आग लगाने वालों की वायरल हो रही वीडियो, पुलिस ने पहचान कर किया गिरफ्तार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.