scriptbastar both sinlp ke madhyam se bastar ke sanskriti ke giyan hohi | बस्तर में मछरी पकड़े के पारंपरिक सैली बिसेस होथे | Patrika News

बस्तर में मछरी पकड़े के पारंपरिक सैली बिसेस होथे

बस्तरवासीमन ए मछरी ल अब्बड़ सम्मान देथें। ऐकरे नांव ऊपर ही बारसूर के तीर बोध नांव के एकठन गांव हे। वोकरेे नांव ऊपरे आधारित जगदलपुर म बोधघाट कालोनी अउ एकठन थाना घलो हे। जेकर नांव बोधघाट थाना घलो हावे।

 

रायपुर

Published: April 18, 2022 05:29:16 pm

बस्तर में मछरी पकड़े के पारंपरिक सैली बिसेस होथे। जिहां एकठिन बांस पिरामिड के जाली सीधा तो दूसर ह बांस के पिरामिड के जाली आड़ा रखे जाथे। दूनों सुरंग असन जालीमन एक-दूसर ले अरझे रहिथें। आड़ा जाली के एक कोर चाक्कर अउ खुल्ला होथे। दूसरा ह सांकर सीधा। दूसर बांस के पिरामिड वाले जाली म अरो देय जाथे। अब ये पूरा यंत्र ल मछरी पकड़े के जगा म छोड़ दे जाथे। ए जाली म मछरीमन फंस जथे।
बस्तरवासीमन ए मछरी ल अब्बड़ सम्मान देथें। ऐकरे नांव ऊपर ही बारसूर के तीर बोध नांव के एकठन गांव हे। वोकरेे नांव ऊपरे आधारित जगदलपुर म बोधघाट कालोनी अउ एकठन थाना घलो हे। जेकर नांव बोधघाट थाना घलो हावे। बस्तर के बोधघाट परियोजना के बारे म तो आपमन सुने होहू। ए सबके मूल म बोध मछरी हावय। ऐकर ऊपर आधारित चित्रकोट जलपरपात के खोह म सैकड़ों बरीस जुन्ना बोध मंदिर घलो हे। मछरी भूखाथे तब आक्रमक हो जाथे अउ पानी म उतरे मनखे ऊपर हमला कर देथे। ऐकरे सेती इंदरावती नदिया के आसपास के कतकोन गांव के रहवासीमन ए मछरी के पूजा करथें। बस्तर म ऐला खाये बर नइ, बल्कुन बेचे के खातिर धरथें। चित्रकोट, बारसूर, चिंताघाटी, भैरमगढ़ म मछरी के सिकार करे जाथे। फेर, अब ऐला राजकीय जलीय मछरी के दरजा देके संरक्छित करे बर परही।
इको फ्रेंडली संसाधनमन के परयोग। मछली पकड़े बर प्लास्टिक के धागों से बने जाल के जगा म बांस के जाल का परयोग। पैरावट, पैरा,खड़ जइसन रिसाइकिल होये वाली जिनिस के परयोग। बस्तर के बांस के जाली के सानदार संरचना के परचार परसार। मछरीमन ल पकड़े के बिसस पिरामिडिकल बांस के जाली के महत्व स्थापित करना। मछरी रखे बर जउन बांस के टुकरी के परयोग करे जाथे वोला ‘ढ़ुंटी’कहे जाथे। ऐ टुकनी के तला ह चाक्कर अउ ऊपर ह सोंसी होथे। बिग्यानिक तथ्य के अनुसार बने टुकनी जेमा मछरीमन तरी म कुदलइय्या करथें तभो ले टुकनी के सोंनसी मुंह ले बाहिर नइ निकल सकंय। दूठन पिरामिड आकार के आकरिति ल बांस से बनाना।
बस्तर में मछरी पकड़े के पारंपरिक सैली बिसेस होथे। जहां पर एक बांस पिरामिड के जाली सीधा तो दूसर ह बांस के पिरामिड के जाली आाड़ी रखे जाथे। दूनों सुरंग असन जालीमन एक-दूसर ले अरझे रहिथें। आाड़ी जाली के एक सिरा चाक्कर अउ खुल्ला होथे। दूसरा ह संकरा सीधा दूसर बांस के पिरामिड वाला जाली म अरो देय जाथे। अब ये पूरा यंत्र ल मछरी पकड़े के जगा म छोड़ दे जाथे। मछरीमन बांस के जाली जेहा पानी म तउरत रहिथे वोमा फंस के सीधा जाली म संगर जाथें। ए मछरी रखे बर बांस के बने टुकरी ‘ढुंटी’ घलो सानदार बिग्यानिक तकनीक ऊपर आधारित होथे।
भ विस्य म बस्तर के मछली सिल्प याने की बोध सिल्प के पुरातात्विक अन्वेसन बर जिग्यासु बनहीं। पुरातत्व कारज खातिर बस्तर ल चिन्हारी कर के अपन संस्करीति के संरक्छन म महत्वपूरन भूमिका निभा सकथें। साथ ही बस्तर के बोध सिाल्प ले कपड़ा डिजाइनिंग के जानकारी ले सकथें। बस्तर बोध सिल्प ले भविस्य म सिक्छा के पाछू स्वरोजगार अरजन कर सकहीं। बस्तर बोध सिल्प के माध्यम से बस्तर के संस्करीति के गियान होही।
बस्तर में मछरी पकड़े के पारंपरिक सैली बिसेस होथे
बस्तर में मछरी पकड़े के पारंपरिक सैली बिसेस होथे

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

जम्मू कश्मीरः बारामूला में जैश-ए-मोहम्मद के तीन पाकिस्तानी आतंकी ढेर, एक पुलिसकर्मी शहीदDelhi News Live Updates: नारायणा इंडस्ट्रियल एरिया फेज 1 में चला एमसीडी का बुलडोजर, तोड़े गए अवैध निर्माणसुप्रीम कोर्ट में पूजा स्थल कानून के खिलाफ दायर की गई याचिका, संवैधानिक वैधता को चुनौतीTexas Shooting: अमरीकी राष्ट्रपति ने टेक्सास फायरिंग की घटना को बताया नरसंहार, बोले- दर्द को एक्शन में बदलने का वक्तजातीय जनगणना सहित कई मुद्दों को लेकर आज भारत बंद, जानिए कहां रहेगा इसका ज्यादा असरपंजाब CM Bhagwant Mann का एक और बड़ा फैसला, सरकारी नौकरियों के लिए पंजाबी भाषा है जरूरीकपिल सिब्बल समाजवादी पार्टी के टिकट से जाएंगे राज्यसभा, बताई कांग्रेस छोड़ने की वजहशिवसेना नेता यशवंत जाधव की बढ़ी मुश्किलें, ED ने जारी किया समन
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.