scriptBetting money depositing on pretext of becoming a business partner | बिज़नेस पार्टनर बनाने का झांसा देकर जमा करने लगा सट्टे का पैसा, दो आरोपी गिरफ्तार | Patrika News

बिज़नेस पार्टनर बनाने का झांसा देकर जमा करने लगा सट्टे का पैसा, दो आरोपी गिरफ्तार

locationरायपुरPublished: Nov 09, 2022 11:17:16 am

Submitted by:

Sakshi Dewangan

जायका बिरयानी सेंटर का मालिक आशीष भालेकर और कोतवाली निवासी शेख कमालुद्दीन बचपन के दोस्त है। 6 दिसंबर 2021 को दोनों दोस्त मिले थे। बातचीत के दौरान आशीष ने कमालुद्दीन को बिरयानी सेंटर कारोबार में पार्टनर बनाने की बात कही और प्रदेशभर में आउटलेट की फ्रेंचाईजी बढ़ाने के लिए कहा। आशीष ने कमालुद्दीन को बताया, उसके साथ पहले से नावेद कुरैशी और प्रीतम अग्रवाल पार्टनर के रूप में काम कर रहे हैं।

photo_2022-11-08_20-38-59.jpg

जायका बिरयानी का पार्टनर बनाने का झांसा देकर बचपन के दोस्त ने ठगी की। आरोपियों ने पीड़ित से खाता खुलवाया और उसमें महादेव बुक से कमाए सट्टे का पैसा ट्रांसफर करने लगा। पीड़ित को आरोपी दोस्त के इस कारनामें की जानकारी हुई, तो उसने पुलिस में शिकायत कर दी। पीड़ित की शिकायत के बाद पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पीड़ित का नाम पुलिस ने शेख कमालुद्दीन और आरोपियों का नाम आशीष भालकर और मोहम्मद नावेद बताया जा रहा है।

जायका बिरयानी सेंटर का मालिक आशीष भालेकर और कोतवाली निवासी शेख कमालुद्दीन बचपन के दोस्त है। 6 दिसंबर 2021 को दोनों दोस्त मिले थे। बातचीत के दौरान आशीष ने कमालुद्दीन को बिरयानी सेंटर कारोबार में पार्टनर बनाने की बात कही और प्रदेशभर में आउटलेट की फ्रेंचाईजी बढ़ाने के लिए कहा। आशीष ने कमालुद्दीन को बताया, उसके साथ पहले से नावेद कुरैशी और प्रीतम अग्रवाल पार्टनर के रूप में काम कर रहे हैं। वो भी पाटर्नर बन सकते हैं, लेकिन उसको अकाउंट खुलवाना होगा। बचपन से परिचय होने के कारण कमालुद्दीन तैयार हो गया, तो आरोपियों ने उसका खाता खुलवाया और पासबुक अपने पास रख ली। पासबुक रखने के साथ ही प्रॉफिट होने पर खाते में पैसे डालने की बात कही और अकाउंट का एटीएम व अन्य सामान बाद में देने के लिए कहा।

महादेव ऐप में कार्रवाई के दौरान आशीष भालेकर का नाम सामने आया, तो कमालुद्दीन ने उससे संपर्क करने की कोशिश की। आशीष का फोन बंद बताया, तो उसने अकाउंट की डिटेल निकाली। अकाउंट में बडी राशि ट्रांजेक्शन की जानकारी मिली, तो कमालुद्दीन ने पुलिस में सूचना दे दी। कमालुद्दीन की शिकायत के बाद पुलिस ने तकनीकी जांच के आधार पर दिल्ली में दबिश देकर आशीष और उसके दोस्त नावेद को पकड़ा। आरोपियों का तीसरा साथी प्रीतम फरार है और उसकी पुलिस तलाश कर रही है।

ये सामान जब्त किया आरोपियों से
पुलिस ने कार्रवाई कर आरोपियों के पास से 8 मोबाइल जब्त किए हैं। आरोपियों के 8 बैंक खातों में पड़े 4 लाख रुपए पुलिस ने होल्ड कराए। आरोपियों से पूछताछ करके महादेव ऐप के लोकल नेटवर्क का पुलिस पता लगाने की कोशिश कर रही है।

आरोपी आशीष और उसके पार्टनर के खिलाफ शेख कमालुद्दीन ने शिकायत की थी। पीड़ित की शिकायत के बाद दो आशीष और उसके पार्टनर नावेद को दिल्ली से पकड़ा है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।
अभिषेक माहेश्वरी, एएसपी सिटी, रायपुर

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.