scriptbhagwan shiri rajivlochan par rajim mata ki apar shrdha thi | राजिम माता की भक्ति के कारण कमलक्षेत्र पद्मावतीपुरी का नाम पड़ा ‘राजिम’ | Patrika News

राजिम माता की भक्ति के कारण कमलक्षेत्र पद्मावतीपुरी का नाम पड़ा ‘राजिम’

भगवान श्रीराजीव लोचन मंदिर परिसर में तेलीन माता का विशाल मंदिर है। मंदिर के सर्वराकार चंद्रभानसिंह ठाकुर ने बताया कि इस जगह का नाम पदमापुरी था, लेकिन अब इस स्थान को राजिम के नाम से जाना जाता है। इसके पीछे किवदंती है कि भगवान श्रीराजीव लोचन पर राजिम नाम की महिला की परम भक्ति थी

रायपुर

Published: February 23, 2022 04:52:32 pm

राजिम। भगवान श्रीराजीव लोचन मंदिर परिसर में तेलीन माता का विशाल मंदिर है। मंदिर के सर्वराकार चंद्रभानसिंह ठाकुर ने बताया कि इस जगह का नाम पदमापुरी था, लेकिन अब इस स्थान को राजिम के नाम से जाना जाता है। इसके पीछे किवदंती है कि भगवान श्रीराजीव लोचन पर राजिम नाम की महिला की परम भक्ति थी। सुबह से शाम तक वह भगवान की चरण वंदन किया करती थी। तेल निकालने का काम करने के बाद भी उनमें भगवान के प्रति श्रद्धा कूट-कूट भरी हुई थी। इसी के पुण्य फल से वह आगे बढ़ती गई। प्रतिदिन की तरह तेल लेकर नदी पार कर विक्रय करने के लिए जा रही थीए अचानक उसका पैर एक पत्थर से टकराया और वह गिर गई। इससे पात्र में रखा सारा तेल बह गया। राजिम सास-ससुर के डर के कारण रोने लगी। थोड़ी देर बाद जब वह घर जाने के लिए तेल के पात्र को उठाने के लिए उठी तो उसने खाली तेल के बर्तन में फिर से तेल से भरा हुआ देखकर वह आश्चर्यचकित रह गई।
इस घटना के बाद वह उत्सुकता के साथ संपूर्ण घटना का विवरण देने के लिए अपने घर की ओर चली गई। कहा जाता है कि जिस दिन से राजिमबाई ने अपने कोल्हू के पास नदी में मिली भगवान श्रीराजीव लोचन की मूर्ति स्थापित की, उस दिन से सारा दिन तेल बेचने के बाद भी उसका बर्तन खाली नहीं होता था। इस चमत्कार से राजिमबाई सहित उसके ससुराल वाले अचंभित हो गए। दूसरे दिन पूरा तेली परिवार उस पत्थर को उलट कर देखा तो औंधी मुंह के श्यामवर्णी चतुभुर्जी मूर्ति मिली। इन्हें घर में लाकर रख दिया और कोल्हू के पास स्थापित किया और पूजा अर्चना करते रहे। इधर रत्नपुर नरेश वीरवल को स्वप्न हुआ और स्वप्न के अनुसार राजिम में एक विशाल मंदिर का निर्माण किया। स्वप्न में कहे अनुसार राजिम तेलीन के पास जाकर उस मूर्ति की मांग करने लगेए इतने पर माता राजिम शांत बैठी रही। उनके मौन को स्वीकृति समझकर राजा ने ले जाने के उद्देश्य से मूर्ति को उठाने का प्रयास किया, लेकिन निश्फल रहा। तब पुन: राजिम से निवेदन करने लगे, इतने पर राजिम कहती है तुमने मेरे मौन को स्वीकृति समझ लिया, इसलिए मूर्ति नहीं उठी। श्रद्धा के साथ एक तुलसी पत्र लेकर उठाएं तो जरूर उठ जाएगी। राजा ने ऐसा ही किया। इससे प्रसन्न होकर कुछ मांगने के लिए कहा तब राजिम ने कहा कि हो सके तो इस मूर्ति के साथ मेरा नाम जुड़ जाए तो मैं अपने आप को सौभाग्यशाली समझुंगी। उसी दिन से इसका नाम राजिम पड़ गया। कहा जाता है कि राजा रत्नाकर का भगवान के प्रति अटूट आस्था थी, जिसके कारण उसने भगवान श्रीराजीव लोचन मंदिर की स्थापना की गई। यहां का मेला ऐतिहासिक, पौराणिक और धार्मिक रूप में विख्यात है। तेलीन माता के जयंती को 7 जनवरी को साहू समाज के द्वारा भव्य रूप से मनाई जाती है।
राजिम माता की भक्ति के कारण कमलक्षेत्र पद्मावतीपुरी का नाम पड़ा ‘राजिम’
राजिम माता की भक्ति के कारण कमलक्षेत्र पद्मावतीपुरी का नाम पड़ा ‘राजिम’

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

पंजाब CM भगवंत मान ने स्वास्थ्य मंत्री को भ्रष्टाचार के आरोप में किया बर्खास्त, मामला दर्जकहां रहता है मोस्ट वांटेड दाऊद इब्राहिम? भांजे अलीशाह ने ED के सामने किया खुलासाकांग्रेस की Task Force-2024 और पॉलिटिकल अफेयर्स कमिटी का ऐलान, जानिए सोनिया गांधी ने किन को दिया मौकापाकिस्तान ने भेजी है विषकन्या: राजस्थान इंटेलिजेंस ने सेना को तस्वीरें भेज कर किया अलर्टकुतुब मीनार केसः साकेत कोर्ट में दोनों पक्षों की दलीलें पूरी, 9 जून को अदालत सुनाएगी फैसलाPooja Singhal Case: झारखंड की 6 और बिहार के मुजफ्फरपुर में ED की एक साथ छापेमारी, अहम सुराग मिलने की उम्मीदश्रीलंका में फिर बढ़ी पेट्रोल-डीजल की कीमत, पेट्रोल 420 तो डीजल 400 रुपए प्रति लीटरकर्नाटक के पूर्व सीएम सिद्धारमैया का विवादित बयान, 'मैं हिंदू हूं, चाहूं तो बीफ खा सकता हूं..'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.