भूपेश, रमन, धर्मजीत बने 'महंत' के प्रस्तावक, विधायकों के थपथ ग्रहण के बाद चुना जाएगा अध्यक्ष

शुक्रवार को विधायकों के शपथ ग्रहण के बाद अध्यक्ष चुने जाने की औपचारिक घोषणा की जाएगी।

रायपुर. पूर्व केंद्रीय राज्य मंत्री और सक्ती विधायक डॉ. चरणदास महंत पांचवी विधानसभा का अध्यक्ष बनने जा रहे हैं। विधानसभा सचिवालय में गुरुवार सुबह महंत ने अपना नामांकन दाखिल किया। पांच सेट में हुए नामांकन में एक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल प्रस्तावक बने, वहीं गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने समर्थन किया।

एक सेट में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह प्रस्तावक बने और भाजपा के नारायण चंदेल समर्थक, तीसरे सेट में जकांछ विधायक दल के नेता धर्मजीत सिंह प्रस्तावक बने और उप नेता डॉ. रेणु जोगी समर्थक, चौथे और पांचवे सेट में संसदीय कार्यमंत्री रविंद्र चौबे और नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया प्रस्तावक बने और मंत्री प्रेमसाय सिंह और कवासी लखमा ने समर्थन किया। एक ही नामांकन के साथ डॉ. महंत का निर्विरोध अध्यक्ष चुना जाना तय हो गया है। शुक्रवार को विधायकों के शपथ ग्रहण के बाद अध्यक्ष चुने जाने की औपचारिक घोषणा की जाएगी।

रामपुकार सिंह ने प्रोटेम स्पीकर की शपथ
पांचवी विधानसभा के सबसे वरिष्ठ विधायक राम पुकार सिंह ने गुरुवार को प्रोटेम स्पीकर पद की शपथ ली। राजभवन के दरबार हॉल में आयोजित एक सादे समारोह में राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। इस दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष गौरीशंकर अग्रवाल मौजूद थे। रामपुकार सिंह शुक्रवार को सत्र की शुरुआत में नवनिर्वाचित विधायकों को पद की शपथ दिलाएंगे। नया अध्यक्ष चुन लिए जाने के बाद उनकी भूमिका खत्म हो जाएगी।

आज से विधानसभा का सत्र
छत्तीसगढ़ विधानसभा का शीतकालीन सत्र शुक्रवार 11 बजे से शुरू हो रहा है। तय कार्यक्रम के मुताबिक पहले दिन नवनिर्वाचित विधायकों को शपथ दिलाई जाएगी। उसके बाद विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव होगा। यह सत्र 11 जनवरी तक प्रस्तावित है, जिसमें 6 बैठकें होनी हैं।

Show More
चंदू निर्मलकर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned